विज्ञापन
Story ProgressBack

लोकसभा चुनाव: मणिपुर में गोलीबारी की घटनाओं के बीच 68 प्रतिशत से अधिक मतदान

इनर मणिपुर की सभी 32 विधानसभाओं में इंफाल पूर्व की केइराओ विधानसभा में सर्वाधिक 83.81 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाला.

Read Time: 3 mins
लोकसभा चुनाव: मणिपुर में गोलीबारी की घटनाओं के बीच 68 प्रतिशत से अधिक मतदान
इंफाल:

मणिपुर में गोलीबारी और डराने-धमकाने तथा ईवीएम में तोड़फोड़ की घटनाओं के बीच 68 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज किया गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. साठ-सदस्यीय मणिपुर विधानसभा के 32 निर्वाचन क्षेत्र ‘इनर मणिपुर' लोकसभा सीट के तहत आते हैं, जबकि 28 विधानसभा क्षेत्र ‘आउटर मणिपुर' संसदीय क्षेत्र का हिस्सा हैं.

भाजपा और कांग्रेस दोनों ने एक दूसरे पर हिंसा में शामिल होने और आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाया.

पिछले साल मई से जातीय हिंसा को झेल रहे मणिपुर में परंपरागत रूप से उच्च मतदान होता रहा है. 2019 के लोकसभा चुनाव में राज्य में 82 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था.

इनर मणिपुर लोकसभा सीट पर 72.3 प्रतिशत वोट पड़े, जबकि ‘आउटर मणिपुर' संसदीय क्षेत्र के 15 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान का आंकड़ा 61.98 प्रतिशत रहा. आउटर मणिपुर के शेष 13 विधानसभा क्षेत्रों में दूसरे चरण के तहत 26 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.

इनर मणिपुर की सभी 32 विधानसभाओं में इंफाल पूर्व की केइराओ विधानसभा में सर्वाधिक 83.81 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाला.

वहीं, आउटर मणिपुर सीट के तहत आने वाले चंदेल में सबसे ज्यादा 85.54 प्रतिशत वोट पड़े. इस सीट पर नगा और कुकी दोनों जातियों के मतदाता हैं. अधिकारियों ने बताया कि इनर मणिपुर सीट पर कई जगहों से गोलीबारी और डराने-धमकाने की घटनाएं सामने आईं हैं.

पुलिस ने कहा कि इंफाल पूर्वी जिले के खुरई विधानसभा क्षेत्र के मोइरांगकम्पु साजेब में एक ईवीएम मशीन में आग लगा दी गई और अज्ञात हथियारबंद लोगों ने 65-वर्षीय एक व्यक्ति को गोली मार दी.

पुलिस ने बताया कि वह व्यक्ति उस वक्त एक मतदान केंद्र के पास खड़ा था जब हथियारबंद हमलावरों ने गोलीबारी शुरू कर दी. पुलिस ने बताया कि घायल व्यक्ति को इंफाल के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस ने कहा कि हथियारबंद लोगों ने बिष्णुपुर जिले के मोइरांग विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले थमनापोकपी में एक मतदान केंद्र के पास हवा में कई गोलियां चलाईं, जिससे मतदाता भागने लगे. पुलिस के मुताबिक, स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को मौके पर भेजा गया.

उसने बताया कि अज्ञात हथियारबंद लोगों ने विभिन्न स्थानों पर एक विशेष राजनीतिक दल के चुनाव एजेंट को भी धमकाया और उन्हें मतदान केंद्र छोड़ने के लिए कहा. एक अधिकारी ने बताया कि इंफाल पश्चिम जिले के उरीपोक और इरोइशेम्बा में हथियारबंद लोगों ने एक पार्टी के एजेंट को मतदान केंद्र परिसर छोड़ने के लिए कहा.

अधिकारी ने कहा, ‘‘धमकी से क्रोधित होकर, इरोइशेम्बा के मतदाता जबरन मतदान केंद्रों में घुस गए और चुनाव सामग्री और उपकरणों को नष्ट कर दिया.”इंफाल पूर्वी जिले के केइराओ विधानसभा क्षेत्र के कियामगेई में हथियारबंद लोगों ने गोलीबारी की और कांग्रेस के मतदान एजेंट को डराया-धमकाया.

इससे पहले सुबह इंफाल पूर्वी जिले के खोंगमान जोन 4 में मतदाताओं और अज्ञात लोगों के बीच विवाद हुआ, जिसके बाद ईवीएम को नुकसान पहुंचाया गया.
 

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
कौन हैं मोहम्मद मोखबर, जो ईरान के कार्यवाहक राष्ट्रपति बने हैं?
लोकसभा चुनाव: मणिपुर में गोलीबारी की घटनाओं के बीच 68 प्रतिशत से अधिक मतदान
पुणे : बेवफाई के शक में एक शख्स ने पत्नी को बुरी तरह पीटा, प्राइवेट पार्ट में ताला लगा दिया
Next Article
पुणे : बेवफाई के शक में एक शख्स ने पत्नी को बुरी तरह पीटा, प्राइवेट पार्ट में ताला लगा दिया
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;