विज्ञापन

ISRO Chief

'ISRO Chief' - 49 News Result(s)
  • "प्रेरित करती है उनकी यात्रा..." : ISRO प्रमुख ने की भारत के एकमात्र अंतरिक्ष यात्री की तारीफ

    "प्रेरित करती है उनकी यात्रा..." : ISRO प्रमुख ने की भारत के एकमात्र अंतरिक्ष यात्री की तारीफ

    3 अप्रैल, 1984 को इतिहास रचा गया था, जब स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा ने सोवियत रूस के एक रॉकेट पर अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी और भारत के पहले गगनयात्री बने. वो सोवियत अंतरिक्ष स्टेशन पर 7 दिन और 21 घंटे तक रहे.

  • आदित्य एल1 के प्रक्षेपण के दिन कैंसर से पीड़ित होने के बारे में पता चला : इसरो प्रमुख सोमनाथ

    आदित्य एल1 के प्रक्षेपण के दिन कैंसर से पीड़ित होने के बारे में पता चला : इसरो प्रमुख सोमनाथ

    एस सोमनाथ ने कहा कि उन्हें चंद्रयान-3 मिशन के प्रक्षेपण के दौरान कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होने का एहसास हुआ था, लेकिन इसके बारे में बहुत स्पष्ट नहीं था.

  • इसरो अध्यक्ष को आदित्य एल1 मिशन लॉन्च के दिन चला कैंसर का पता, सर्जरी के 4 दिन बाद ही शुरू कर दिया था काम

    इसरो अध्यक्ष को आदित्य एल1 मिशन लॉन्च के दिन चला कैंसर का पता, सर्जरी के 4 दिन बाद ही शुरू कर दिया था काम

    इसरो अध्यक्ष सोमनाथ ने कहा, "लॉन्च के बाद, मैंने चेन्नई में और टेस्ट कराए, जिससे मेरी बड़ी आंत में कैंसर की ग्रोथ का पता चला. इस डायग्नोस के बाद मेरी सर्जरी और कीमोथेरेपी की गई."

  • 400 टन वज़न, 4 मॉड्यूल : बेहद खास होगा ISRO का पहला 'स्‍पेस स्टेशन', जानें खासियतें

    400 टन वज़न, 4 मॉड्यूल : बेहद खास होगा ISRO का पहला 'स्‍पेस स्टेशन', जानें खासियतें

    भारत को उम्मीद है कि वह खगोल विज्ञान प्रयोगों सहित अंतरिक्ष में माइक्रोग्रैविटी इस्‍तेमाल करेगा और चंद्रमा की सतह पर जीवन की संभावना का पता लगाने के लिए इस स्‍पेस स्‍टेशन का उपयोग करेगा.

  • नासा के साथ संयुक्त उपग्रह मिशन जासूसी उद्देश्यों के लिए नहीं : ISRO

    नासा के साथ संयुक्त उपग्रह मिशन जासूसी उद्देश्यों के लिए नहीं : ISRO

    सोमनाथ, जीएसएलवी-एफ14 इनसैट-3डीएस उपग्रह के सफल प्रक्षेपण के बाद यहां संवाददाताओं से बात कर रहे थे. एक सवाल के जवाब में सोमनाथ ने स्पष्ट किया, ''एनआईएसएआर कोई जासूसी उपग्रह नहीं है.''

  • भारत खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले पांच साल में 50 उपग्रह भेजेगा: इसरो प्रमुख

    भारत खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले पांच साल में 50 उपग्रह भेजेगा: इसरो प्रमुख

    भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), बंबई के वार्षिक विज्ञान और प्रौद्योगिकी समारोह ‘टेकफेस्ट’ को संबोधित करते हुए सोमनाथ ने कहा कि बदलावों का पता लगाने, आंकड़ों के विश्लेषण के लिए एआई से संबंधित और डेटा आधारित प्रयासों के मामले में उपग्रहों की क्षमता बढ़ाना अहम है.

  • खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले 5 साल में 50 उपग्रह भेज रहा है भारत : ISRO प्रमुख

    खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले 5 साल में 50 उपग्रह भेज रहा है भारत : ISRO प्रमुख

    सोमनाथ ने कहा कि अगर भारत इस स्तर पर उपग्रहों का प्रक्षेपण कर सकता है तो देश के सामने आने वाले खतरों को बेहतर तरीके से कम किया जा सकता है. 

  • चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रयान-3 मिशन की सफलता से उत्साहित इसरो के प्रमुख एस सोमनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई है और अंतरिक्ष एजेंसी अब उसकी सतह से कुछ चट्टानी पत्थर लाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है. सोमनाथ ने यहां राष्ट्रपति भवन सांस्कृतिक केंद्र (आरबीसीसी) में राष्ट्रपति भवन विमर्श श्रृंखला पर अपने व्याख्यान में चंद्रमा से चट्टानी पत्थर लाने के मिशन का विवरण साझा किया.

