"कांग्रेस हाईकमान को और मजबूत होना पड़ेगा": BJP से मिली हार पर NDTV से बोले कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू

कांग्रेस के लोकसभा सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि कांग्रेस की स्टेट लीडरशिप चुनाव के समय क्षेत्रीय पार्टी की तरह व्यवहार करने लगती है. वह अपने लोगों को प्रमोट करने लग जाते हैं.

खास बातें

  • MP, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को करारी हार मिली है
  • बीजेपी ने तीनों राज्य में जीत दर्ज की है
  • अगले साल लोकसभा के चुनाव होने वाले हैं
नई दिल्ली:

बीजेपी से मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त पर कांग्रेस के लोकसभा सांसद रवनीत सिंह बिट्टू का बयान आया है. जिसमें उन्होंने वो कारण बताए हैं, जिनके चलते कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा है. एनडीटीवी से बात करते हुए रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि जब भी आप बड़े राज्यों में चुनाव हारते हैं, तो पार्टी कार्यकर्ताओं को तकलीफ होती है.  गठबंधन ‘इंडिया' (इंडियन नेशनल डेवेलपमेंट इन्क्लूसिव एलायंस) की तीन मीटिंग हुई, अगर हम इन विधानसभा चुनाव में ‘इंडिया' को साथ लेकर चलते तो स्थिति आज और होती.  हम तीन-चार राज्यों में इंडिया गठबंधन से जुड़ी राजनीतिक दलों के साथ कोऑर्डिनेशन नहीं कर पाए. यह हार का एक बड़ा कारण था.

कांग्रेस के सेंट्रल हाईकमान को और मजबूत होना पड़ेगा. कांग्रेस की स्टेट लीडरशिप चुनाव के समय क्षेत्रीय पार्टी की तरह व्यवहार करने लगती है. वह अपने लोगों को प्रमोट करने लग जाते हैं... एक-एक टिकट के बंटवारे में - "यह मेरा, यह तुम्हारा" में लग जाते हैं.  कांग्रेस हाईकमान को यह साफ कर देना चाहिए कि अगर किसी ने अच्छा काम किया है, तो उसे क्रेडिट मिलेगा. जिसने परफॉर्म नहीं किया है उसे मौका नहीं मिलेगा. 

रवनीत सिंह बिट्टू ने आगे कहा कि आप देखिए राजस्थान में क्या हुआ, हमने उसका नतीजा देखा है. ‘इंडिया' गठबंधन को एक पीएम फेस चुनना पड़ेगा. चेहरे के बगैर चुनाव नहीं लड़ा जा सकता. पीएम मोदी जी के सामने ‘इंडिया' को एक पीएम फेस खड़ा करना पड़ेगा.  

गौरतलब है कि रविवार को चार राज्य के विधानसभा चुनाव के नतीजे आए हैं. बीजेपी ने मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बुरी तरह से हराया है.

ये भी पढ़ें- "राहुल गांधी को पहाड़ों पर जाना चाहिए..." : BJP सांसदों ने दी नसीहत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com