विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From May 07, 2023

साल 2024 की गणतंत्र दिवस परेड में सिर्फ महिलाएं करेंगी शिरकत

रक्षा मंत्रालय ने इस मामले में समय रहते ही गृह मंत्रालय, संस्कृति मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय सहित अन्य मंत्रालयों को जानकारी दे दी है.

Read Time: 3 mins
साल 2024 की गणतंत्र दिवस परेड में सिर्फ महिलाएं करेंगी शिरकत
परेड का दृश्य (फाइल फोटो)
नई दिल्ली:

इस बार गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर एक नया इतिहास बनने जा रहा है. जानकारी के मुताबिक 26 जनवरी 2024 को कर्तव्य पथ (Kartavya Path) पर परेड केवल महिलाएं करती दिखेंगी. यहां तक कि परेड, मार्चिंग दस्ता, झांकी और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में भी सिर्फ महिलाएं ही नजर आएंगी. रक्षा मंत्रालय के एक प्रस्ताव में कहा गया कि विस्तृत विचार विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया है कि गणतंत्र दिवस 2024 में महिलाओं की भागीदारी होगी.

इन परेड करने वाली टुकड़ियों में मार्चिंग और बैंड परेड के दौरान झांकी और प्रदर्शन शामिल करने वाले दल भी है. रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) ने इस बारे में गृह, संस्कृति और शहरी विकास मंत्रालय समेत विभिन्न मंत्रालयों को सूचित भी कर दिया है. सेना के सूत्रों ने एनडीटीवी को बताया है कि हमें इस बारे में चिट्ठी मिली है और इस बात की चर्चा हो रही है कैसे इसे अमल में लाया जाए.

गौरतलब है कि देश की सैन्य ताक़त में महिलाओं की भूमिका धीरे-धीरे बढ़ रही है. और 2024 की गणतंत्र दिवस परेड इसी का आइना होगी. दिल्ली में कर्तव्य पथ पर सेना के तीनों अंगों, केंद्रीय पुलिस बलों, दिल्ली पुलिस, सभी बैंड्स एनसीसी, स्कूल-कॉलेज सबके दस्तों में सिर्फ़ और सिर्फ़ महिला अफ़सर, जवान और छात्राएं ही कदम से कदम मिलाकर परेड करती नज़र आएंगी. यही नहीं तमाम राज्यों और संस्थानों की झांकियां भी महिला केंद्रित ही होंगी. इस सिलसिले में रक्षा मंत्रालय की ओर एक अधिसूचना जारी की गई है.

इसके मुताबिक बड़े ही विस्तार से विचार विमर्श के बाद यह फैसला लिया गया है कि गणतंत्र दिवस परेड 2024 में कर्तव्य पथ पर मार्चपास्ट, बैंड, झांकी और प्रदर्शनों समेत सभी कार्यक्रमों में सिर्फ़ महिलाओं की ही भागीदारी होगी. 

रक्षा मंत्रालय ने इस मामले में समय रहते ही गृह मंत्रालय, संस्कृति मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय सहित अन्य मंत्रालयों को जानकारी दे दी है ताकि सब तैयारियां समय पर पूरी हो सकें. हाल के सालों में सेना और अर्धसैनिक बलों में महिलाओं की भूमिका बढ़ी है.  उन्हें लड़ाकू भूमिका से लेकर कमान तक दी जा रही है. वायुसेना में महिलाएं लड़ाकू विमान उड़ा रही हैं. नौसेना में भी महिलाओं की युद्धपोत पर तैनाती हो रही है... थल सेना में महिलाओं के लिये धीरे-धीरे नए दरवाज़े खोले जा रहे है जैसे हाल ही में तोपखाना रेजिमेंट में उन्हें कमान दी गई है.  कई जानकारों का मानना है कि सरकार के फ़ैसले से परेड का स्वरूप पूरी तरह बदला हुआ नज़र आएगा. 

ये भी पढ़ें : आवास सौंदर्यीकरण मामले में बीजेपी के बाद कांग्रेस ने भी केजरीवाल को घेरा

ये भी पढ़ें : राजस्थान के बीसलपुर बांध में नौका पलटने से सात लोग डूबे, पांच को बचाया, दो की तलाश जारी

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
प्रियंका गांधी वायनाड सीट से लड़ सकती हैं उपचुनाव, रायबरेली से सांसद बने रहेंगे राहुल गांधी : सूत्र
साल 2024 की गणतंत्र दिवस परेड में सिर्फ महिलाएं करेंगी शिरकत
राजनीति से संन्यास लेने वाले वीके पांडियन का काफी संघर्ष भरा रहा है जीवन
Next Article
राजनीति से संन्यास लेने वाले वीके पांडियन का काफी संघर्ष भरा रहा है जीवन
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;