  • ‘गगनयान’ मिशन के लिए अंतरिक्ष यात्री तैयार, 2025 तक भेजने का होगा प्रयास : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    ‘गगनयान’ मिशन के लिए अंतरिक्ष यात्री तैयार, 2025 तक भेजने का होगा प्रयास : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    इसरो प्रमुख ने कहा कि इसरो एक अंतरिक्ष स्टेशन बनाने पर भी विचार कर रहा है, जो वैज्ञानिक और तकनीकी प्रगति तथा उद्योगों के लिए विभिन्न क्षेत्रों में काम करने के लिए जरूरी है. 

  • आदित्य एल1 अंतरिक्ष यान अपने अंतिम चरण के निकट : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    आदित्य एल1 अंतरिक्ष यान अपने अंतिम चरण के निकट : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    इसरो के अनुसार, ‘आदित्य-एल1’ सूर्य का अध्ययन करने वाली पहली अंतरिक्ष-आधारित वेधशाला है. अंतरिक्ष यान 125 दिन में पृथ्वी से लगभग 15 लाख किलोमीटर की यात्रा करने के बाद लैग्रेंजियन बिंदु ‘एल1’ के आसपास एक प्रभामंडल कक्षा में स्थापित होगा.

  • चांद, सूर्य जीतने के बाद मंगल और शुक्र फतह करने की तैयारी में भारत, इस दिन की तैयारी में है इसरो

    चांद, सूर्य जीतने के बाद मंगल और शुक्र फतह करने की तैयारी में भारत, इस दिन की तैयारी में है इसरो

    पिछले कुछ वर्षों में हमने मंगल ग्रह पर काफी अध्ययन किया है. मंगल पर सफल लैंडिंग के लिए हमें दो तथ्यों पर गहन ध्यान देना होगा. चंद्रयान 2 की असफल लैंडिंग. उस समय सही सेंसर नहीं होने के कारण हम असफल हुए थे, मगर हमें अब इसका अनुभव हो चुका है. ऐसे में हमारे लिए ये आसान रहेगा.

  • "आपको बाहर फेंका जा सकता है": आत्मकथा पर विवाद से पहले ISRO चीफ ने NDTV से ऐसा क्यों कहा था?

    "आपको बाहर फेंका जा सकता है": आत्मकथा पर विवाद से पहले ISRO चीफ ने NDTV से ऐसा क्यों कहा था?

    इसरो चीफ एस सोमनाथ ISRO Chief S Somnath) ने कहा कि उनसे कहा जाता था कि वह इसरो चीफ भी भूमिका के लिए उपयुक्त व्यक्ति नहीं हैं. लेकिन उन्होंने हमेशा इन मूर्खतापूर्ण चीजों से ऊपर उठने के बारे में सोचा.

  • इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने अपनी आत्मकथा प्रकाशित नहीं करने का निर्णय लिया

    इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने अपनी आत्मकथा प्रकाशित नहीं करने का निर्णय लिया

    इसरो प्रमुख ने कहा, ‘‘एक महत्वपूर्ण पद के लिए अधिक व्यक्ति पात्र हो सकते हैं. मैंने बस उस विशेष बिंदु को सामने लाने की कोशिश की. मैंने इस संबंध में किसी व्यक्ति विशेष को निशाना नहीं बनाया.’’

  • "आपको बाहर निकाला जा सकता है": आत्‍मकथा पर छिड़े विवाद से पहले ISRO प्रमुख ने NDTV से क्या कहा था

    "आपको बाहर निकाला जा सकता है": आत्‍मकथा पर छिड़े विवाद से पहले ISRO प्रमुख ने NDTV से क्या कहा था

    सोमनाथ ने स्वीकार किया कि उन्होंने अपनी पुस्तक में चंद्रयान-2 मिशन की विफलता की घोषणा के संबंध में स्पष्टता की कमी का उल्लेख किया है. हालांकि उन्होंने दोहराया कि इसका उद्देश्य किसी की आलोचना नहीं है. 

  • आत्मकथा में किसी को निशाना नहीं बनाया : ISRO प्रमुख एस सोमनाथ

    आत्मकथा में किसी को निशाना नहीं बनाया : ISRO प्रमुख एस सोमनाथ

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के चेयरमैन एस सोमनाथ (S Somnath) ने आज कहा कि किसी संगठन में शीर्ष पद तक पहुंचने के सफर के दौरान हर व्यक्ति को किसी न किसी तरह की चुनौतियों से गुजरना पड़ता है और उन्होंने भी जीवन में कठिनाइयों का सामना किया है.

