विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Dec 05, 2022

बिहार विधानसभा की कुढ़नी सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान जारी, भाजपा-जदयू के बीच मुख्य मुकाबला

कुढ़नी सीट पर उपचुनाव सहनी को अयोग्य ठहराए जाने के बाद जरूरी हो गया था. सहनी को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा की गई जांच के बाद धोखाधड़ी के एक मामले में दोषी ठहराया गया था और तीन साल जेल की सजा सुनाई गई.

Read Time: 3 mins
बिहार विधानसभा की कुढ़नी सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान जारी, भाजपा-जदयू के बीच मुख्य मुकाबला
बिहार विधानसभा की कुढ़नी सीट पर उपचुनाव के तहत कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान जारी है.

बिहार विधानसभा की कुढ़नी सीट पर उपचुनाव के तहत कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान जारी है. कुढ़नी सीट मुजफ्फरपुर जिले के अंतर्गत आती है. जिले की निर्वाचन शाखा से प्राप्त जानकारी के अनुसार, कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह सात बजे से मतदान प्रारंभ हो गया, जो शाम छह बजे तक जारी रहेगा.

निष्पक्ष, शांतिपूर्ण और सुचारू रूप से मतदान संपन्न कराने के लिए सभी 320 मतदान केंद्रों पर अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती के साथ प्रयाप्त संख्या में ईवीएम और वीवीपैट की व्यवस्था की गई है. कुढ़नी सीट के इस उपचुनाव में कुल 13 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं, जिनमें पांच निर्दलीय प्रत्याशी हैं. इस उपचुनाव के लिए 3,11,728 मतदाता मताधिकार का उपयोग कर करेंगे.

इस उपचुनाव में मुख्य मुकाबला प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के उम्मीदवार मनोज सिंह कुशवाहा और विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रत्याशी केदार गुप्ता के बीच माना जा रहा है. 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में गुप्ता राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अनिल कुमार सहनी से 700 से अधिक मतों से हार गए थे. करीब चार महीने पहले एक-दूसरे से अलग होने के बाद जदयू और भाजपा चुनावी दंगल में पहली बार आमने-सामने हैं.

कुढ़नी सीट पर उपचुनाव सहनी को अयोग्य ठहराए जाने के बाद जरूरी हो गया था. सहनी को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा की गई जांच के बाद धोखाधड़ी के एक मामले में दोषी ठहराया गया था और तीन साल जेल की सजा सुनाई गई. बिहार में सत्ताधारी सात दलों के महागठबंधन में शामिल सबसे बड़ी पार्टी राजद ने यह सीट अपने सहयोगी जदयू के लिए छोड़ दी है.

इस सीट से दो छोटे दलों विकास इंसान पार्टी (वीआईपी) और ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने भी भाजपा और जदयू के खिलाफ अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारे हैं. वीआईपी ने जहां नीलाभ कुमार को मैदान में उतारा है, वहीं एआईएमआईएम ने ऑल इंडिया मोमिन कॉन्फ्रेंस के पूर्व सदस्य मोहम्मद गुलाम मुर्तजा को उम्मीदवार बनाया है. उपचुनाव के परिणाम की घोषणा आठ दिसंबर को की जाएगी.

यह भी पढ़ें-

गुजरात चुनाव : दूसरे चरण का मतदान जारी,PM मोदी और अमित शाह अहमदाबाद में डालेंगे वोट,10 बातें
Live Updates: गुजरात में दूसरे चरण का मतदान और पांच राज्यों की 7 सीटों पर उपचुनाव जारी
"जो मुस्लिम औरतों को टिकट दे रहे हैं वो..", गुजरात चुनाव से पहले शाही इमाम सिद्दीकी का विवादित बयान

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
शिक्षा विभाग से अब भूमि सुधार....क्या बिहार में अब केके पाठक करेंगे नया चमत्कार?
बिहार विधानसभा की कुढ़नी सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान जारी, भाजपा-जदयू के बीच मुख्य मुकाबला
मोदी के मंत्रीयों में डॉक्टर, इंजीनियर और वकील, उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा मंत्री
Next Article
मोदी के मंत्रीयों में डॉक्टर, इंजीनियर और वकील, उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा मंत्री
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;