22 कैरेट, 23 कैरेट और 24 कैरेट सोने में क्या होता है फर्क, और हम क्यों 24 कैरेट सोने से नहीं बनवा सकते जूलरी, जानिए

Gold Quality : सोने की खरीदारी करते वक्त हमें ये तो पता होता है कि हमारा लिया हुआ गोल्ड 22 कैरेट का है या फिर 24 कैरेट का लेकिन हम से ये चंद लोगों को ही पता होगा कि 22 कैरेट 23 कैरेट या 24 कैरेट के बीच महत्वपूर्ण अंतर क्या है. यहां जानिए.

22 कैरेट, 23 कैरेट और 24 कैरेट सोने में क्या होता है फर्क, और हम क्यों 24 कैरेट सोने से नहीं बनवा सकते जूलरी, जानिए

Gold Price : 22 और 23 कैरेट सोने से ही बनते हैं आभूषण. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

हममें से कई लोग गोल्ड की खरीदारी या तो गहने-आभूषणों के रूप में या फिर निवेश के उद्देश्य से कर चुके हैं. अगर आप भी गोल्ड खरीदने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आपको कुछ बातों का पता होना बहुत जरूरी है. आपको ये पता होना चाहिए कि गोल्ड कैरेट क्या होते हैं और कितने तरह के गोल्ड कैरेट होते हैं. सोने की खरीदारी करते वक्त हमें ये तो पता होता है कि हमारा लिया हुआ गोल्ड 22 कैरेट का है या फिर 24 कैरेट का लेकिन हम से ये चंद लोगों को ही पता होगा कि 22 कैरेट, 23 कैरेट या 24 कैरेट के बीच महत्वपूर्ण अंतर क्या है. इन्वेस्टमेंट के लिए अगर गोल्ड खरीदना है तो कौन से कैरेट का गोल्ड खरीदना चाहिए. अगर आप भी इन्हीं सवालों से जूझ रहे हैं तो यहां आपके सभी सवालों का जवाब है.

गोल्ड कैरेट से होती है शुद्धता की पहचान

सोना खरीदते वक्त सबसे पहले आपको 22 और 24 कैरेट सोने के बीच का फर्क मालूम होना चाहिए. असल में कैरेट से ही गोल्ड की प्योरिटी की पहचान होती है. जितना अधिक कैरेट का गोल्ड होगा उतना ही प्योर होगा. गोल्ड को 0 से 24 के पैमाने पर मापा जाता है. इसमें 24 कैरेट का गोल्ड सबसे ज्यादा शुद्ध माना जाता है.

ये भी पढ़ें : Gold Price After Diwali : दीवाली पर सोने में आई जबरदस्त उछाल, वायदा चांदी 1759 रुपये महंगी, देखें ताजा रेट

24 कैरेट और 22 कैरेट गोल्ड के बीच अंतर

  • ​24 कैरेट सोना 99.9 परसेंट प्योरिटी को दर्शाता है इसीलिए इसे सबसे शुद्ध सोना कहा जाता है. वहीं 22 कैरेट गोल्ड 91 परसेंट शुद्ध होता है. इसमें 9 परसेंट भाग अन्य धातुओं के होता है. जैसे जिंक और तांबा भी 22 कैरेट गोल्ड में मिलाया जाता है.
  •  24 कैरेट गोल्ड किसी भी तरह की ज्वेलरी बनाने के लिए बहुत नरम होते हैं, इसलिए आभूषणों के लिए तो नहीं पर इन्वेस्टमेंट के उद्देश्य से 24 कैरेट गोल्ड लिया जा सकता है. वहीं अन्य धातुओं के कारण 22 कैरेट गोल्ड कठोर और ज्यादा टिकाऊ होता है.
  • 24 कैरेट गोल्ड चूंकि ज्यादा शुद्ध और प्योर है इसलिए स्वाभाविक रूप से थोड़ा ज्यादा महंगा है, वहीं 22 कैरेट गोल्ड 24 कैरेट की तुलना में थोड़ा सस्ता है.
  •  24 कैरेट गोल्ड ज्वेलरी की तरह तरह की डिजाइन बनवाने के लिए उपयुक्त नहीं है इसलिए इन्वेस्टमेंट के उद्देश्य से 24 कैरेट गोल्ड खरीदा जा सकता है वहीं 22 कैरेट के आभूषण बनवाए जा सकते हैं. 22 कैरेट के गोल्ड को 916 गोल्ड के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इसमें गोल्ड का 91.67 परसेंट शामिल होता है.

23 कैरेट गोल्ड

अगर 23 कैरेट गोल्ड की बात करें तो यह भी उच्च शुद्धता वाला असली सोना होता है 23 कैरेट गोल्ड शुद्ध सोना है जिसमें 95.8 परसेंट सोना और 4.2 परसेंट बाकी के धातु मिले हुए होते हैं. 23 कैरेट गोल्ड 958 गोल्ड के नाम से जाना जाता है. 23 कैरेट गोल्ड थाईलैंड में काफी ज्यादा पॉपुलर है लेकिन ज्यादातर देशों में अभी भी 22 या 24 कैरेट गोल्ड ही लिया जाता है. 23 कैरेट गोल्ड उन लोगों के लिए एक अच्छा ऑप्शन है जिन्हें हाई क्वालिटी गोल्ड चाहिए. इसके भी आभूषण बनते हैं और प्रचलित होते हैं. हालांकि निवेश के उद्देश्य से ज्यादातर लोग 24 कैरेट और आभूषण बनवाने के लिए 22 कैरेट गोल्ड ही खरीदते हैं.

ये भी पढ़ें : सोने के पुराने गहने नहीं होंगे बेकार, जानिए नई गोल्ड ज्वेलरी की हॉलमार्किंग में कितना वक्त और खर्च आएगा

इसलिए नहीं बन सकती 24 कैरेट गोल्ड की ज्वेलरी


24 कैरेट का गोल्ड सबसे शुद्ध सोना माना जाता है यही वजह है कि 24 कैरेट गोल्ड के आभूषण नहीं बनाए जा सकते. 24 कैरेट गोल्ड की डेंसिटी काफी कम होती है और ये बहुत ज्यादा मुलायम होते हैं. ऐसे में अगर इनकी फैशनेबल ज्वेलरी बनाने की कोशिश की जाए तो इसमें अन्य धातुओं को मिलाना जरूरी होगा. 24 कैरेट का सोना इतना नरम होता है कि इसे आसानी से तोड़ा जा सकता है इसलिए ज्यादातर ज्वेलर्स 22 कैरेट सोने का इस्तेमाल करके ही खूबसूरत आभूषण बनाते हैं. अगर 24 कैरेट सोने के आभूषण बनाए जाएं तो उसमें कॉपर, प्लैटिनम या सिल्वर जैसी धातु मिलानी पड़ेगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : क्या है सोने की हॉलमार्किंग और क्या हैं इसके फायदे?