लोकसभा में DMK सांसद के विवादित बयान पर हंगामा, उद्धव ठाकरे की पार्टी ने भी जताया विरोध

भाजपा के नेताओं ने द्रमुक पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी से पूछा कि क्या वह उत्तर भारतीयों के खिलाफ अपने सहयोगी दल के अपमानजनक बयानों से सहमत हैं.

लोकसभा में DMK सांसद के विवादित बयान पर हंगामा, उद्धव ठाकरे की पार्टी ने भी जताया विरोध

लोकसभा में द्रविड मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के सदस्य डीएनवी सेंथिलकुमार ने मंगलवार को हिंदी पट्टी के राज्यों को लेकर एक विवादित बयान दिया जिसके बाद संसद में नया विवाद खड़ा हो गया. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) केवल हिंदी राज्यों में ही चुनाव जीत सकती है, दक्षिण भारत में नहीं. भाजपा के नेताओं ने द्रमुक पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी से पूछा कि क्या वह उत्तर भारतीयों के खिलाफ अपने सहयोगी दल के अपमानजनक बयानों से सहमत हैं.

उद्धव ठाकरे की पार्टी ने भी किया विरोध

डीएमके सांसद के बयान का शिवसेना ने भी विरोध किया है. शिवसेना ( उद्धव बालासाहेब ठाकरे ) के प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा है कि डीएमके के संसद सेंथिल कुमार का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है , सनातन धर्म और गऊ माता के बारे में अधूरी जानकारी है इनलोगों को.  ऐसे बयानों से हम कहीं ना कहीं कमजोर होते हैं. हमें बचना चाहिए ऐसे बड़बोलो से. 

सेंथिल कुमार ने क्या कहा था? 

लोकसभा में ‘जम्मू कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक' और ‘जम्मू कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक' पर चर्चा में भाग लेते हुए द्रमुक के डीएनवी सेंथिलकुमार ने कहा, ‘‘इस देश की जनता को सोचना चाहिए कि भाजपा की चुनाव जीतने की शक्ति केवल हिंदी पट्टी के राज्यों में है.'' हाल में हुए राज्य विधानसभा चुनावों में राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जहां भाजपा को जीत मिली है, वहीं तेलंगाना में कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है.

इन विधानसभा चुनाव परिणामों को कुछ वर्ग द्वारा ‘उत्तर-दक्षिण' के विभाजन के रूप में देखे जाने की पृष्ठभूमि में द्रमुक सांसद की टिप्पणी आई हैं. विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा ने कांग्रेस पर निशाना साधने के लिए द्रमुक नेताओं के सनातन धर्म के खिलाफ दिए गए बयानों का इस्तेमाल किया था. कांग्रेस ने इस साल की शुरुआत में कर्नाटक में भाजपा से सत्ता छीन ली थी, वहीं तमिलनाडु समेत अन्य दक्षिण भारतीय राज्यों में गैर-भाजपाई दल सरकार चला रहे हैं.

अन्नामलाई ने सेंथिलकुमार के बयान की निंदा की

सेंथिलकुमार ने लोकसभा में कहा, ‘‘आप (भाजपा) दक्षिण भारत में नहीं आ सकते. आप देख लीजिए कि केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में चुनाव परिणाम क्या आया. हम वहां बहुत मजबूत हैं.'' उन्होंने कहा, ‘‘हमें हैरानी नहीं होगी यदि आप इन सारे राज्यों को केंद्रशासित प्रदेशों में बदलने के विकल्प पर विचार करने लगें ताकि आप परोक्ष रूप से यहां सत्ता में आ सकें. आप वहां पैर जमाने का सपना कभी पूरा नहीं कर सकते.'' तमिलनाडु में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने सेंथिलकुमार के बयान की निंदा करते हुए इसे असंवेदनशील करार दिया. उन्होंने कहा कि द्रमुक की सोच चेन्नई की तरह डूब रही है और द्रमुक का अहंकार इसका प्रमुख कारण होगा.

चेन्नई में इस समय चक्रवाती तूफान ‘मिगजॉम' का कहर

चेन्नई में इस समय चक्रवाती तूफान ‘मिगजॉम' की वजह से जगह-जगह जलभराव हो रहा है. उन्होंने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स' पर लिखा, ‘‘हमारे उत्तर भारतीय मित्रों को पानी-पूरी बेचने वाला, शौचालय बनाने वाला कहकर ‘इंडिया' गठबंधन के सांसद अब गौमूत्र शब्द का इस्तेमाल कर रहे हैं.'' अन्नामलाई ने कहा कि द्रमुक सांसद संभवत: भूल गए कि दक्षिण भारत में पुडुचेरी में राजग गठबंधन सत्ता में है और कुछ महीने पहले तक कर्नाटक में भी भाजपा सरकार थी.

कर्नाटक सरकार के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता सीटी रवि ने कहा कि क्या कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्रमुक नेता के इस तरह के बयानों का समर्थन करते हैं. उन्होंने ‘एक्स' पर लिखा, ‘‘क्या इंडिया गठबंधन के नेता राहुल गांधी द्रमुक के इस नेता की बात से सहमत हैं, जिसने हिंदी भाषी राज्यों के भारतीयों का अपमान किया है?'' रवि ने कहा, ‘‘कांग्रेस और इसके सहयोगी दल कब तक भारतीयों का अपमान करते रहेंगे?''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें-:

अन्य खबरें