अफगानिस्तान को लेकर घनिष्ठ समन्वय पर भारत और अमेरिका सहमत, ब्लिंकन ने की जयशंकर से बात

अमेरिका के अफगानिस्तान छोड़ने के बाद तालिबान ने देश पर कब्जा कर लिया है और इसे लेकर अमेरिका (America) काफी चिंतित है. इसे लेकर अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकन ने आज भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर से बातचीत की है.

अफगानिस्तान को लेकर घनिष्ठ समन्वय पर भारत और अमेरिका सहमत, ब्लिंकन ने की जयशंकर से बात

दोनों नेताओं ने अफगानिस्तान की स्थिति पर चर्चा की.

वाशिंगटन:

अफगानिस्तान ( Afghanistan)पर तालिबान (Taliban) के कब्जे के बाद वैश्विक परिदृश्य लगातार बदल रहा है. अमेरिका के अफगानिस्तान छोड़ने के बाद तालिबान ने देश पर कब्जा कर लिया है और इसे लेकर अमेरिका (America) काफी चिंतित है. इसे लेकर अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी जे ब्लिंकन (Antony J Blinken) ने आज भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S. Jaishankar) से बातचीत की है. इस दौरान दोनों नेताओं ने अफगानिस्तान की स्थिति पर चर्चा की और एक दूसरे के साथ घनिष्ठ समन्वय बनाए रखने पर अपनी सहमति व्यक्त की है. 

भारतीय विदेश मंत्री से बातचीत के बाद ब्लिंकन ने एक ट्वीट भी किया है, जिसमें उन्होंने लिखा, 'डाॅ. एस जयशंकर के साथ उपयोगी बातचीत, अफगानिस्तान को लेकर हम घनिष्ठ समन्वय को जारी रखने पर सहमत हुए हैं.'

उधर, नियमित प्रेस ब्रीफिंग में कहा गया कि पिछले 24 घंटे में अमेरिकी सैन्य उड़ानों के जरिये अफगानिस्तान से करीब दो हजार लोगों को निकाला गया है. साथ ही बताया कि अफगानिस्तान छोड़ने की इच्छा रखने वाले अधिक से अधिक लोगों को निकालने जा रहे हैं, जो कि तालिबान के प्रतिशोध की चपेट में हैं. 


अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी पर बरसे, बिना लड़े भाग जाने का आरोप

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उप सचिव वेंडी शेरमैन ने कहा कि हमने ऐसी रिपोर्ट देखी हैं कि जिसमें तालिबान उन अफगानों को रोक रहे हैं, जो देश छोड़ने की इच्छा रखते हैं. दोहा में हमारी टीम और काबुल में जमीन पर हमारे सैन्य साझेदार सीधे तौर पर तालिबान के साथ बातचीत कर रहे हैं. हम सभी अमेरिकी नागरिकों, सभी तीसरे देश के नागरिकों और अभी अफगानों को अनुमति देने की उम्मीद करते हैं जो कि सुरक्षित रूप से ऐसा करने की इच्छा रखते हैं.