विज्ञापन
Story ProgressBack

Smoky पान से कैसे 12 साल की बच्ची के पेट में हुआ छेद? डॉक्टर से जानिए लिक्विड नाइट्रोजन कितनी खतरनाक

डॉ विजय ने कहा कि कुछ राज्य सरकारें लिक्विड नाइट्रोजन के उपयोग नहीं करने को लेकर सलाह देती हैं, लेकिन नियम बहुत सख्त नहीं हैं.

Read Time: 3 mins
Smoky पान से कैसे 12 साल की बच्ची के पेट में हुआ छेद? डॉक्टर से जानिए लिक्विड नाइट्रोजन कितनी खतरनाक
बेंगलुरु:

हाल ही में बेंगलुरु में एक शादी समारोह में लिक्विड नाइट्रोजन वाला 'स्मोकी पान' खाने के बाद 12 साल की एक लड़की के पेट में छेद हो गया. पेट में तेज दर्द और सूजन की शिकायत के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. लड़की का ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर ने एनडीटीवी को बताया कि जब हमने उसकी जांच की, तो देखा कि उसके पेट में एक होल था और उसमें गैस भरी हुई थी.

टेस्ट के बाद लड़की में पर्फारेशन पेरिटोनिटिस नाम की एक बीमारी का पता चला.

बेंगलुरु के नारायण हेल्थ के डॉ. विजय एचएस ने कहा, "इससे उसकी जान को खतरा हो सकता था. इसलिए, हमने तुरंत उसका ऑपरेशन करने का फैसला किया." डॉक्टर ने सर्जरी कर पेट के छेद वाले हिस्से को निकाल दिया. बच्ची तीन दिन तक आईसीयू में रही.
खाने में लिक्विड नाइट्रोजन का उपयोग

नए फूड ट्रेंड में आजकल लिक्विड नाइट्रोजन का उपयोग किया जा रहा है. जमी हुईं मिठाइयां बनाने या लिक्विड नाइट्रोजन में डूबे खाद्य पदार्थों को हवा के संपर्क में लाकर वाष्प के बादल बनाने में भी इसका उपयोग किया जाता है. 

डॉ. विजय ने कहा, "बच्चे लिक्विड नाइट्रोजन की ओर अट्रैक्ट होते हैं क्योंकि ये धुआं सामान्य तापमान में भी बनता दिखता है. वे इसे देखते हैं और सोशल मीडिया रीलों के बारे में सोचते हैं."

लिक्विड नाइट्रोजन एक तरल है, जिसका ब्वायलिंग प्वाइंट काफी कम होता है और ये कमरे के तापमान पर गैस के रूप में मौजूद होता है. इसका उपयोग लंबे समय से खाद्य उद्योग में मैन्यूफैक्चरिंग प्रोसेट के दौरान माइक्रोबियल विकास को रोकने और कम करने के लिए किया जाता रहा है.

लिक्विड नाइट्रोजन के हानिकारक प्रभाव

लिक्विड या कम तापमान वाली गैस त्वचा पर जलने जैसा प्रभाव पैदा करती है. लिक्विड का बेहद कम तापमान संपर्क में आने पर गंभीर फ्रोस्टबाइट या आंखों की क्षति का कारण बन सकता है. इससे सांस लेना या निगलना, अत्यधिक ठंड के कारण गैस, दम घुटना और एयरवे या गैस्ट्रिक छिद्र भी हो सकता है.

डॉक्टर ने कहा, "लिक्विड नाइट्रोजन का तापमान -190 से -200 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है. इसलिए, यदि आप ऐसी किसी चीज़ को छूते हैं, तो आपको जलन का अनुभव होगा. हम इसे कोल्ड बर्न कहते हैं. भले ही आप इसका 2 मिलीलीटर या 2 मिलीग्राम सेवन करें. ये 1.5लीटर गैस छोड़ सकता है."
लिक्विड नाइट्रोजन को लेकर कार्रवाई

डॉ विजय ने कहा, कुछ राज्य सरकारें लिक्विड नाइट्रोजन के उपयोग नहीं करने को लेकर सलाह देती हैं, लेकिन "नियम बहुत सख्त नहीं हैं."

तमिलनाडु सरकार ने गुरुवार को फूड बिजनेस ऑपरेटर को बिस्कुट, आइसक्रीम, वेफर बिस्कुट आदि जैसे खाद्य पदार्थों के साथ सीधे उपभोग के लिए लिक्विड नाइट्रोजन का उपयोग करने के खिलाफ चेतावनी दी और कहा कि इसे सर्व करने से पहले लिक्विड नाइट्रोजन को भोजन या पेय से पूरी तरह से इवैपोरेटेड किया जाना चाहिए.

एक सरकारी विज्ञप्ति में कहा गया है, "लिक्विड नाइट्रोजन (आईएनएस 941) को केवल प्रोसेसिंग सहायता के रूप में, कॉन्टैक्ट फ्रीजिंग और कलरिंग एजेंटों (ऐसे पदार्थ जो भोजन के संपर्क में तेजी से जमने का कारण बन सकते हैं) के रूप में उत्पाद श्रेणी डेयरी आधारित डेसर्ट जैसे आइसक्रीम में प्रोसेसिंग कैटेगरी के तहत एपेंडिक्स सी-एस.नंबर 9 के अनुसार अनुमति दी गई है.''

कर्नाटक में ऐसी कोई रोक या सलाह नहीं है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
अरविंद केजरीवाल फिलहाल तिहाड़ में रहेंगे, दिल्ली हाईकोर्ट ED की अर्जी पर 25 जून को देगी फैसला
Smoky पान से कैसे 12 साल की बच्ची के पेट में हुआ छेद? डॉक्टर से जानिए लिक्विड नाइट्रोजन कितनी खतरनाक
करंट के झटके, पवित्रा का पहला वार... मर्डर मिस्‍ट्री केस में एक्‍टर दर्शन, पवित्रा का बचना मुश्किल
Next Article
करंट के झटके, पवित्रा का पहला वार... मर्डर मिस्‍ट्री केस में एक्‍टर दर्शन, पवित्रा का बचना मुश्किल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;