कोलकाता : कांग्रेस ने जिसके खिलाफ दायर किया मामला, उसी की पैरवी करने पहुंचे चिदंबरम का विरोध

विरोध प्रदर्शन में शामिल एक वकील कौस्तव बागची ने कहा कि पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री एक ऐसी संस्था की ओर से पेश हो रहे हैं, जिसके द्वारा शेयरों की खरीद पर पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष द्वारा आपत्ति की जा रही है.

कोलकाता:

कांग्रेस पार्टी से सहानुभूति रखने का दावा करने वाले वकीलों के एक वर्ग ने कृषि-प्रसंस्करण कंपनी केवेंटर की ओर से पेश होने के कारण पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री एवं वरिष्ठ अधिवक्ता पी. चिदंबरम के विरूद्ध लिए प्रदर्शन किया. वकीलों ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चिदंबरम के विरूद्ध यह प्रदर्शन तब किया जब कांग्रेस नेता कलकत्ता उच्च न्यायालय से बाहर निकल रहे थे.

प्रदर्शनकारी वकीलों ने यह दावा किया कि चिदंबरम कांग्रेस पार्टी की भावनाओं के साथ खेल रहे हैं. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उनका कंपनी की ओर से अदालत में पेश होना उचित नहीं है, जब पश्चिम बंगाल कांग्रेस प्रमुख अधीर चौधरी ने राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार द्वारा मेट्रो डेयरी के शेयरों की बिक्री निजी कंपनी को करने को अदालत में चुनौती दी है.

विरोध प्रदर्शन में शामिल एक वकील कौस्तव बागची ने कहा कि पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री एक ऐसी संस्था की ओर से पेश हो रहे हैं, जिसके द्वारा शेयरों की खरीद पर पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष द्वारा आपत्ति की जा रही है.

बागची ने कहा, ‘चिदंबरम सीडब्ल्यूसी (कांग्रेस कार्य समिति) के एक सदस्य हैं और एक बहुत ही महत्वपूर्ण नेता हैं.'

बागची ने कहा कि उन्होंने ‘कांग्रेस के एक कार्यकर्ता के रूप में' विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया, न कि एक वकील के रूप में और कहा कि पार्टी कार्यकर्ता पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के हितों के खिलाफ काम करने वाले किसी भी नेता के साथ ऐसा ही व्यवहार करेंगे.

पीटीआई-भाषा द्वारा संपर्क किए जाने पर चौधरी ने कहा कि विरोध कुछ कांग्रेस समर्थकों की ‘स्वाभाविक' प्रतिक्रिया थी. चौधरी ने बरहामपुर से कहा, ‘मैंने सुना है कि कलकत्ता उच्च न्यायालय में मौजूद कुछ कांग्रेस समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया. मेरा मानना ​​है कि यह उनकी स्वाभाविक प्रतिक्रिया थी.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पार्टी सहयोगी चिदंबरम द्वारा मामले की पैरवी किये जाने पर चौधरी ने कहा कि एक पेशेवर दुनिया में किसी को भी अपने विकल्प चुनने का अधिकार है. उन्होंने कहा, ‘यह एक पेशेवर दुनिया है. यह व्यक्ति पर निर्भर करता है ... कोई भी उसे निर्देशित नहीं कर सकता.'



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)