विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 21, 2023

शराब नीति घोटाला मामले में मनीष सिसोदिया ने लगाई जमानत की गुहार, कोर्ट ने ED को जारी किया नोटिस

दिल्‍ली शराब नीति घोटाला मामले में राऊज एवेन्यू कोर्ट ने सिसोदिया की जमानत याचिका पर ईडी को नोटिस जारी किया है. इस मामले की सुनवाई 25 मार्च को ईडी मामले में सिसोदिया की जमानत पर सुनवाई होगी.

Read Time: 3 mins
शराब नीति घोटाला मामले में मनीष सिसोदिया ने लगाई जमानत की गुहार, कोर्ट ने ED को जारी किया नोटिस
आबकारी मामले में सीबीआई मामले में सभी आरोपियों को जमानत मिल चुकीं है
नई दिल्‍ली:

दिल्‍ली के कथित 'शराब नीति घोटाले' में फंसे आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया की तरफ से प्रवर्तन निदेशालय मामले में जमानत याचिका दाखिल की गई है. राऊज एवेन्यू कोर्ट ने सिसोदिया की जमानत याचिका पर ईडी को नोटिस जारी किया है. इस मामले की सुनवाई 25 मार्च को ईडी मामले में सिसोदिया की जमानत पर सुनवाई होगी. सिसोदिया की सीबीआई जमानत के मामले में वकील दयान कृष्णन ने दलील दी कि मोबाइल फोन सीज हो चुका है. अन्य फोन सेट को लेकर हम जवाब दे चुके हैं. हमारी अपील है कि अब जमानत पर रिहाई का आदेश दिया जाए.

मनीष सिसोदिया के वकील ने कहा कि सीबीआई कानून के दायरे में काम नहीं कर रही हैं. सीबीआई को जो डिवाइस मिले हैं, उसमें सीधे तौर पर मनीष के खिलाफ कुछ नहीं मिला है. इस मामले में सीबीआई सिर्फ मनीष को परेशान कर रही है. आबकारी मामले में सीबीआई मामले में सभी आरोपियों को जमानत मिल चुकीं है. सीबीआई के पास इस मामले में अब कुछ नया नहीं है. 

सिसोदिया के वकील ने पी. चिदम्बरम केस का हवाला दिया और कहा, "मनीष सिसोदिया की पत्नी मल्टीप्ल बीमारी से जूझ रही है. उनकी देखभाल करने के लिए कोई नहीं है. उनका मेडिकल रिपोर्ट कोर्ट में जमा किया जा चुका है. इस मामले में मनीष सिसोदिया को जमानत दी जानी चाहिए. मनीष सिसोदिया ने जांच एजेंसी का जांच में हमेशा सहयोग दिया है. मोबाइल फोन सीज हो चुका है, अन्य फोन सेट को लेकर हम जवाब दे चुके हैं. हमारी अपील अब जमानत पर रिहाई किया जाए.

सिसोदिया के वकील ने कहा कि उपराज्‍यपाल द्वारा सीबीई को जांच सौंपे जाने वाले दिन मोबाइल फोन बदला जाना सिर्फ एक इत्तेफाक भर है. वह एक पब्लिक सर्वेंट हैं. मामले में दो और पब्लिक सर्वेंट है, जिनको गिरफ्तार भी नहीं किया गया और उनको ज़मानत मिल चुकी है. 

इस पर सीबीआई ने मनीष की दलील का विरोध किया और कहा कि मनीष  के पास 18 मंत्रालय थे, उनको सारी जानकारी थी.आबकारी मामले में एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट में जिसको रवि धवन ने तैयार किया था, उसे देखकर डिस्टर्व हो गए. इस मामले में सीधे तौर पर लोगों को फायदा पहुचाना उद्देश्‍य था.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
केरल से केरलम : विधानसभा में सर्वसम्मति से नाम बदलने का प्रस्ताव पारित; केंद्र की मंजूरी का इंतजार
शराब नीति घोटाला मामले में मनीष सिसोदिया ने लगाई जमानत की गुहार, कोर्ट ने ED को जारी किया नोटिस
दिल्ली में बारिश, MP-झारखंड में मॉनसून की एंट्री, जानें आपके शहर के मौसम का हाल
Next Article
दिल्ली में बारिश, MP-झारखंड में मॉनसून की एंट्री, जानें आपके शहर के मौसम का हाल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;