विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 24, 2011

लीबिया संकट : गद्दाफी का जंग जारी रखने का संकल्प

Read Time: 4 mins
त्रिपोली: लीबिया के शासक कर्नल मुअम्मार गद्दाफी ने विद्रोहियों द्वारा राजधानी त्रिपोली स्थित अपने परिसर पर कब्जा कर लिए जाने की रपटों के बीच एक ऑडियो संदेश में कहा है कि उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) और विद्रोहियों से लड़ते हुए वह या तो शहीद होंगे या विजयी। उधर, विद्रोही अपनी जीत की खुशियां मना रहे हैं। वेबसाइट 'बीबीसी डॉट को डॉट यूके' के अनुसार गद्दाफी समर्थक अल-उरूबाह टीवी के अनुसार गद्दाफी ने एक ऑडियो संदेश जारी करके कहा है कि बाब अल-अजीजिया से हटना एक चालकी भरा कदम था। यह परिसर गद्दाफी के कब्जे वाले गिने-चुने स्थानों में से था। टीवी फुटेज में भी विद्रोहियों को बाब अल-अजीजिया पर कब्जे के बाद गद्दाफी के बुत का सिर तोड़ते और उसे ठोकर मारते दिखाया गया है। उन्होंने गद्दाफी के आवास से मिली वस्तुएं भी हथिया लीं। त्रिपोली के अबु सलीम और अल-हाब्दा जिलों तथा होटल रिक्सॉस में अब भी विरोध हो रहा है। इस बीच त्रिपोली रेडियो स्टेशन से बुधवार तड़के प्रसारित गद्दाफी के ऑडियो संदेश में लीबियाई शासक ने नाटो सुरक्षा बलों और विद्रोहियों के खिलाफ लड़ते हुए विजयी होने या शहीद होने का संकल्प लिया है। गद्दाफी ने कहा कि उनके परिसर को नाटो ने 64 हवाई हमलों में नष्ट किया। बाद में अल-राय टीवी चैनल ने खबर दी कि गद्दाफी ने कहा है, "मैं अपनी मर्जी से त्रिपोली से हटा हूं। ..मुझे नहीं लगता त्रिपोली पर कोई संकट है।" चैनल ने सरकार के प्रवक्ता मूसा इब्राहिम का साक्षात्कार भी प्रसारित किया। मूसा ने कहा, "लीबिया धधकते हुए ज्वालामुखी में बदल जाएगा और घुसपैठिए अपने कदमों तले आग महसूस करेंगे।" उन्होंने कहा कि 6000 स्वयंसेवी कर्नल गद्दाफी के लिए लड़ने के वास्ते पहुंच चुके हैं लेकिन उनके दावे की पुष्टि नहीं हो सकी। इससे पहले मंगलवार को विद्रोहियों ने बाब अल-अजीजिया पर कब्जा कर लिया था। जबकि गद्दाफी और उनके परिजनों का अब तक कुछ अता-पता नहीं चल सका है। उधर, लीबियाई विद्रोही गुट राष्ट्रीय अस्थायी परिषद ने दो दिन के भीतर अपना मुख्यालय बेंघाजी से राजधानी त्रिपोली ले जाने का फैसला किया है। समाचार चैनल अल-जजीरा ने विद्रोहियों के प्रवक्ता कर्नल अहमद बानी के हवाले से मुख्यालय बदलने की जानकारी दी है। इस बीच संयुक्त राष्ट्र ने लीबिया के हालात पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार को आपात बैठक बुलाई है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रमुखों की बैठक में लीबिया में संघर्ष थमने के बाद की स्थिति में उठाए जाने वाले कदमों पर चर्चा होगी। संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के प्रवक्ता फरहान हक ने बताया, "महासचिव ने अरब लीग,अफ्रीकी संघ, यूरोपीय संघ और इस्लामिक सम्मेलन संगठन के प्रमुखों को 26 अगस्त को लीबिया के मसले पर विचार-विमर्श करने के लिए न्यूयार्क आमंत्रित किया है।" मून ने लीबियाई राष्ट्रीय अस्थायी परिषद के अध्यक्ष मुस्तफा अब्देल जलील से भी फोन पर बातचीत की है। जलील ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि  परिषद राष्ट्रीय एकता, सुलह और समावेशीकरण और राजनयिक परिसरों के संरक्षण जैसे मसलों पर गौर करेगी। उधर, इटली के प्रधानमंत्री सिल्वियो बर्लुस्कोनी लीबिया के विद्रोही नेता, महमूद जिब्रील से मिलान में गुरुवार को मुलाकात करेंगे। यह जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय से एक बयान में दी गई है।

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;