लालू प्रसाद यादव के घर पर CBI की छापेमारी, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और उनकी बेटी के खिलाफ नया केस दर्ज

सीबीआई ने लालू प्रसाद यादव और उनकी बेटी के खिलाफ उनके कार्यकाल के दौरान भर्तियों में कथित अनियमितताओं के लिए नए सिरे से केस दर्ज किया है. अधिकारियों ने बताया कि यह कथित घोटाला तब का है जब लालू प्रसाद यादव संयुक्त प्रगतिशील सरकार में रेल मंत्री थे.

पटना:

चारा घोटाला मामले में जमानत पर बाहर आए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाल यादव (Lalu Prasad Yadav) की परेशानी बढ़ गई है. उनके साथ-साथ उनकी बेटी भी सीबीआई की कार्रवाई की चपेट में आ गईं हैं. दरअसल, सीबीआई ने लालू और उनकी बेटी के खिलाफ उनके कार्यकाल के दौरान भर्तियों में कथित अनियमितताओं के लिए नए सिरे से केस दर्ज किया है. भ्रष्टाचार के इस मामले में कार्रवाई करते हुए सीबीआई की टीम पटना स्थित लालू आवास (मौजूदा समय में राबड़ी आवास) समेत उनके 15 अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी कर रही है. अधिकारियों ने बताया कि यह कथित घोटाला तब का है जब लालू प्रसाद यादव संयुक्त प्रगतिशील सरकार में रेल मंत्री थे.

बीते महीने कोर्ट से मिली है जमानत

बता दें कि चारा घोटाला के डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाईकोर्ट ने बीते महीने 22 तारीख को जमानत दी है. जमानत के बाद उन्होंने कुछ दिनों तक एम्स में अपना इलाज कराया, जिसके बाद से वे अपनी बड़ी बेटी मीसा भारती के घर पर हैं. मालूम हो कि सुनवाई से पहले ही तबीयत अधिक खराब होने की वजह से लालू को एयर एंबुलेंस से दिल्ली एम्स लाया गया था. 

हालांकि, उस वक्त काफी ड्रामा हुआ था. एम्स के डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें सामान्य बताते हुए रांची के रिम्स में ही इलाज कराने को कहा था, जिसके बाद वे वापस लौटने की तैयारी में थे. लेकिन अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें भर्ती ले लिया गया था.  

यह भी पढ़ें - 

नवजोत सिद्धू के खिलाफ फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने संस्कृत के श्लोक का किया खास जिक्र, जानें इसके मायने..

"पंजाब में केंद्रीय सुरक्षा बल भेजने की मांग केंद्र ने मानी, 2 हजार जवान होंगे तैनात," अमित शाह से मिलकर बोले CM भगवंत मान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: असम में बाढ़ से 9 की मौत, 7 लाख से अधिक लोग प्रभावित | पढ़ें