Women's Reservation Bill: संसद के दोनों सदनों से महिला आरक्षण बिल पास होने पर किसने क्या कहा? यहां पढ़ें

महिला आरक्षण बिल (Nari Shakti Vandan Adhiniyam) के मुताबिक, लोकसभा और राज्यों की विधानसभाओं में महिलाओं के लिए 33% रिजर्वेशन लागू किया जाएगा. लोकसभा की 543 सीटों में से 181 महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी. ये रिजर्वेशन 15 साल तक रहेगा. इसके बाद संसद चाहे तो इसकी अवधि बढ़ा सकती है.

Women's Reservation Bill: संसद के दोनों सदनों से महिला आरक्षण बिल पास होने पर किसने क्या कहा? यहां पढ़ें

नई दिल्ली:

महिला आरक्षण बिल यानी नारी शक्ति वंदन अधिनियम (Nari Shakti Vandan Adhiniyam) लोकसभा के बाद गुरुवार को राज्यसभा से भी पास हो गया. राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल (Women's Quota Bill) के पक्ष में 215 वोट डाले गए. जबकि लोकसभा में इस बिल के पक्ष में 454 वोट पड़े थे, ओवैसी समेत AIMIM के 2 सांसदों ने बिल के विरोध में वोटिंग की थी. संसद के दोनों सदनों से महिला आरक्षण बिल (Women's Reservation Bill) पास होने पर पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने देशवासियों को बधाई दी है. पीएम मोदी के अलावा गृहमंत्री अमित शाह और अन्य नेताओं ने भी सोशल मीडिया पर इस बिल को लेकर खुशी जाहिर की.

आइए जानते हैं राज्यसभा से महिला आरक्षण बिल पास होने पर किसने क्या कहा:-

महिला आरक्षण बिल पास होने पर पीएम का ट्वीट
संसद को दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा से महिला आरक्षण बिल पास होने पर पीएम मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर खुशी जाहिर की. पीएम ने लिखा- "हमारे देश की लोकतांत्रिक यात्रा में एक निर्णायक क्षण! 140 करोड़ भारतीयों को बधाई. मैं उन सभी राज्यसभा सांसदों को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने नारी शक्ति वंदन अधिनियम के लिए वोट किया. इस तरह का सर्वसम्मत समर्थन वास्तव में खुशी देने वाला है."

पीएम ने आगे लिखा, "संसद में नारी शक्ति वंदन अधिनियम के पारित होने के साथ, हम भारत की महिलाओं के लिए मजबूत प्रतिनिधित्व और सशक्तिकरण के युग की शुरुआत करते हैं. यह महज एक विधान नहीं है; यह उन अनगिनत महिलाओं को श्रद्धांजलि है, जिन्होंने हमारे देश को बनाया है. भारत उनके लचीलेपन और योगदान से समृद्ध हुआ है. जैसा कि हम आज मनाते हैं, हमें अपने देश की सभी महिलाओं की ताकत, साहस और अदम्य भावना की याद आती है. यह ऐतिहासिक कदम यह सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता है कि उनकी आवाज़ को और भी अधिक प्रभावी ढंग से सुना जाए."

अमित शाह ने लिखा- "जहां चाह, वहां राह"
गृहमंत्री अमित शाह ने X पर लिखा, "समतामूलक शासन की राह पर आज एक ऐतिहासिक मील का पत्थर हासिल हुआ. राज्यसभा ने महिला आरक्षण विधेयक पारित कर दिया. बहुत दिनों से चली आ रही मांग को पूरा करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया भर में लैंगिक समानता और समावेशी शासन का एक शक्तिशाली संदेश भेजा है. पीएम मोदी को मेरा हृदय से आभार और प्रत्येक नागरिक को बधाई."

जेपी नड्डा ने लिखा-नए संसद की सबसे अच्छी शुरुआत
बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने लिखा, "नए संसद भवन की इससे बेहतर शुरुआत नहीं हो सकती थी! आज, एक राष्ट्र के रूप में, हमने महिला सशक्तिकरण के एक नए युग में प्रवेश किया है. संसद के दोनों सदनों द्वारा 'नारी शक्ति वंदन अधिनियम' के पारित होने के साथ, हम अपनी महिलाओं को लंबे समय से लंबित अधिकार प्रदान करने की दिशा में आगे बढ़े हैं. हमारी नारी शक्ति ने पहले ही जीवन के सभी क्षेत्रों में अपनी योग्यता साबित कर दी है, और अब यह जरूरी है कि वे कानून बनाने की प्रक्रियाओं में भी बढ़-चढ़कर भाग लें और अमृत काल में हमारे देश के विकास में योगदान दें. यह विधेयक न केवल विधायिका में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाएगा, बल्कि हमारी सभी महिलाओं को आत्मनिर्भर भारत को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए प्रेरित करेगा. मैं पीएम मोदी का तहे दिल से धन्यवाद देता हूं."

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान-मोदी है तो मुमकिन है
केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने लिखा- "संसद में 'नारी शक्ति वंदन अधिनियम' का पारित होना महिलाओं के सपनों को पूरा करने और नीति-निर्माण और लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं में उनकी भागीदारी बढ़ाने की दिशा में एक स्वर्णिम अध्याय को उजागर करता है. इस ऐतिहासिक विधेयक के पारित होने पर हमारे देश की नारी शक्ति और हमारे सभी नागरिकों को बधाई. राजनीतिक दृढ़ संकल्प की कमी के कारण तीन दशकों तक लंबित रहने के लिए प्रधानमंत्री के साहसिक नेतृत्व और राजनीतिक इच्छाशक्ति की आवश्यकता पड़ी. मोदी है तो मुमकिन है"

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर-लंबे समय का सपना पूरा हुआ
केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने लिखा, "एक लंबे समय का सपना आज पूरा हो गया है, क्योंकि नारी शक्ति वंदन अधिनियम विधेयक राज्यसभा में सर्वसम्मति से पारित हो गया है. आज का दिन वास्तव में हमारे राष्ट्र के संवैधानिक विकास और लोकतंत्र को मजबूत करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण मोड़ है, न केवल मतदान में बल्कि प्रतिनिधित्व में भी समान अधिकार सुनिश्चित हुआ है. हमारी #NaariShakti ने अनादिकाल से जीवन के सभी क्षेत्रों में अपनी योग्यता साबित की है. स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भी वे साम्राज्यवाद के खिलाफ लड़ाई में बराबर के भागीदार थे. यह काफी समय से अपेक्षित था कि हम उनकी भागीदारी को और बढ़ाएं और उन्हें उनका उचित स्थान प्रदान करें.
यह कानून 'वी द पीपल' की भावना को और गहरा करता है. माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेरी हार्दिक कृतज्ञता और बधाई, जिनके निरंतर प्रयास से यह संभव हो पाया है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पीएम मोदी बोले- ये बिल हमारे देश की नारी शक्ति को नई ऊर्जा देगा
गुरुवार को राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पर लंबी चर्चा हुई. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने महिला आरक्षण बिल (Women's Reservation Bill)पर चर्चा का जवाब दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- "हमने बिल पर सार्थक चर्चा की है, भविष्य में इस चर्चा का एक एक शब्द काम आने वाला है. हर शब्द का अपना मूल्य है, महत्व है." पीएम ने कहा कि नारी शक्ति को विशेष सम्मान सिर्फ विधेयक से नहीं मिल रहा है. इस विधेयक के प्रति सभी राजनीतिक दलों की सकारात्मक सोच होना, ये हमारे देश की नारी शक्ति को नई ऊर्जा देगा.