रविशंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से मांगे इन सवालों के जवाब

रविशंकर प्रसाद ने कहा, "क्या उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2020 का चुनाव नहीं जीता? क्या आपने 2019 का चुनाव अपने दम पर जीता था? आपके 14 लोग लोकसभा गए थे. आपने बिहार के जनादेश का अपमान किया है."

रविशंकर प्रसाद ने नीतीश कुमार से मांगे इन सवालों के जवाब

नई दिल्ली:

बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने आज नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को फटकार लगाते हुए आरोप लगाया कि बिहार (Bihar) के पांच बार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी से अपना नाता दूसरी बार तोड़कर जनादेश का अपमान किया है. उन्होंने कहा, नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के कारण उन्हें दो बार 2019 और 2020 में जनादेश मिले, लेकिन उन्होंने बीजेपी (BJP) के साथ गठबंधन तोड़ दिया.

पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, "हमारे पास नीतीश कुमार के लिए एक सवाल है." उन्होंने कहा कि, "क्या उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 2020 का चुनाव नहीं जीता? क्या आपने 2019 का चुनाव अपने दम पर जीता था? आपके 14 लोग लोकसभा में गए थे. आपने बिहार के जनादेश का अपमान किया है. आप ऐसा कैसे कर सकते हैं?" 

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने पहले भ्रष्टाचार का हवाला देते हुए कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल के साथ महागठबंधन को छोड़ दिया था और बीजेपी के साथ आ गए थे.

उन्होंने कहा कि, "तो आज क्या हुआ? क्या भ्रष्टाचार खत्म हो गया है? तो आप बार-बार बिहार के लोगों के जनादेश का अपमान क्यों करते हैं?" 

प्रसाद ने दूसरा प्रश्न किया, "अगर बीजेपी ने आपको इतना परेशान किया तो आप रुके क्यों रहे? आप 2020 में अलविदा कह सकते थे."

नीतीश कुमार ने आज बीजेपी के साथ गठबंधन समाप्त कर दिया और लालू यादव के राष्ट्रीय जनता दल और अन्य दलों के साथ नई सरकार बनाने का दावा पेश किया.

इससे पहले आज बीजेपी के सूत्रों ने कहा कि पार्टी ने आसन्न विभाजन के बारे में जानने के बावजूद नीतीश कुमार को रोकने का कोई प्रयास नहीं किया. सूत्रों ने कहा, ऐसा इसलिए था क्योंकि बीजेपी को यकीन है कि नीतीश कुमार की राष्ट्रीय महत्वाकांक्षाएं हैं और वह 2024 के आम चुनावों में विपक्ष का नेतृत्व करना एक बेहतर विकल्प के रूप में देखती हैं.

लंबे समय तक अपना गुस्सा जाहिर करने के बाद नीतीश कुमार ने निर्णायक कदम उठाया. पिछले कुछ हफ्तों में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कई कार्यक्रमों को छोड़ दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सूत्रों ने कहा कि नीतीश कुमार को डर था कि बीजेपी उनकी जनता दल यूनाइटेड को विभाजित करने की कोशिश कर रही है. उसी तरह जैसे उसने शिवसेना में विभाजन किया और उद्धव ठाकरे की सरकार को गिरा दिया.