Ukraine पर हमले से पहले Russia रच रहा "फर्जी आक्रमण की बड़ी साजिश": USA

अमेरिका (US) ने  रूस ( Russia) पर आरोप लगाया कि रूस, यूक्रेन (Ukraine) की सेना के एक फर्जी हमले (Fake Attack) की साजिश रच रहा है, ताकि इसके जवाब में मास्को इस पड़ोसी देश के खिलाफ सैन्य कार्रवाई कर सके.

Ukraine पर हमले से पहले Russia रच रहा

अमेरिका ने रूस पर लगाया बड़ा षड़यंत्र रचने का आरोप

वॉशिंगटन:

पूर्वी यूरोप में यूक्रेन (Ukraine) पर रूस (Russia) के हमले का खतरा बढ़ता ही जा रहा है. रूस ने यूक्रेन की सीमा पर एक लाख सैनिक तैनात कर रखे हैं, इसके बावजूद रूस यह कहता है कि उनका यूक्रेन पर हमले का कोई इरादा नहीं है. वहीं अमेरिका का कहन है कि रूस कभी भी यूक्रेन पर हमला कर सकता है. इस बीच अमेरिका (US) ने दावा किया है कि यूक्रेन पर हमले के लिए रूस बड़ा षड़यंत्र रच रहा है. अमेरिका का कहना है कि रूस  यह दिखाएगा कि पहले यूक्रेन की तरफ से रूस पर हमला हुआ औ फिर जवाबी कार्रवाई में उसने यूक्रेन पर हमला किया. बृहस्पतिवार को अमेरिका ने  क्रेमलिन पर आरोप लगाया कि रूस, यूक्रेन की सेना के एक फर्जी हमले (Fake Attack) की साजिश रच रहा है, ताकि इसके जवाब में मास्को इस पड़ोसी देश के खिलाफ सैन्य कार्रवाई कर सके.

पेंटागन के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि इस साजिश के तहत एक वीडियो जारी किया गया है, जिसमें चरणबद्ध तरीके से विस्फोट हो रहे हैं और इसमें शवों पर मातम मनाया जा रहा है. रूस पर फर्जी हमले के बारे में पहले भी खुफिया सूचना आती रही है. 

यह भी पढ़ें:- Explainer: NATO में Ukraine शामिल क्यों होना चाहता है? Russia क्यों कर रहा है विरोध?

इससे पहले खबर आई थी कि युद्ध की आशंका के बीच रूस (Russia) अपने हजारों सैनिकों, बख्तरबंद वाहनों और आर्टिलरी को यूक्रेन (Ukraine) की सीमा पर तैनात कर रहा है. यह विस्तार क्रीमिया और रूस के करीबी सहयोगी और पड़ोसी बेलारूस में भी देखा गया है. इसमें न केवल सैनिक बल्कि हथियार, बख्तरबंद वाहन और तोपखाने का भारी जखीरा शामिल है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इनमें से कई को दूर के ठिकानों से ट्रेन द्वारा लाया गया था. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यूक्रेन की सीमा पर रूस की बढ़ती सैन्य ताकत ने पश्चिम में चिंता बढ़ा दी है. अमेरिका ने हाल ही में यूक्रेन की मदद के लिए नाटो के झंडे तले जर्मनी से करीब 3000 सैनिक रोमानिया और पोलैंड भेजे हैं.  इससे पहले नाटो की तरफ से करीब 8,500 सैनिकों को तैनाती के लिए अलर्ट पर रखा था.  नाटो ने रीइंफोर्समेंट भेजने की घोषणा की थी और सेना को स्टैंडबाय पर रखा गया था.