विज्ञापन
Story ProgressBack

हैदराबाद मेट्रो क्या बिकने वाली है? देश में पहली बार होगा ऐसा; L&T कंपनी के प्रेसीडेंट का जवाब

कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान 6 लोक-लुभावन वादे अपने घोषणा-पत्र में किए थे. इसी में एक महालक्ष्मी बस योजना थी. इसमें वादा किया गया था कि महिलाओं को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा की इजाजत मिलेगी.

Read Time: 3 mins
हैदराबाद मेट्रो क्या बिकने वाली है? देश में पहली बार होगा ऐसा; L&T कंपनी के प्रेसीडेंट का जवाब
आर शंकर रमन का कहना है कि महालक्ष्मी बस योजना के कारण मेट्रो में यात्रियों की संख्या कम हो गई है.
नई दिल्ली:

हैदराबाद मेट्रो क्या बिकने वाली है? इसके 90 फीसदी शेयर रखने वाली कंपनी एल एंड टी के प्रेसीडेंट आर शंकर रमण इस पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं. एल एंड टी 2026 के बाद हैदराबाद मेट्रो प्रोजेक्ट को बेचने की प्लानिंग कर रही है. एल एंड टी को हैदराबाद मेट्रो प्रोजेक्ट 65 साल की लीज पर मिला था. देश में यह पहला मामला है कि कोई कंपनी मेट्रो प्रोजक्ट को बेचने पर विचार कर रही है.  

कंपनी के निदेशक आर शंकर रमण ने कहा कि एलएंडटी 2026 के बाद हैदराबाद मेट्रो परियोजना को बेचने की योजना बना रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार द्वारा शुरू की गई मुफ्त बस योजना (महालक्ष्मी बस योजना) के कारण मेट्रो में यात्रियों की संख्या कम हो गई है. इंडिया टुडे के सहयोगी चैनल बिजनेस टुडे टीवी के साथ एक साक्षात्कार में एल एंड टी के प्रेसीडेंट और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) आर शंकर रमन ने कहा कि महिलाएं बसों में अधिक यात्रा कर रही हैं. हालांकि, सरकार ने बसों की संख्या में वृद्धि नहीं की है. 

क्या है महालक्ष्मी बस योजना?
तेलंगाना में विधानसभा चुनाव पिछले साल 30 नवंबर को हुआ था और नतीजे 3 दिसंबर को आए थे. इस विधानसभा चुनाव में पहली नजर में टक्कर के चंद्रशेखर राव की भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) और भारतीय जनता पार्टी के बीच थी. कांग्रेस ने इस दौरान 6 लोक-लुभावन वादे अपने घोषणा-पत्र में किए. इसी में एक महालक्ष्मी बस योजना थी. इस योजना के तहत कांग्रेस ने वादा किया था कि तेलंगाना निवासी सभी आयु वर्ग की लड़कियां और महिलाएं और ट्रांसजेंडर व्यक्ति तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन निगम द्वारा संचालित बसों में मुफ्त यात्रा कर सकेंगी. वादों का ऐसा असर हुआ कि बीआरएस और भाजपा बेहद कम सीटों पर सिमट गए और राज्य में कांग्रेस की बड़े मार्जिन से सरकार बन गई.

कितना हो रहा खर्च?
कांग्रेस सरकार ने पहली कैबिनेट बैठक में नौ दिसंबर को अपनी शीर्ष नेता सोनिया गांधी के जन्मदिन के मौके पर महिलाओं के लिए मुफ्त बस यात्रा के योजना की शुरुआत की. डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट के अनुसार, तेलंगाना सरकार पर 3 .14 लाख करोड़ का कर्ज है. तेलंगाना सरकार को अपने 6 लोक-लुभावन वादे पूरे 70,000 करोड़ का खर्च वहन पड़ेगा. 

सोनिया गांधी ने आज भी की तारीफ
कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के मतदान के बीच सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी की ओर से 'महालक्ष्मी' योजना के रूप में दी गई गारंटी से देश की महिलाओं की जिंदगी बदलने में मदद मिलेगी. उन्होंने एक संदेश में यह भी कहा कि महिलाओं की मेहनत और तपस्या के साथ न्याय करने के लिए कांग्रेस ने यह क्रांतिकारी कदम उठाया है. सोनिया गांधी ने कहा, 'कर्नाटक और तेलंगाना में पहले ही हमारी गारंटियों ने करोड़ों परिवारों की जिंदगी बदल दी है. चाहे मनरेगा हो, सूचना का अधिकार हो, शिक्षा का अधिकार हो या भोजन सुरक्षा.. हमारी योजनाओं से कांग्रेस पार्टी ने लाखों भारतीयों को ताकत दी है. ‘महालक्ष्मी' योजना हमारे इस काम को आगे बढ़ाने की सबसे नई गारंटी है.'   

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
महाराष्ट्र के किसान ने दुनिया में बजाया डंका, संयुक्त राष्ट्र एजेंसी ने सिद्धेश सकोरे को "लैंड हीरो" नामित किया
हैदराबाद मेट्रो क्या बिकने वाली है? देश में पहली बार होगा ऐसा; L&T कंपनी के प्रेसीडेंट का जवाब
जी-7 के लिए इटली पहुंचे पीएम मोदी बोले- 'सार्थक चर्चा को लेकर उत्सुक'
Next Article
जी-7 के लिए इटली पहुंचे पीएम मोदी बोले- 'सार्थक चर्चा को लेकर उत्सुक'
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;