'ISRO Chief' - 23 Video Result(s)
'ISRO Chief' - 1 Photos Result(s)
'ISRO Chief' - 49 News Result(s)
  • "प्रेरित करती है उनकी यात्रा..." : ISRO प्रमुख ने की भारत के एकमात्र अंतरिक्ष यात्री की तारीफ

    "प्रेरित करती है उनकी यात्रा..." : ISRO प्रमुख ने की भारत के एकमात्र अंतरिक्ष यात्री की तारीफ

    3 अप्रैल, 1984 को इतिहास रचा गया था, जब स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा ने सोवियत रूस के एक रॉकेट पर अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरी और भारत के पहले गगनयात्री बने. वो सोवियत अंतरिक्ष स्टेशन पर 7 दिन और 21 घंटे तक रहे.

  • आदित्य एल1 के प्रक्षेपण के दिन कैंसर से पीड़ित होने के बारे में पता चला : इसरो प्रमुख सोमनाथ

    आदित्य एल1 के प्रक्षेपण के दिन कैंसर से पीड़ित होने के बारे में पता चला : इसरो प्रमुख सोमनाथ

    एस सोमनाथ ने कहा कि उन्हें चंद्रयान-3 मिशन के प्रक्षेपण के दौरान कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होने का एहसास हुआ था, लेकिन इसके बारे में बहुत स्पष्ट नहीं था.

  • इसरो अध्यक्ष को आदित्य एल1 मिशन लॉन्च के दिन चला कैंसर का पता, सर्जरी के 4 दिन बाद ही शुरू कर दिया था काम

    इसरो अध्यक्ष को आदित्य एल1 मिशन लॉन्च के दिन चला कैंसर का पता, सर्जरी के 4 दिन बाद ही शुरू कर दिया था काम

    इसरो अध्यक्ष सोमनाथ ने कहा, "लॉन्च के बाद, मैंने चेन्नई में और टेस्ट कराए, जिससे मेरी बड़ी आंत में कैंसर की ग्रोथ का पता चला. इस डायग्नोस के बाद मेरी सर्जरी और कीमोथेरेपी की गई."

  • 400 टन वज़न, 4 मॉड्यूल : बेहद खास होगा ISRO का पहला 'स्‍पेस स्टेशन', जानें खासियतें

    400 टन वज़न, 4 मॉड्यूल : बेहद खास होगा ISRO का पहला 'स्‍पेस स्टेशन', जानें खासियतें

    भारत को उम्मीद है कि वह खगोल विज्ञान प्रयोगों सहित अंतरिक्ष में माइक्रोग्रैविटी इस्‍तेमाल करेगा और चंद्रमा की सतह पर जीवन की संभावना का पता लगाने के लिए इस स्‍पेस स्‍टेशन का उपयोग करेगा.

  • नासा के साथ संयुक्त उपग्रह मिशन जासूसी उद्देश्यों के लिए नहीं : ISRO

    नासा के साथ संयुक्त उपग्रह मिशन जासूसी उद्देश्यों के लिए नहीं : ISRO

    सोमनाथ, जीएसएलवी-एफ14 इनसैट-3डीएस उपग्रह के सफल प्रक्षेपण के बाद यहां संवाददाताओं से बात कर रहे थे. एक सवाल के जवाब में सोमनाथ ने स्पष्ट किया, ''एनआईएसएआर कोई जासूसी उपग्रह नहीं है.''

  • भारत खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले पांच साल में 50 उपग्रह भेजेगा: इसरो प्रमुख

    भारत खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले पांच साल में 50 उपग्रह भेजेगा: इसरो प्रमुख

    भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), बंबई के वार्षिक विज्ञान और प्रौद्योगिकी समारोह ‘टेकफेस्ट’ को संबोधित करते हुए सोमनाथ ने कहा कि बदलावों का पता लगाने, आंकड़ों के विश्लेषण के लिए एआई से संबंधित और डेटा आधारित प्रयासों के मामले में उपग्रहों की क्षमता बढ़ाना अहम है.

  • खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले 5 साल में 50 उपग्रह भेज रहा है भारत : ISRO प्रमुख

    खुफिया जानकारी एकत्र करने के लिए अगले 5 साल में 50 उपग्रह भेज रहा है भारत : ISRO प्रमुख

    सोमनाथ ने कहा कि अगर भारत इस स्तर पर उपग्रहों का प्रक्षेपण कर सकता है तो देश के सामने आने वाले खतरों को बेहतर तरीके से कम किया जा सकता है. 

  • चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई, अब उसकी सतह से चट्टानी पत्थर लाने का लक्ष्य: इसरो प्रमुख

    चंद्रयान-3 मिशन की सफलता से उत्साहित इसरो के प्रमुख एस सोमनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि चंद्रमा में दिलचस्पी अभी खत्म नहीं हुई है और अंतरिक्ष एजेंसी अब उसकी सतह से कुछ चट्टानी पत्थर लाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है. सोमनाथ ने यहां राष्ट्रपति भवन सांस्कृतिक केंद्र (आरबीसीसी) में राष्ट्रपति भवन विमर्श श्रृंखला पर अपने व्याख्यान में चंद्रमा से चट्टानी पत्थर लाने के मिशन का विवरण साझा किया.

  • ‘गगनयान’ मिशन के लिए अंतरिक्ष यात्री तैयार, 2025 तक भेजने का होगा प्रयास : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    ‘गगनयान’ मिशन के लिए अंतरिक्ष यात्री तैयार, 2025 तक भेजने का होगा प्रयास : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    इसरो प्रमुख ने कहा कि इसरो एक अंतरिक्ष स्टेशन बनाने पर भी विचार कर रहा है, जो वैज्ञानिक और तकनीकी प्रगति तथा उद्योगों के लिए विभिन्न क्षेत्रों में काम करने के लिए जरूरी है. 

  • आदित्य एल1 अंतरिक्ष यान अपने अंतिम चरण के निकट : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    आदित्य एल1 अंतरिक्ष यान अपने अंतिम चरण के निकट : ISRO प्रमुख सोमनाथ

    इसरो के अनुसार, ‘आदित्य-एल1’ सूर्य का अध्ययन करने वाली पहली अंतरिक्ष-आधारित वेधशाला है. अंतरिक्ष यान 125 दिन में पृथ्वी से लगभग 15 लाख किलोमीटर की यात्रा करने के बाद लैग्रेंजियन बिंदु ‘एल1’ के आसपास एक प्रभामंडल कक्षा में स्थापित होगा.

  • चांद, सूर्य जीतने के बाद मंगल और शुक्र फतह करने की तैयारी में भारत, इस दिन की तैयारी में है इसरो

    चांद, सूर्य जीतने के बाद मंगल और शुक्र फतह करने की तैयारी में भारत, इस दिन की तैयारी में है इसरो

    पिछले कुछ वर्षों में हमने मंगल ग्रह पर काफी अध्ययन किया है. मंगल पर सफल लैंडिंग के लिए हमें दो तथ्यों पर गहन ध्यान देना होगा. चंद्रयान 2 की असफल लैंडिंग. उस समय सही सेंसर नहीं होने के कारण हम असफल हुए थे, मगर हमें अब इसका अनुभव हो चुका है. ऐसे में हमारे लिए ये आसान रहेगा.

  • "आपको बाहर फेंका जा सकता है": आत्मकथा पर विवाद से पहले ISRO चीफ ने NDTV से ऐसा क्यों कहा था?

    "आपको बाहर फेंका जा सकता है": आत्मकथा पर विवाद से पहले ISRO चीफ ने NDTV से ऐसा क्यों कहा था?

    इसरो चीफ एस सोमनाथ ISRO Chief S Somnath) ने कहा कि उनसे कहा जाता था कि वह इसरो चीफ भी भूमिका के लिए उपयुक्त व्यक्ति नहीं हैं. लेकिन उन्होंने हमेशा इन मूर्खतापूर्ण चीजों से ऊपर उठने के बारे में सोचा.

  • इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने अपनी आत्मकथा प्रकाशित नहीं करने का निर्णय लिया

    इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने अपनी आत्मकथा प्रकाशित नहीं करने का निर्णय लिया

    इसरो प्रमुख ने कहा, ‘‘एक महत्वपूर्ण पद के लिए अधिक व्यक्ति पात्र हो सकते हैं. मैंने बस उस विशेष बिंदु को सामने लाने की कोशिश की. मैंने इस संबंध में किसी व्यक्ति विशेष को निशाना नहीं बनाया.’’

  • "आपको बाहर निकाला जा सकता है": आत्‍मकथा पर छिड़े विवाद से पहले ISRO प्रमुख ने NDTV से क्या कहा था

    "आपको बाहर निकाला जा सकता है": आत्‍मकथा पर छिड़े विवाद से पहले ISRO प्रमुख ने NDTV से क्या कहा था

    सोमनाथ ने स्वीकार किया कि उन्होंने अपनी पुस्तक में चंद्रयान-2 मिशन की विफलता की घोषणा के संबंध में स्पष्टता की कमी का उल्लेख किया है. हालांकि उन्होंने दोहराया कि इसका उद्देश्य किसी की आलोचना नहीं है.