"महात्मा गांधी का मेरे जीवन में बहुत महत्व, उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए भावुक हो गया हूं": ब्राजील के राष्ट्रपति

ब्राजील के राष्ट्रपति इनासियो लूला डी सिल्वा ने कहा, "मैं आप सभी से कहना चाहता हूं कि ब्राजील जी20 की अध्यक्षता करेगा और हम कम से कम वैसा ही कुछ करने का प्रयास करने का पुरजोर प्रयास करेंगे जैसा कि भारत के हमारे भाइयों और बहनों ने किया."

ब्राजील के राष्ट्रपति इनासियो लूला डी सिल्वा को पीएम मोदी ने जी20 की अध्यक्षता सौंपी.

नई दिल्ली :

ब्राजील के राष्ट्रपति इनासियो लूला डी सिल्वा ने कहा कि जब वे दिल्ली के राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने गए तो भावुक हो गए. उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी का उनके राजनीतिक जीवन में बहुत महत्व है.

जी20 प्रेसीडेंसी के समापन सत्र में अपनी टिप्पणी में ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा, "मैं प्रधानमंत्री मोदी से कहना चाहूंगा कि जब मैं अपने प्रिय गांधी को श्रद्धांजलि देने गया तो मैं व्यक्तिगत रूप से बहुत भावुक हो गया. हर कोई जानता है. मेरे राजनीतिक जीवन में महात्मा गांधी का बहुत महत्व है क्योंकि अहिंसा के लिए उनका संघर्ष आदर्श है जिसका मैंने तब जब मैं श्रमिक आंदोलन में था, कई दशकों तक अनुसरण किया. यही कारण है कि मैं बहुत प्रभावित और भावुक हूं. आज हमें यह श्रद्धांजलि अर्पित करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद.''

ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा, "मैं आप सभी से कहना चाहता हूं कि ब्राजील जी20 की अध्यक्षता करेगा और हम कम से कम वैसा ही कुछ करने का प्रयास करने का पुरजोर प्रयास करेंगे जैसा कि भारत के हमारे भाइयों और बहनों ने किया." 

राजघाट पर महात्मा गांधी को दी श्रद्धांजलि

लुइज़ इनासियो लूला डी सिल्वा ने यह बयान तब दिया जब उन्होंने और G20 में आए दुनिया के अन्य नेताओं ने रविवार की सुबह राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की.

इनासियो लूला डी सिल्वा ने रविवार को जी20 शिखर सम्मेलन आयोजित करने के लिए भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया. उन्होंने ग्रुप की अपने देश की अध्यक्षता में तीन प्राथमिकताएं तय कीं. ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा कि इनमें सामाजिक समावेशन और भूख के खिलाफ लड़ाई, ऊर्जा परिवर्तन, सतत विकास और वैश्विक शासन संस्थानों में सुधार शामिल हैं.

'एक निष्पक्ष दुनिया और एक टिकाऊ ग्रह का निर्माण'

दिल्ली में G20 शिखर सम्मेलन के समापन सत्र में इनासियो लूला डी सिल्वा ने कहा, "ये सभी प्राथमिकताएं ब्राज़ीलियाई राष्ट्रपति पद के आदर्श वाक्य का हिस्सा हैं, जिसमें कहा गया है 'एक निष्पक्ष दुनिया और एक टिकाऊ ग्रह का निर्माण.' भूख और गरीबी के खिलाफ वैश्विक गठबंधन और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ वैश्विक गतिशीलता के लिए दो कार्य बल बनाए जाएंगे."

उन्होंने कहा, "...तकनीकी समूह और प्रारंभिक मंत्रिस्तरीय बैठकें हमारे देश के सभी पांच क्षेत्रों के कई शहरों में आयोजित की जाएंगी. उससे पहले नवंबर 2024 में रियो डी जनेरियो शिखर सम्मेलन में आप सभी का स्वागत करते हुए मैं बहुत सम्मानित महसूस करूंगा. मैं पीएम मोदी को बहुत-बहुत धन्यवाद देना चाहता हूं और भारतीय लोगों को इस कार्यक्रम के आयोजन में उनकी क्षमता के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं." 

नवंबर में डिजिटल सत्र के आयोजन का प्रस्ताव

पीएम मोदी ने जी20 की अध्यक्षता ब्राजील के राष्ट्रपति इनासियो लूला डी सिल्वा को सौंपी और भारत की अध्यक्षता के दौरान लिए गए फैसलों पर हुई प्रगति की समीक्षा के लिए नवंबर में एक डिजिटल सत्र के आयोजन का प्रस्ताव दिया. ब्राजील आधिकारिक रूप से इस साल एक दिसंबर को जी20 समूह के अध्यक्ष का कार्यभार संभालेगा.

पीएम मोदी ने कहा, ‘‘भारत ने ब्राजील को गैवल (हथौड़ा) सौंप दिया है. हमारा अटूट विश्वास है कि वे समर्पण, दूरदर्शिता के साथ नेतृत्व करेंगे और समृद्धि के साथ ही वैश्विक एकता को भी आगे बढ़ाएंगे.'' उन्होंने दिल्ली में रविवार को संपन्न हुए जी20 शिखर सम्मेलन में लिए गए फैसलों पर हुई प्रगति की समीक्षा के लिए नवंबर के अंत में एक डिजिटल सत्र के आयोजन का प्रस्ताव दिया.

विश्व में शांति एवं सौहार्द की प्रार्थना के साथ सम्मेलन का समापन
 

उन्होंने कहा, ‘‘मेरा प्रस्ताव है कि हमें नवंबर के अंत में जी20 के डिजिटल सत्र का आयोजन करना चाहिए. उस सत्र में हम उन मुद्दों की समीक्षा कर सकते हैं, जिन पर इस शिखर सम्मेलन के दौरान सहमति बनी थी. हमारे दल इसका विवरण सभी के साथ साझा करेंगे. मैं उम्मीद करता हूं कि आप सभी इसमें (सत्र में) शामिल होंगे.''

पीएम मोदी ने जी20 शिखर सम्मेलन के समापन की घोषणा करने के साथ संस्कृत के एक श्लोक का संदर्भ देते हुए पूरे विश्व में शांति एवं सौहार्द की प्रार्थना की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जी20 का अगला शिखर सम्मेलन नवंबर 2024 में रियो डी जेनेरियो में होगा.