देखें VIDEO: चुनाव प्रचार से फुरसत पाकर बैडमिंटन खेलते हुए नजर आए सीएम शिवराज सिंह चौहान

मध्य प्रदेश में शहरी निकायों के पहले चरण का प्रचार समाप्त, बुधवार को 133 स्थानीय निकायों के चुनाव के लिए होगा मतदान

देखें VIDEO: चुनाव प्रचार से फुरसत पाकर बैडमिंटन खेलते हुए नजर आए सीएम शिवराज सिंह चौहान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के भोजपुर क्लब में बैडमिंटन खेला.

खास बातें

  • मध्य प्रदेश के शहरी निकायों के चुनाव दो चरणों में होंगे
  • मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच
  • आम आदमी पार्टी और एआईएमआईएम भी मैदान में
नई दिल्ली:

Madhya Pradesh civic polls: मध्य प्रदेश में दो चरणों में होने वाले निकाय चुनाव के पहले चरण का प्रचार खत्म होने के बाद सोमवार की शाम को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) भोपाल के भोजपुर क्लब में बैडमिंटन (Badminton) खेलते हुए नजर आए. मध्य प्रदेश में 413 शहरी निकायों के चुनाव दो चरणों में छह जुलाई और 13 जुलाई को होंगे. पहले चरण का प्रचार सोमवार को थम गया और इसके बाद सीएम शिवराज सिंह ने भोजपुर क्लब में बैडमिंटन खेलने का शौक पूरा किया.  

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो ट्वीट किया और लिखा- ''चुनाव के प्रचार प्रसार से आज फुरसत मिली तो भोपाल के अरेरा कॉलोनी स्थित भोजपुर क्लब के सदस्यों के साथ बैडमिंटन का आनंद लिया.'' 

उन्होंने लिखा कि, ''बहुत दिनों पश्चात कुछ पल ऐसे ही बिताकर मन अत्यंत प्रफुल्लित और आनंदित हो गया. ऐसा लगा कि बचपन फिर से लौट आया. सच में मजा आया.''

मध्य प्रदेश में त्रि स्तरीय पंचायत चुनाव और नगरीय निकायों के चुनाव जारी हैं. राज्य के 413 शहरी निकायों के चुनाव दो चरणों में छह जुलाई और 13 जुलाई को होंगे. छह जुलाई को 133 स्थानीय निकायों में मतदान होगा, जबकि 214 स्थानीय निकायों के लिए मतदान 13 जुलाई को होना है. पहले चरण की मतगणना 17 जुलाई को और दूसरे चरण की मतगणना 18 जुलाई को होगी. राज्य में कुल 413 शहरी स्थानीय निकाय हैं जिसमें 16 नगर निगम, 99 नगर पालिका और 298 नगर पंचायतें हैं. 

राज्य में त्रि स्तरीय पंचायत चुनाव के लिए पहले चरण की वोटिंग 25 जून को और दूसरे चरण की वोटिंग एक जुलाई को हुई थी. तीसरे चरण का मतदान आठ जुलाई को होगा. पंच से लेकर जिला पंचायत सदस्यों के विभिन्न पदों के लिए आठ जुलाई, 11 जुलाई, 14 जुलाई और 15 जुलाई को मतगणना होगी.

मध्य प्रदेश में निकाय चुनाव के लिए  मुख्य मुकाबला बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) के बीच है. हालांकि इस बार चुनाव में आम आदमी पार्टी और एआईएमआईएम जैसी पार्टियां भी मौजूद हैं. कांग्रेस नगर निगमों के चुनावों में जोर लगा रही है. कांग्रेस से भोपाल में पूर्व महापौर विभा पटेल और इंदौर में संजय शुक्ला उम्मीदवार हैं. पार्टी ने महापौर पद के लिए मुरैना में शारदा सोलंकी, ग्वालियर में शोभा सिकरवार, सागर में निधि जैन,कटनी में श्रेया खंडेलवाल, जबलपुर में जगत बहादुर सिंह अन्नू, सिंगरौली में अरविंद सिंह चंदेल, बुरहानपुर में शहनाज अंसारी, छिंदवाड़ा में विक्रम अहाके, रीवा में अजय मिश्रा, सतना में सिद्धार्थ कुशवाहा, देवास में कविता रमेश व्यास, खंडवा में आशा मिश्रा और उज्जैन में महेश परमार को चुनाव मैदान में उतारा है.

बीजेपी ने भोपाल में महापौर पद के लिए पूर्व पार्षद मालती राय को उम्मीदवार बनाया है. जबलपुर में डॉ जितेंद्र जामदार, मुरैना में मीना जाटव, सागर में संगीता तिवारी, रीवा में प्रबोध व्यास, सतना में योगेश ताम्रकार, सिंगरौली में चंद्र प्रताप विश्वकर्मा, कटनी में ज्योति दीक्षित, छिंदवाड़ा में अनंत धुर्वे, खंडवा में अमृता यादव, बुरहानपुर में माधुरी पटेल, उज्जैन में मुकेश टटवाल और देवास में गीता अग्रवाल बीजेपी की महापौर पद की प्रत्याशी हैं. बीजेपी ने इंदौर में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर पीठ के पूर्व अतिरिक्त महाधिवक्ता पुष्यमित्र भार्गव को चुनाव मैदान में उतारा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मध्य प्रदेश के निकाय चुनाव में एक तरफ जहां बीजेपी और कांग्रेस हैं वहीं उनसे मुकाबला करने के लिए आम आदमी पार्टी (AAP) भी मौजूद है. ‘आप' ने राज्य के 16 नगर निगमों में से 14 में महापौर पद के लिए अपने उम्मीदवार उतारे हैं. इसके अलावा पार्षद के पदों के लिए भी उम्मीदवार उतारे हैं. ‘आप' के अलावा ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) भी मध्य प्रदेश में पहली बार नगर निकाय चुनावों में किस्मत आजमा रही है. एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी प्रदेश के कई शहरों में जनसभाओं को संबोधित भी कर चुके हैं.