अफगानिस्तान और आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान पर कड़ी नजर रखेगा क्वॉड : विदेश मंत्रालय

श्रृंगला ने कहा कि भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका ने अफगानिस्तान में इस्लामाबाद की भूमिका पर चिंता व्यक्त की है और दोनों पक्षों ने अफगानिस्तान में आतंकवाद का मुकाबला करने के महत्व को रेखांकित किया.

वॉशिंगटन:

अफगानिस्तान (Afghanistan) में पाकिस्तान की भूमिका (Pakistan's Role) और आतंकवाद में उसकी संलिप्तता क्वाड शिखर सम्मेलन (Quad Meet) और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) की द्विपक्षीय चर्चा के मुद्दों में शामिल थे. द्विपक्षीय वार्ता के बाद एक प्रेस वार्ता के दौरान विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला ने आतंकवाद को पाकिस्तान के समर्थन से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि पाकिस्तान वास्तव में कई मायनों में उन समस्याओं के लिए उकसा रहा है जिनसे भारत पड़ोस में और उसके बाहर निपट रहा है.

उन्होंने कहा, "द्विपक्षीय चर्चाओं और क्वाड शिखर सम्मेलन दोनों में चर्चा के विषयों में अफगानिस्तान में पाकिस्तान की भूमिका और आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान की भूमिका को और अधिक सावधानी से देखना, उसकी जांच एवं निगरानी रखना भी शामिल था." उन्होंने कहा, "क्वाड या अन्य भागीदारों ने उस एक-एक महत्वपूर्ण कारक पर नज़र रखी, जिसे कभी-कभी अनदेखा कर दिया जाता है. जब आप पाकिस्तान को खुद को एक सूत्रधार के रूप में पेश करते हुए देखते हैं कि क्या यह वास्तव में हमारे पड़ोस में जिन कुछ समस्याओं से निपट रहा है, उनमें से कुछ के लिए उकसाने वाला रहा है या नहीं?"

क्वाड लीडर्स ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति-समृद्धि के लिए मिलकर काम करने का संकल्प लिया

श्रृंगला ने कहा कि भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका ने अफगानिस्तान में इस्लामाबाद की भूमिका पर चिंता व्यक्त की है और दोनों पक्षों ने अफगानिस्तान में आतंकवाद का मुकाबला करने के महत्व को रेखांकित किया. उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि इस संबंध में अफगानिस्तान में पाकिस्तान की भूमिका और एक निश्चित दृष्टिकोण के लिए उनके जारी रहने के संबंध में स्पष्ट चिंता थी, जो अंतरराष्ट्रीय समुदाय की उम्मीदों के अनुकूल नहीं था."

गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान श्रृंगला ने बताया था कि अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने 'सू मोटो' लेते हुए आतंकवाद में पाकिस्तान की भूमिका का उल्लेख किया था और पीएम नरेंद्र मोदी के साथ पहली बैठक के दौरान पाकिस्तान को आतंकवादी समूहों का समर्थन बंद करने के लिए कहा था.

'क्वॉड दुनिया की बेहतरी के लिए एक ताकत के रूप में काम करेगा' : PM Modi

यह पूछे जाने पर कि क्या पाकिस्तान के तालिबान को प्रोत्साहित करने का मुद्दा पीएम मोदी और अमेरिकी उपराष्ट्रपति के बीच चर्चा के दौरान आया था, तो श्रृंगला ने कहा कि हैरिस ने पाकिस्तान में आतंकी समूहों की मौजूदगी को स्वीकार किया है. 

इसबीच, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने पहली व्यक्तिगत क्वाड नेताओं की बैठक के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापानी प्रधान मंत्री योशीहिदे सुगा के साथ "व्यापक और उपयोगी" चर्चा की है.

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की मेजबानी में व्हाइट हाउस में जापान और ऑस्ट्रेलिया के नेताओं के साथ क्वाड लीडर्स शिखर सम्मेलन में भाग लिया.  इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि व्यापार के क्षेत्र में बहुत कुछ करना है. आने वाले दशक में भारत-अमेरिका संबंधों में व्यापार एक महत्वपूर्ण कारक होगा. उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी चीजों को आगे ले जाने वाली ताकत है, हमें व्यापक वैश्विक भलाई के वास्ते प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने के लिए अपनी प्रतिभाओं का इस्तेमाल करना होगा. 

मजबूत भारत-अमेरिका संबंधों के लिए बोए गए बीज : PM मोदी ने बाइडेन से कहा


श्रृंगला ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपनी पहली व्यक्तिगत बैठक के दौरान, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अक्टूबर से COVID-19 टीकों के निर्यात को फिर से शुरू करने के भारत सरकार के फैसले की सराहना की. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, "यह एक ऐसी बैठक थी जिसमें गर्मजोशी, सौहार्द की व्यापकता थी. यह उपयोगी और सामयिक दोनों है. व्यापक स्तर पर दोनों नेताओं ने स्वीकार किया कि दोनों देशों के बीच व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी लोकतांत्रिक मूल्यों और सामान्य रणनीतिक हितों के लिए एक साझा प्रतिबद्धता में मजबूती से टिकी हुई है."