"रिपोर्ट अभी तक तैयार नहीं": कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच को लेकर WHO ने दी सफाई

WHO की इस रिपोर्ट का सभी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. यह टीम पशुओं से इंसानों में कोरोना की महामारी पहुंचने के तमाम दावों पर भी रोशनी डालेगी.

विशेषज्ञों का मानना है कि कोविड-19 मूलतः चमगादड़ों के जरिये इंसानों तक पहुंचा था. (फाइल)

जिनेवा:

कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच करने चीन गए अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों के दल ने अपनी रिपोर्ट प्रकाशित करने की तैयारियों को टाल दिया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO ने कहा है कि अब यह रिपोर्ट अगले हफ्ते प्रकाशित हो सकती है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रवक्ता क्रिस्टियन लिंडमियर ने कहा कि रिपोर्ट अभी पूरी तरह तैयार नहीं है. उन्होंने कहा कि जहां तक तकनीकी विशेषज्ञों, मिशन के सदस्यों से उन्हें जानकारी मिली है कि रिपोर्ट अगले हफ्ते आने की संभावना है. बहुप्रतीक्षित रिपोर्ट से तमाम दावों और आरोपों के बारे में तथ्यपरक जानकारी सामने आ सकती है, जैसे वायरस कैसे पशुओं से इंसानों तक पहुंचा. वुहान में अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों का दल करीब एक माह तक रहा था.


इसी शहर से कोरोना पूरी दुनिया में फैलने का आशंका जताई जाती रही है. विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस यानी कोविड-19 मूलतः चमगादड़ों के जरिये इंसानों तक पहुंचा था. विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस यानी कोविड-19 मूलतः चमगादड़ों के जरिये इंसानों तक पहुंचा था. लेकिन इस बात को लेकर वे सुनिश्चित नहीं है कि यह कैसे और कब चमगादड़ों से इंसानों के बीच फैला. वुहान दौरा पूरा करने के बाद प्रेस कान्फ्रेंस में चीन और अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों ने कहा था कि अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकते.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि पूरी दुनिया इस रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार कर रही है, जो कोरोना की उत्पत्ति, चमगादड़ों से इंसानों में फैलने या लैब में कोरोना वायरस के विस्फोट को लेकर तमाम अवधारणाओं पर अपनी रोशनी डालेंगे. यह भी कहा जाता रहा है कि कोरोना वायरस हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान के खुले मांस बाजार से इंसानों तक पहुंचा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)