विज्ञापन
Story ProgressBack

बच्चों की सेहत से खिलवाड़ : Nestle के Cerelac में ज़्यादा चीनी: रिपोर्ट, स्वास्थ्य मंत्रालय गंभीर

'पब्लिक आई' की रिपोर्ट में कहा गया है, "जबकि नेस्ले अपने प्रोडेक्ट्स (Nestle Baby Food Products) में मौजूद विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्वों को प्रमुखता से उजागर करती है, लेकिन जब  चीनी की बात आती है तो यह पारदर्शी नहीं है."

Read Time: 3 mins
बच्चों की सेहत से खिलवाड़ : Nestle के Cerelac में ज़्यादा चीनी: रिपोर्ट, स्वास्थ्य मंत्रालय गंभीर
भारत में नेस्ले के बेबी फूड प्रोडेक्ट्स में एक्ट्रा चीनी की मिलावट.
नई दिल्ली:

नेस्ले ने बेबी फूड प्रोडेक्ट के मामले में अंतरराष्ट्रीय दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया है. भारत में नेस्ले Nestle India) के दो सबसे ज्यादा बिकने वाले बेबी-फूड ब्रांडों में बहुत ज्यादा चीनी (Sugar In Nestle Baby Food Products) मिली होती है, ये खुलासा पब्लिक आई की एक जांच से हुआ है. इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय भी गंभीर है. स्वास्थ्य मंत्रालय के टॉप अधिकारियों के सूत्रों के मुताबिक नेस्ले के बेबी प्रोडेक्ट्स में चीनी मिले होने की रिपोर्ट को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय गंभीर है. FSSAI रिपोर्ट की जांच कर रही है. जांच के बाद इस रिपोर्ट को साइंटिफिक पैनल के सामने रखा जाएगा. 

Advertisement

नेस्ले के बेबी फूड ब्रांच भारत में बड़ी मात्रा में बेचे जाते हैं. खास बात यह है कि  यूनाइटेड किंगडम, जर्मनी स्विट्जरलैंड और दूसरे विकसित देशों में नेस्ले के ऐसे प्रोडक्ट्स शुगर फ्री हैं. नेस्ले, दुनिया की सबसे बड़ी कंज्यूमर गुड्स कंपनी है. यह कई देशों में बच्चों के दूध, ग्रेन प्रोडक्ट्स में चीनी और शहद मिलाती है. यह मोटापा और पुरानी बीमारियों को रोकने के कदम के बीच अंतरराष्ट्रीय दिशानिर्देशों का उल्लंघन है. यह उल्लंघन सिर्फ एशियाई, अफ़्रीकी और लैटिन अमेरिकी देशों में पाया गया है.

भारत में बच्चों की सेहत से खिलवाड़

सामने आया है कि भारत में, सभी 15 सेरेलैक बेबी प्रोडेक्ट्स में हर सर्विंग औसतन करीब 3 ग्राम चीनी मिली होती है. स्टडी में बताया गया है कि यही उत्पाद जर्मनी और ब्रिटेन में बिना चीनी मिलाए बेचा जा रहा है, जबकि इथियोपिया और थाईलैंड में इसमें करीब 6 ग्राम चीनी मिली होती है. इस तरह के प्रोडेक्ट्स की पैकेजिंग पर मौजूद पोषण संबंधी जानकारी में अक्सर चीनी की मात्रा का खुलासा भी नहीं किया जाता है. 

Advertisement

रिपोर्ट में कहा गया है, "जबकि नेस्ले अपने प्रोडेक्ट्स में मौजूद विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्वों को प्रमुखता से उजागर करती है, लेकिन जब  चीनी की बात आती है तो यह पारदर्शी नहीं है." अगर साल 2022 की बात करें तो भारत में कंपनी ने 20,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की कीमत के सेरेलैक प्रोडेक्ट बेचे थे. एक्सपर्ट्स का कहना है कि बेबी प्रोडेक्ट्स में ज्यादा चीनी मिलाना खतरनाक और गैरजरूरी अभ्यास है. 

Advertisement

बेबी प्रोडेक्ट्स में मिलाई जा रही चीनी

ब्राजील में संघीय विश्वविद्यालय पैराइबा के पोषण विभाग में महामारी विज्ञानी और प्रोफेसर रोड्रिगो वियाना ने कहा, "यह बहुत ही चिंता का विषय है. शिशुओं और छोटे बच्चों को दिए जाने वाले खाद्य पदार्थों में चीनी नहीं मिलानी चाहिए क्योंकि यह अनावश्यक और ज्यादा नशे की लत है."  उन्होंने कहा, "बच्चे मीठे स्वाद के आदी हो जाते हैं और ज्यादा मीठे खाना खाना चाहते हैं, जिससे एक नेगेटिव साइकिल शुरू हो जाती है. इससे बड़े होने पर पोषण-आधारित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, इनमें मोटापा और दूसरी पुरानी गैर-संचारी बीमारियां जैसे शुगर या हाई ब्लड प्रेशर शामिल हैं."

Advertisement

नेस्ले ने किया अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन

हालांकि  नेस्ले इंडिया के एक प्रवक्ता ने कहा कि वे सभी स्थानीय नियमों और अंतरराष्ट्रीय मानकों का पालन करते हैं. वह पिछले पांच सालों में अपने शिशु अनाज रेंज में शुगर को 30% तक कम कर चुके हैं. प्रवक्ता ने लाइवमिंट को बताया, "पिछले पांच सालों में, नेस्ले इंडिया ने अपने शिशु अनाज पोर्टफोलियो (दूध अनाज आधारित पूरक भोजन) में, शुगर को 30% तक कम कर दिया है."

Advertisement

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
पतंजलि की एक और गड़बड़ी आई सामने, ASCI ने 26 विज्ञापनों को बताया "भ्रामक"
बच्चों की सेहत से खिलवाड़ : Nestle के Cerelac में ज़्यादा चीनी: रिपोर्ट, स्वास्थ्य मंत्रालय गंभीर
रायबरेली और अमेठी में वोटिंग खत्म, जानें राहुल-स्‍मृति की सीट पर कितने पड़े वोट
Next Article
रायबरेली और अमेठी में वोटिंग खत्म, जानें राहुल-स्‍मृति की सीट पर कितने पड़े वोट
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;