VIDEO : कांग्रेस कार्यकर्ता ने इंदौर ED ऑफिस पर कालिख पोती, पुलिस ने बेरहमी से की पिटाई

नेशनल हेराल्ड मामले में Enforcement Directorate (ED) द्वारा सोनिया गांधी से पूछताछ के विरोध में कांग्रेस देश भर में प्रदर्शन कर रही है. इसी सिलसिले में आज इंदौर शहर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता आज पालिका प्लाजा स्थित ED ऑफिस पहुंचे. कांग्रेस कार्यकर्ता ED कार्यालय का नाम बदल कर भारतीय जनता पार्टी कार्यालय रखना चाह रहे थे.

VIDEO : कांग्रेस कार्यकर्ता ने इंदौर ED ऑफिस पर कालिख पोती, पुलिस ने बेरहमी से की पिटाई

इंदौर ED दफ्तर पर युवा कांग्रेस का प्रदर्शन

इंदौर:

नेशनल हेराल्ड मामले में Enforcement Directorate (ED) द्वारा सोनिया गांधी से पूछताछ के विरोध में कांग्रेस देश भर में प्रदर्शन कर रही है. इसी सिलसिले में आज इंदौर शहर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता आज पालिका प्लाजा स्थित ED ऑफिस पहुंचे. कांग्रेस कार्यकर्ता ED कार्यालय का नाम बदल कर भारतीय जनता पार्टी कार्यालय रखना चाह रहे थे. उन्होंने हंगामा करते हुए ED ऑफिस के बोर्ड पर BJP कार्यालय का पोस्टर लगा दिया. इसके बाद ईडी कार्यालय के नाम-पट्टिका पर कालिख पोत दी गई. फिर स्थानीय पुलिस ने कालिख पोतने वालों की पिटाई कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

प्रदर्शन के दौरान इंदौर शहर युवा कांग्रेस अध्यक्ष रमीज खान ने कहा कि देश मे मोदी सरकार के खिलाफ बोलने वालों को एजेंसियों के जरिए डराने धमकाने की नाकाम कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा,”कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी को बार बार ED आफिस बुलाकर मानसिक प्रताड़ना देने का काम बीजेपी के दिशा निर्देश पर चल रहा है.  हम सब कांग्रेस कार्यकर्ता इसका पुरजोर विरोध करते है.”

बहरहाल, अखबार ‘नेशनल हेराल्ड' से जुड़े कथित धनशोधन के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी आज सबेरे प्रवर्तन निदेशालय (ED) के दफ्तर पहुंची थी. उनके साथ राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा भी मौजूद थे. दरअसल ईडी कांग्रेस द्वारा प्रवर्तित अखबार ‘नेशनल हेराल्ड' का मालिकाना हक रखने वाली यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड में कथित वित्तीय अनियमितताओं की जांच कर रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस मामले में एजेंसी ने 21 जुलाई को सोनिया गांधी से पूछताछ की थी, जो कि लगभग 3 घंटे तक चली थी. इस दौरान उनसे 28 सवाल किए गए थे. वहीं इस पूछताछ के बाद सोनिया गांधी को फिर से पेश होने को कहा गया था. शुरुआत में एजेंसी ने उन्हें सोमवार को तलब किया था, लेकिन बाद में तारीख एक दिन के लिये बढ़ा दी गई थी.