मिल्खा सिंह' के निधन पर खेल जगत भावुक, खिलाड़ियों ने ऐसे दी श्रद्धांजलि

मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का कोरोना वायरस से निधन हो गया है. सांस लेने में तकलीफ होने के चलते मिल्खा सिंह को चंडीगढ़ के पीजीआई हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया था

मिल्खा सिंह' के निधन पर खेल जगत भावुक, खिलाड़ियों ने ऐसे दी श्रद्धांजलि

महान धावक मिल्खा सिंह जी का निधन

मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का कोरोना वायरस से निधन हो गया है. सांस लेने में तकलीफ होने के चलते मिल्खा सिंह को चंडीगढ़ के पीजीआई हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया था. मिल्खा सिंह (Flying Sikh Milkha Singh) भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. महान एथलीथ के गुजर जाने से खेल हस्तियां भावुक होकर ट्वीट के जरिए अपना श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं. भारत के क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट कर महान धावक को याद किया है. तेंदुलकर ने अपने ट्वीट में लिखा है,  'हमारे अपने ‘फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह जी, आपकी आत्मा को शांति मिले. आपके निधन ने आज हर भारतीय के दिल में एक गहरा शून्य छोड़ दिया है, लेकिन आप आने वाली कई पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे.

''फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह के जैसा कोई नहीं, एक नजर उनकी उपलब्धियों पर


विराट कोहली ने भी ट्वीट कर मिल्खा सिंह जी को याद किया है.

वहीं, भारतीय पूर्व महिला धावक पीटी उषा ने भी ट्वीट कर अपनी श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है. मेरे आदर्श और प्रेरणास्रोत मिल्खा सिंह जी के निधन से दुख पहुंचा है. दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत की उनकी कहानी ने लाखों लोगों को प्रेरित किया और आगे भी करता रहेगा. उन्हें श्रद्धांजलि..

भारतीय फुटबॉलर सुनील छेत्री ने ट्वीट करते हुए मिल्खा सिंह जीत को याद किया है. 'हो सकता है कि हमने आपको प्रतिस्पर्धा करते नहीं देखा हो, लेकिन हर बार जब हम बच्चे तेजी से दौड़ते थे, तो हम मिल्खा सिंह की तरह दौड़ते थे. और आप मेरे लिए, हमेशा लैजेंड रहेंगे. आप सिर्फ दौड़े नहीं, आपने प्रेरित किया..'

भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'महान मिल्खा सिंह जी के निधन के बारे में सुनकर अत्यंत दुख हुआ. उनकी आत्मा को शांति मिले. मित्रों और परिवार के प्रति मेरी संवेदना.'


पूर्व भारतीय दिग्गज और कोच अनिल कुंबले ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'मिल्खा सिंह जी के निधन की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ, उनकी विरासत जीवित रहेगी... एक सच्ची किंवदंती और एक प्रतीक. उसके परिवार तथा मित्रों के लिए संवेदनाएं..'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि मिल्खा सिंह ने अपने जीवन पर एक किताब “द रेस ऑफ माय लाईफ” अपनी पूत्री के  साथ मिलकर लिखी है. मिल्खा सिंह जी के निधन से एक गौरवशाली युग का भी अंत हो गया है. सिंह जी ने अपने सभी पदक को दान कर दिए थे और अब पटियाला में खेल संग्रहालय का हिस्सा हैं.