विज्ञापन
Story ProgressBack

खुल गए बाबा केदारनाथ के कपाटः उत्तराखंड के 8 जिलों में यलो अलर्ट, यात्रा से पहले जान लीजिए मौसम का पूरा हाल

मौसम विभाग के अनुसार इन इलाकों में आने वाले दिनों में भारी से भारी बारिश हो सकती है. ऐसे में चार धाम यात्रा पर जा रहे श्रद्धालुओं को अतिरिक्त एहतियात बरतने की जरूरत है.

Read Time: 3 mins
खुल गए बाबा केदारनाथ के कपाटः उत्तराखंड के 8 जिलों में यलो अलर्ट, यात्रा से पहले जान लीजिए मौसम का पूरा हाल
केदारनाथ के खुले कपाट, यात्रा शुरू, बारिश का भी अलर्ट जारी
नई दिल्ली:

आप अगर अगले कुछ दिनों में केदारनाथ के साथ-साथ दूसरे धाम की यात्रा का मन बना रहे हैं तो घर से निकलने से पहले मौसम विभाग की चेतावनी पर गौर जरूर कीजिएगा. दरअसल, मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों तक उत्तरखंड के कई जिलों में भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है. जिन जिलों के लिए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है. उनमें उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा, चंपावत, और नैनीताल शामिल. ऐसे में गंगोत्री, केदारनाथ, यमुनोत्री, बद्रीनाथ और हेमकुंड साहिब जैसे धाम के आसपास पर भारी बारिश होने का अनुमान है. 

मौसम विभाग ने अपने अलर्ट में कहा है कि इन इलाकों में आने वाले कुछ दिनों में भारी बारिश हो सकती है. विभाग के अनुसार 9 मई से 13 मई तक गंगोत्री में भारी बारिश हो सकती है. केदरानाथ में भी 9 मई से 13 मई तक तेज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.  

आपको बता दें कि उत्तराखंड के चार धामों के नाम से प्रसिद्ध बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धामों के कपाट खुल चुके हैं. अक्षय तृतीया के अवसर पर गंगोत्री,यमुनोत्री और केदारनाथ के कपाट खोले गए हैं जबकि इसके दो दिन बाद यानी 12 मई को बदरीनाथ के कपाट भी भक्‍तों के लिए खोल दिए जाएंगे.

Latest and Breaking News on NDTV

चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले ही देश भर के श्रद्धालुओं में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है. केदारनाथ और बदरीनाथ के लिए लाखों लोग रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं.

यात्रियों की संख्या सीमित करने का प्रावधान नहीं

हर साल केदारनाथ (Kedarnath Yatra 2024) के दर्शन के लिए लाखों की संख्‍या में भक्‍त आते हैं. उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित केदारनाथ मंदिर है की खास बात ये है कि यह 12 ज्‍योर्तिर्लिंगों में से एक माना जाता है. इसके कपाट साल के 6 माह  खुला रहता है और 6 महीने के लिए बंद रहता है. बाबा केदारनाथ 6 महीने ऊखीमठ में प्रवास करते हैं. इस बार केदारनाथ धाम की यात्रा के लिए लाखों लोगों ने रजिस्ट्रेशन (Kedarnath Dham Registration) कराया है. पिछली बार की तरह इस बार किसी भी धाम के लिए यात्रियों की संख्या सीमित करने का प्रावधान नहीं है. लेकिन जो भी श्रद्धालु चारधाम यात्रा (Char Dham Yatra 2024) करना चाहता है उसे इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होगा.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
46 साल बाद आज खुलेंगा 12वीं सदी का ‘रत्न भंडार’, क्‍या खजाने की निगरानी कर रहा सांप
खुल गए बाबा केदारनाथ के कपाटः उत्तराखंड के 8 जिलों में यलो अलर्ट, यात्रा से पहले जान लीजिए मौसम का पूरा हाल
चीख-पुकार...मंजर देख कांप जाएगी रूह, उन्नाव हादसे के चश्मदीद ने बताया आंखों देखा हाल
Next Article
चीख-पुकार...मंजर देख कांप जाएगी रूह, उन्नाव हादसे के चश्मदीद ने बताया आंखों देखा हाल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;