जो बाइडन ने महारानी एलिजाबेथ को दी श्रद्धांजलि, किंग चार्ल्स ने विश्व के नेताओं का किया अभिवादन

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) ने महारानी को अंतिम श्रद्धांजलि दी. अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए लंदन पहुंचे अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और उनकी पत्नी जिल बाइडन(jill biden) ने महरानी को श्रद्धांजलि दी.

जो बाइडन ने महारानी एलिजाबेथ को दी श्रद्धांजलि, किंग चार्ल्स ने विश्व के नेताओं का किया अभिवादन

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाडेन ने महारानी एलिजाबेथ को अंतिम श्रद्धांजलि दी.

लंदन:

ब्रिटेन (Britain) की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (BritainQueen Elizabeth II) के अंतिम संस्कार से पहले किंग चार्ल्स III (King Charles III) ने रविवार को बकिंघम पैलेस (Buckingham Palace) में विश्व के नेताओं का स्वागत किया. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने महारानी को अंतिम श्रद्धांजलि दी. अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए लंदन पहुंचे अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और उनकी पत्नी जिल बाइडन ने महरानी को श्रद्धांजलि दी.अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने उन्हें उनकी मां की याद दिला दीं.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बकिंघम पैलेस जाने से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने यह टिप्पणी की. वहीं ब्रिटेन के महाराजा चार्ल्स तृतीय और क्वीन कॉन्सर्ट कैमिला ने बकिंघम पैलेस में विश्व के नेताओं के लिए एक स्वागत कार्यक्रम आयोजित किया, जहां राष्ट्रपति जो बाइडन और उनकी पत्नी जिल बाइडन  रविवार शाम को विश्व के अन्य नेताओं और गणमान्य व्यक्तियों के साथ शामिल हुए.

बाइडेन के कहा कि यह लोगों के साथ सम्मान के साथ व्यवहार करने का तरीका है.ठीक वैसा ही उनकी संवाद करने का तरीका था. इससे पहले महारानी को श्रद्धांजलि देने वक्त, बाइडन ने दिवंगत महारानी को सभ्य और सम्माननीय बताया. महरानी के लिए शोक की आधिकारिक पुस्तक पर हस्ताक्षर करने के बाद लैंकेस्टर हाउस में बोलते हुए बाइडन ने कहा कि ब्रिटेन के सभी लोगों के प्रति उनका देश सहानुभूति जताता है. उन्होंने कहा, आप भाग्यशाली थे कि आप लोगों को 70 सालों तक उनका साथ मिला, हम सबको साथ मिला. उन्होंने कहा, वह दुनिया में सभी के लिए महत्वपूर्ण थीं.

आपको जानकारी हो कि वेस्टमिंस्टर हॉल में दिवंगत महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का पार्थिव शरीर रखा है. महारानी की सोमवार को राजकीय अंत्येष्टि की जाएगी.अंतिम संस्कार की रस्म वेस्टमिंस्टर एबे में की जाएगी. अंतिम संस्कार की रस्में स्थानीय समयानुसार सुबह पूर्वाह्न 11 बजे शुरू होंगी और एक घंटे बाद दो मिनट का मौन रखे जाने के साथ संपन्न हो जाएंगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें :