केरल में मां और बेटे ने एक साथ लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास की

केरल के मलप्पुरम की एक 42 वर्षीय महिला और उसके 24 वर्षीय बेटे ने लोक सेवा आयोग (PSC) की परीक्षा एक साथ पास की है.

केरल में मां और बेटे ने एक साथ लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास की

मां-बेटे दोनों ने साथ ही पीसीएस परीक्षा पास किए.

मलप्पुरम :

केरल के मलप्पुरम की एक 42 वर्षीय महिला और उसके 24 वर्षीय बेटे ने लोक सेवा आयोग (PSC) की परीक्षा एक साथ पास की है. "हम एक साथ कोचिंग क्लास में गए.  मेरी माँ ने मुझे इसमें शामिल होने के लिए प्रेरित किया और मेरे पिता ने हमारे लिए सभी सुविधाओं की व्यवस्था की. हमें अपने शिक्षकों से बहुत प्रेरणा मिली. हम दोनों ने एक साथ पढ़ाई की लेकिन कभी नहीं सोचा था कि हम एक साथ क्वालीफाई करेंगे. हम दोनों हैं बहुत खुश," ANI समाचार एजेंसी से बात करते हुए बेटे विवेक ने कहा. 

जब उनका बेटा 10वीं कक्षा में था तो बिंदू ने उसे प्रोत्साहित करने के लिए किताबें पढ़ाना शुरू किया. लेकिन साथ साथ वो भी खुद ही केरल पीएससी परीक्षा के लिए तैयारी करने लग गईं. नौ वर्षों के अंदर ही वे और उनका बेटा एक साथ सरकारी नौकरी करने के लिए तैयार हैं.

बिंदू ने लोअर डिवीजनल क्लर्क (एलडीसी) की परीक्षा 38 रैंक के साथ पास की, जबकि उनके बेटे ने 92 रैंक के साथ लास्ट ग्रेड सर्वेंट्स (एलजीएस) की परीक्षा पास की. बिंदु ने इससे पहले इन परीक्षाओं में तीन बार प्रयास किए थे. यह उनका चौथ प्रयास था जो सफल रहा. 

उसने पिछले 10 साल आंगनबाडी केंद्र में बच्चों को पढ़ाया. बिंदु ने कहा कि उसके दोस्त, उसका बेटा और उसके कोचिंग सेंटर के प्रशिक्षक इस सफर में लगातार उनका साथ देते रहे.

उन्होंने कहा कि एक पीएससी उम्मीदवार को क्या होना चाहिए और क्या नहीं, इसका वह आदर्श उदाहरण हैं. इससे उसका मतलब था कि वह लगातार पढ़ाई नहीं करती थी. परीक्षा की तारीख से छह महीने पहले  उसने पढ़ना शुरू किया. उसके बाद, वह तीन साल बाद अगले दौर के परीक्षाओं की घोषणा तक एक ब्रेक लेती थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केरल में स्ट्रीम -2 पदों के लिए आयु सीमा 40 है, लेकिन विशिष्ट श्रेणियों के लिए कुछ अपवाद हैं. अन्य पिछड़ा वर्ग समूह में छूट तीन साल के लिए है. अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और विधवाओं के लिए यह पांच साल के लिए है.