प्यूटरे रिको में तूफान मारिया के कारण मृतकों की संख्या 34 हुई, बिजली संकट बरकरार

प्यूटरे रिको में तूफान मारिया के कारण केवल लगभग छह प्रतिशत घरों में ही बिजली है.

प्यूटरे रिको में तूफान मारिया के कारण मृतकों की संख्या 34 हुई, बिजली संकट बरकरार

तूफान मारिया के कारण प्यूटरे रिको को भारी तबाही हुई है

सान जुआन:

प्यूटरे रिको में तूफान मारिया के कारण मृतकों की संख्या बढ़कर 34 हो गई है. प्यूटरे रिको के गवर्नर रिकाडरे रॉसेलो ने बताया कि तूफान के कारण 19 लोगों की जान गई, जबकि 15 अन्य इससे जुड़ी घटनाओं में मारे गए. उन्होंने आगे कहा कि तूफान के कारण करीब 90 अरब डॉलर की सामग्री के नुकसान का अनुमान है. गवर्नर ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्यूटरे रिको के दौरे पर कहा कि उन्होंने ट्रंप को सुधार की प्रक्रिया के बारे में बताया और साथ ही द्वीप पर बिजली को पूरी तरह से बहाल करने की आवश्यकता पर जोर दिया.

पढ़ें: फ्लोरिडा में अब तक 50 लोगों की जिंदगियां लील चुका है इरमा

नवीनतम आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, केवल लगभग छह प्रतिशत घरों में ही बिजली है. ट्रंप ने 20 सितंबर को आए तूफान मारिया के बाद प्यूटरे रिको के अपने दौरे पर कहा कि हमें लोगों पर गर्व होना चाहिए, सभी एकसाथ मिलकर काम कर रहे हैं. कोई 12,000 असैन्य संघीय कार्यकर्ताओं और अमेरिकी सैन्य कर्मियों की एक बहुत छोटी टुकड़ी प्यूटरे रिको में सहायता प्रदान कर रही है. हालांकि, कई लोगों ने इस घटना के बाद वाशिंगटन की धीमी प्रतिक्रिया की आलोचना की.

पढ़ें: जापान में ताकतवर तूफान 'तलीम' देगा दस्तक, पूर्वोत्तर की ओर बढ़ रहा है...

आलोचकों में से एक थे सैन जुआन के महापौर कारमेन यूलिन क्रूज, जिनकी लगातार शिकायतों के कारण ट्रंप ने उन्हें ट्वीटर पर उनके खराब नेतृत्व के लिए उनपर हमला किया.

उन्होंने लिखा, "मुझे यह बताते हुए बहुत दुख हो रहा है कि प्यूटरे रिको आपने हमारे बजट को सही इस्तेमाल नहीं किया..क्योंकि हमने प्यूटरे रिको पर ढेर सारा धन खर्च किया है. लेकिन ठीक है. हमने कई जिंदगियां बचाई है, हर मौत भयावह होती है."

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com