घर पर जन्मे जुड़वां बच्चों की मौत, रास्ता खराब होने से डोली में डालकर जच्चा को ले गए अस्पताल

एक मां को अपने जुड़वा बच्चों को इसलिए खोना पड़ा, क्योंकि उन्हें समय पर इलाज नहीं मिला.

मुंबई:

महाराष्ट्र के पालघर जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की पोल खोलती एक खबर आई है कि जहां एक मां को अपने जुड़वां बच्चों को इसलिए खोना पड़ा, क्योंकि उन्हें समय पर इलाज नहीं मिला. इतना ही नहीं, डिलिवरी के वक्त मां का ज्यादा खून बहने से उसे भी अस्पताल ले जाने के लिए कोई वाहन नहीं मिला, बल्कि उसे डोली से ले जाया गया. 

मोखाडा तहसील के मरकडवाडी में स्वास्थ्य सेवाएं नहीं थी, तो एक महिला की डिलिवरी घर पर ही करानी पड़ी. महिला ने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया, लेकिन डिलिवरी सात महीने में ही होने से बच्चे कमजोर पैदा हुए थे. उन्हें तुरंत इलाज की जरूरत थी, जो उन्हें नहीं मिला. इसके बाद दोनों बच्चों की मां के सामने ही मौत हो गई. 

MP में लाचार स्वास्थ्य व्यवस्था: नहीं मिला एम्बुलेंस तो बीमार पिता को ठेले पर अस्पताल ले गया बेटा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वहीं, मां के शरीर से ज्यादा खून बहने से उसकी हालात भी नाजुक हो गई. जब उसकी हालात ज्यादा खराब हुई तो उसे डोली में डालकर अस्पताल ले जाया गया. रास्ता नहीं होने की वजह से उसे करीब तीन किलोमीटर तक डोली में डालकर अस्पताल ले जाया गया.