पीएम मोदी ने 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने का लिया है संकल्प : अमित शाह

अमित शाह ने कहा, " 'इंडिया' गठबंधन के लोग अपने बेटे-बेटियों और परिवार के लोगों को ही मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं. ऐसे लोग देश का क्या भला कर सकते हैं? ये लोग सिर्फ परिवार का भला करने के लिए हैं."

पीएम मोदी ने 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने का लिया है संकल्प : अमित शाह

अमित शाह ने 20 फरवरी को जयपुर में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया.

जयपुर:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने परिवारवाद, भ्रष्टाचार, तुष्टिकरण और जातिवाद को खत्म करने के लिए काम किया है और इन चारों नासूरों को मिटाकर "प्रदर्शन की राजनीति" को स्थापित किया है. उन्होंने कांग्रेस और विपक्षी गठबंधन 'इंडिया' पर निशाना साधते हुए कहा कि उसके पास ना तो नेता है, ना ही नीयत है और न ही कोई सिद्धांत है.

शाह ने यहां कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, "10 साल में भारत के गौरव को पाताल से आसमान तक पहुंचाने का काम नरेन्द्र मोदी ने किया है. नरेन्द्र मोदी ने इस देश की जनता, युवाओं, माताओं, किसान और प्रबुद्धजनों के सामने एक लक्ष्य रखा है... दुनिया में भारत सबसे आगे हो और 2047 तक भारत आत्मनिर्भर भी होगा एवं सबसे पहले भी होगा, यह संकल्प लेने का समय आ गया है."

उन्होंने कहा, "देश के लोकतंत्र को चार नासूरों ने ग्रसित किया.. परिवारवाद, तुष्टिकरण, भ्रष्टाचार, जातिवाद. मोदी जी ने 10 साल के अंदर परिवारवाद को समाप्त किया, तुष्टिकरण को समाप्त किया, जातिवाद को समाप्त किया, भ्रष्टाचार को समाप्त किया." उन्होंने कहा, "इन चारों नासूरों को मिटाकर प्रदर्शन की राजनीति को स्थापित किया.. उन्होंने (मोदी ने) इस सूत्र को स्थापित करने का काम किया कि जो देश के लिये काम करेगा, वही देश में राज करेगा."

शाह ने कहा, " 'इंडिया' गठबंधन के लोग अपने बेटे-बेटियों और परिवार के लोगों को ही मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं. ऐसे लोग देश का क्या भला कर सकते हैं? ये लोग सिर्फ परिवार का भला करने के लिए हैं जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का लक्ष्य है- देश को आगे बढ़ाना, देश की जनता का भला करना." उन्होंने कहा कि मोदी के नेतृत्व में भाजपा का एकमात्र उद्देश्य है- दुनिया में भारत पहले हो और भारत विश्वगुरु बने. शाह ने कहा, "इन 10 साल में मोदी जी ने इसकी नींव डालने का काम किया है. मोदी के नेतृत्व में भाजपा का एकमात्र उद्देश्य है-सर्वप्रथम भारत..."

उन्होंने कहा, "एक ओर मोदी जी का लक्ष्य है दुनिया में भारत सर्वप्रथम हो.. भारत विश्व गुरू के स्थान पर विराजित होकर दुनिया का मार्ग दर्शन करे और इनका (‘इंडिया' गठबंधन) लक्ष्य क्या है..सोनिया (गांधी) जी का लक्ष्य राहुल (गांधी) को प्रधानमंत्री बनाना है, लालू (प्रसाद) जी का लक्ष्य अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाना है, उद्धव (ठाकरे) जी का लक्ष्य है अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाना, (एम के) स्टालिन का लक्ष्य अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाना चाहते है. मुलायम सिंह अपने बेटे को मुख्यमंत्री बनाकर गए.. संभाल नहीं पाये.. फिर से अखिलेश मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. ममता (बनर्जी) अपने भतीजे को मुख्यमंत्री बनाना चाहती हैं."

शाह ने कहा, "जो लोग अपने बेटे, बेटी, भतीजे के लिए राजनीति करते हैं वे देश का क्या भला कर सकते हैं ? वे क्या देश के गरीब को आगे बढ़ा सकते हैं? वे क्या देश को सुरक्षित कर सकते हैं? क्या वे देश के किसान का भला कर सकते हैं ? क्या वे देश के अर्थतंत्र को सुधार सकते हैं?" उन्होंने कहा, "जब मैं कांग्रेस के लोगों से पूछता हूं कि उनकी पार्टी का उद्देश्य क्या है, तो वे चुप हो जाते हैं. उनके पास न तो नेता हैं, ना नीयत है और न ही नीति है. ये लोग देश का भविष्य नहीं बदल सकते.''

उन्होंने बिना किसी का नाम लिए कहा कि एक ओर एक साल में तीन महीने विदेश में छुट्टी मनाने वाला नेतृत्व है तो दूसरी ओर, 23 साल तक एक भी दिन छुट्टी ना लेने वाले नरेन्द्र मोदी हैं. उन्होंने कहा कि जिनका मूल इटली में है, वे इस देश की परंपराओं का सम्मान नहीं कर सकते. शाह ने कहा, "हमने राजपथ का नाम कर्तव्य पथ रखा, उन्होंने (कांग्रेस ने) रोकने का काम किया, हमने पुरानी संसद की जगह नया संसद भवन बनाने का काम किया, कांग्रेस ने इसका भी बहिष्कार किया. हमने पवित्र सेंगोल को स्थापित किया, केदारनाथ-बद्रीनाथ का विकास किया, महाकाल कॉरिडोर बनाया.. कांग्रेस नेताओं ने ही विरोध किया."

उन्होंने कहा, "आतंकवाद और उग्रवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने के कारण आज बहुत अच्छी स्थिति है." शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने "भारत के अर्थतंत्र को चौपट कर दिया." उन्होंने कहा, ''मनमोहन सिंह के समय भारत का अर्थतंत्र दुनिया के अर्थतंत्रों की तालिका में 11वें नंबर पर था. मोदी ने 10 साल में इसे 11वें से पांचवें नंबर पर लाने का काम किया.'' उन्होंने कहा कि मोदी ने आगामी पांच साल में अर्थतंत्र को पांचवें से तीसरे नंबर पर पहुंचाने का वादा किया है. इससे पहले शाह ने उदयपुर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और बीकानेर में पार्टी नेताओं के साथ बैठक की.

यह भी पढ़ें : लोकसभा चुनाव में BJP की 370, राजग की 400 से अधिक सीट पर होगी जीत : अमित शाह

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें : "तीसरा टर्म सत्‍ता भोग के लिए नहीं मांग रहा": बीजेपी राष्ट्रीय अधिवेशन में बोले पीएम मोदी



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)