विंबलडन जीत की 22 वीं वर्षगांठ पर पेस और भूपति ने फिर से साथ आने को लेकर किया इशारा, फैंस में मची खलबली

साल 1999 में यानि 22 साल पहले भारत के टेनिस स्टार लिएंडर पेस और महेश भूपति (Leander Paes, Mahesh Bhupathi) ने इतिहास रचचे हुए विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप की युगल स्पर्धा में शानदार परफॉर्मेंस करके खिताब जीता था

विंबलडन जीत की 22 वीं वर्षगांठ पर पेस और भूपति ने फिर से साथ आने को लेकर किया इशारा, फैंस में मची खलबली

पेस और भूपति क्या फिर से आएंगे साथ, ट्वीट कर किया इशारा

आजके ही दिन साल 1999 में यानि 22 साल पहले भारत के टेनिस स्टार लिएंडर पेस और महेश भूपति (Leander Paes, Mahesh Bhupathi) ने इतिहास रचचे हुए विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप की युगल स्पर्धा में शानदार परफॉर्मेंस करके खिताब जीता था. ऐसे में पुरुष युगल वर्ग में अपनी विंबलडन जीत की 22 वीं वर्षगांठ पर लिएंडर पेस और महेश भूपति ने उस पल को याद करते हुए ट्वीट किया और साथ ही अपने ट्वीट के तरिए कुछ खास होने की उम्मीद को लेकर अपने ट्वीट में इशारा किया है जिसके लेकर सोशल मीडिया पर फैन्स कयास लगाते नजर आ रहे हैं. उसी साल दोनों ने फ्रेंच ओपन का भी खिताब जीता था. भूपति और पेस 1999 में सभी चार ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली पहली युगल टीम बन गई थी. यह 1952 के बाद पहली बार था जब ओपन ऐरा में पहली बार इस तरह की उपलब्धि हासिल की गई थी.

टेनिस दिग्गज लिएंडर पेस ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'आज से 22 साल पहले हम विंबलडन जीतने वाले पहले भारतीय बने थे, दो युवा लड़कों के रूप में हम सभी का सपना था कि हम अपने देश को गौरवान्वित करें.' पेस ने अपने ट्वीट के साथ 'लीहेश' का हैशटैग भी लिखा है. पेस के इस ट्वीट के बाद भूपति ने भी रिएक्ट किया और लिखा, 'हमम ..वह खास था !! क्या आपको लगता है कि एक और अध्याय लिखने का समय आ गया है?' भूपति के इस ट्वीट के बाद तुरंत ही पेस ने भी रिएक्ट किया और ट्वीट करते हुए लिखा, 'मैं हमेशा खेल में रहता हूँ क्या प्लान है?'.


पेस के रिएक्ट करने के बाद एक बार फिर भूपति ने उन्हें टैग करते हुए कमेंट किया और लिखा कि, 'मुझे फिर से अपने पास आने दो, 22वीं वर्षगांठ की शुभकामनाएं'. सोशल मीडिया पर पेस और भूपति के बीच ट्विटर पर हुई यह बातचीत चर्चा का विषय बन गई है. फैन्स जमकर रिएक्ट भी कर रहे हैं. पेस और भूपति ने अपने खेल के दिनों में एक दुर्जेय पुरुष युगल जोड़ी बनाई थी, 1999 में चारों ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचकर दोनों की जोड़ी ने भारतीय टेनिस के इतिहास में एक नया अध्याय लिख दिया था.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com