'स्वास्थ्य मंत्रालय'

- more than 1000 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | मंगलवार जुलाई 27, 2021 05:43 PM IST
    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों का डेटा मांगा है. सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी.सूत्र बताते हैं कि यह डेटा एकत्रित करके 13 अगस्‍त को समाप्‍त हो रहे संसद के मॉनसून सत्र में पेश किया जाएगा.
  • India | सोमवार जुलाई 26, 2021 11:05 PM IST
    सोमवार को टीके की 57,48,692 खुराक दी गई. उसने कहा कि 18-44 वर्ष आयु वर्ग में सोमवार को 7,20,900 टीके पहली खुराक के रूप में और 3,49,496 टीके दूसरी खुराक के रूप में लगाए गए.
  • India | रविवार जुलाई 25, 2021 02:59 AM IST
    इसके अलावा आंध्र प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, दिल्ली, हरियाणा, झारखंड, केरल, तेलंगाना, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, पंजाब, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में इसी आयु समूह में 10 लाख से अधिक लाभार्थियों को पहली खुराक दी गई है.
  • India | शनिवार जुलाई 24, 2021 06:32 AM IST
    टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण की शुरुआत के बाद से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 18-44 वर्ष आयु वर्ग के 13,52,21,119 व्यक्तियों ने अपनी पहली खुराक प्राप्त की है और कुल 57,54,908 ने अपनी दूसरी खुराक प्राप्त की है.
  • India | रविवार जुलाई 25, 2021 01:00 AM IST
    Covid-19 Updates: स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब तक देश में 3,05,03,166 लोग कोरोना को हराने में कामयाब हुए हैं. पिछले 24 ंघंटे के दौरान 35,087 मरीज ठीक हुए हैं. फिलहाल, रिकवरी रेट 97.35 प्रतिशत पर है. पिछले 24 घंटे में नए मामले के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजोें की संख्या कम रही. जिससे भारत में एक्टिव केस बढ़कर 4,08,977 हो गए हैं, जो कुल मामलों का  1.31 फीसद है. 
  • India | शुक्रवार जुलाई 23, 2021 09:36 AM IST
    भारत में पिछले 24 घंटे में 35,342 नए COVID-19 केस दर्ज किए गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक,  अब तक देश में 3,04,68,079 लोग कोरोना को हराने में कामयाब हुए हैं. फिलहाल, रिकवरी रेट 97.36 प्रतिशत पर है. पिछले 24 ंघंटे के दौरान 38,740 मरीज ठीक हुए हैं. पिछले 24 घंटे में नए मामले के मुकाबले ठीक होने वाले मरीजोें की संख्या अधिक रही. भारत में एक्टिव केस 4,05,513 रह गए हैं, जो कुल मामलों का  1.30 फीसद है. 
  • India | गुरुवार जुलाई 22, 2021 04:59 PM IST
    कोरोना की तीसरी लहर अब तक खारिज़ नहीं हुई है. बड़ी आबादी में वायरस का एक्सपोजर हुआ नहीं है तो खतरा बरकरार है. ऐसे में अब ज्यादा जोर जीनोम सीक्वेंसिंग पर है ताकि वायरस के आकार व्यवहार और प्रकार यानी उनके वेरिएंट की जानकारी ठीक ठीक हाथ लगे. यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्र ने NDTV को दी है. देश की दो तिहाई आबादी में एंटीबॉडी पाई गई है लेकिन एक तिहाई पर अब भी ख़तरा बरकरार है. दूसरी लहर के पीछे डेल्टा वेरिएंट की भूमिका थी. अब तीसरी लहर को लेकर नज़र वायरस के म्यूटेशन और उससे बनने वाले नए वेरिएंट पर है. लिहाज़ा ज्यादा ज़ोर जीनोम सीक्वेंसिंग पर है. सूत्र ने बताया कि अब 28 लैबों के बाद प्राइवेट सेक्टर के लैबों को भी जोड़ने की योजना है. अब तक 41 हजार जीनोम सीक्वेंसिंग में 17 हजार केरल से और 10 हजार महाराष्ट्र के हैं. जब मामले घट रहे होते हैं तो एक समान तरीके से देश के अलग-अलग जिलों से पॉजिटिव सैंपल्स की भी चुनौती होती है.
  • India | बुधवार जुलाई 21, 2021 11:33 AM IST
    लिखित जवाब में नव नियुक्त केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ भारती प्रवीण कुमार ने कहा, "स्वास्थ्य राज्य का विषय है. मौत की रिपोर्ट की विस्तृत जानकारी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश स्वास्थ्य मंत्रालय को रेगुलर बेसिस पर मुहैया कराते हैं.  राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों की रिपोर्ट के मुताबिक देश में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई है."
  • India | बुधवार जुलाई 21, 2021 11:02 AM IST
    New Covid-19 Cases : मौतों के आंकड़ों में यह उछाल महाराष्ट्र में मौतों का बैकलॉग (पिछला संशोधित आंकड़ा) जोड़े जाने के कारण हुआ है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को ये आंकड़े जारी किए गए. स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि भारत में एक्टिव केस की तादाद 407170 रह गई है. जबकि कुल संक्रमित मरीजों के अनुपात में एक्टिस केस 1.30 फीसदी हैं. 
  • India | बुधवार जुलाई 21, 2021 05:06 AM IST
    क्या कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बहुत सारे कोविड मरीज़ ऑक्सीजन की कमी की वजह से दम तोड़ गए? कांग्रेस सांसद वेणुगोपाल के इस सवाल का राज्यसभा में जो लिखित जवाब स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने दिया, वह हैरान करने वाला है. कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन संकट की वजह से बड़ी तादाद में कोरोना मरीज़ों की मौतें हुई. लेकिन मंगलवार को ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों पर कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में  स्वस्थ्य राज्यमंत्री डॉ भारती प्रवीण कुमार ने लिखित में दिए जवाब मैं कहा - स्वास्थ्य राज्य का विषय है. मौत की रिपोर्ट की विस्तृत जानकारी राज्य और केंद्रशासित प्रदेश स्वास्थ्य मंत्रालय को रेगुलर बेसिस पर मुहैया कराते हैं. राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों की रिपोर्ट के मुताबिक देश में ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई है.  
और पढ़ें »
'स्वास्थ्य मंत्रालय' - 389 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com