राज ठाकरे के अयोध्या दौरे के विरोध में उतरे बीजेपी सांसद, शक्ति प्रदर्शन किया

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra Navnirman Sena) प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) के पांच जून को अयोध्या के प्रस्तावित दौरे के विरोध में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह ने मंगलवार को शक्ति प्रदर्शन करते हुए रोड शो किया.

राज ठाकरे के अयोध्या दौरे के विरोध में उतरे बीजेपी सांसद, शक्ति प्रदर्शन किया

 17 अप्रैल को राज ठाकरे ने पुणे में कहा था कि वह भगवान राम के दर्शन करने के लिए पांच जून को अयोध्या जाएंगे.

गोंडा:

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (Maharashtra Navnirman Sena) प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) के पांच जून को अयोध्या के प्रस्तावित दौरे के विरोध में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह ने मंगलवार को शक्ति प्रदर्शन करते हुए रोड शो किया. सिंह ने ठाकरे के विरोध को भाजपा से अपना निजी मामला बताते हुए ऐलान किया कि ''मैं स्पष्ट कर दूं, मेरे इस विरोध का मेरी पार्टी से कोई लेना देना नहीं है, मैं पहले राम का वंशज हूं, फिर उत्तर भारतीय और सबसे बाद में भारतीय जनता पार्टी का सांसद.'' राज ठाकरे के प्रस्तावित अयोध्या दौरे के विरोध में लोगों को एकजुट करने के उद्देश्य से कैसरगंज के भाजपा सांसद सिंह ने मंगलवार को विश्नोहरपुर स्थित अपने पैतृक आवास से नंदिनी नगर महाविद्यालय तक शक्ति प्रदर्शन किया. इस दौरान उन्होंने विशाल काफिले के साथ रोड शो किया.

बाद में नंदिनी नगर महाविद्यालय के स्टेडियम में आयोजित तैयारी बैठक में उन्होंने लोगों से राज ठाकरे के अयोध्या आगमन पर डटकर विरोध करने का आह्वान किया. उन्होंने ऐलान किया कि अब उत्तर भारतीयों का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पत्रकारों से बातचीत में भाजपा सांसद ने कहा, ''राज ठाकरे दबंग नहीं हैं, वह चूहा हैं चूहा.'' सांसद ने दावा किया कि उन्हें मराठों का समर्थन प्राप्त है और वह छत्रपति शिवाजी महराज को अपना आदर्श मानता हैं.

ब्रजभूषण ने कहा कि मराठा आएं, तो वह उनके स्वागत में अपनी जान तक दे देंगे, लेकिन उनका विरोध केवल एक व्यक्ति (राज ठाकरे) से है, सम्पूर्ण मराठा समुदाय से नहीं. इसके पहले बैठक को संबोधित करते हुए सांसद ने कहा कि वह मोदी जी के ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत' तथा ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास' के अनुयायी हैं. उन्होंने कहा कि वह राज ठाकरे से पूछना चाहता हैं कि महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों का उत्पीड़न क्यों है?

उन्होंने दावा किया कि राज ठाकरे यदि उत्तर भारतीयों से माफी नहीं मांगेंगे तो आज की बात तो छोड़िए, अपने पूरे जीवन काल में कभी भी यदि राज ठाकरे यूपी, बिहार और झारखंड की धरती पर उतरना चाहेंगे तो उत्तर भारतीय उनका पुरजोर विरोध करेगा. इसके पहले पांच मई को ब्रजभूषण शरण सिंह ने मनसे प्रमुख राज ठाकरे के पांच जून को प्रस्तावित अयोध्या दौरे का विरोध करते हुए टृवीट किया, ‘‘जब तक वह उत्तर भारतीयों से सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांग लेते तब तक उन्हें अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं देंगे.''

कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और राम मंदिर आंदोलन के अग्रणी नेताओं में से एक ब्रजभूषण शरण सिंह ने ट्वीट किया, ''उत्तर भारतीयों को अपमानित करने वाले राज ठाकरे को अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं दूंगा.'' इसी ट्वीट में आगे उन्होंने कहा, ‘‘अयोध्या आने से पहले सभी उत्तर भारतीयों से हाथ जोडकर माफी मांगें राज ठाकरे.''

छह बार के सांसद ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुरोध किया था, '‘ जब तक राज ठाकरे सार्वजनिक रूप से उत्तर भारतीयों से माफी नहीं मांग लेते, मेरा आग्रह है तब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को राज ठाकरे से नहीं मिलना चाहिए.''राम मंदिर आंदोलन का जिक्र करते हुए सांसद ने कहा कि राम मंदिर आंदोलन से लेकर मंदिर निर्माण तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिंदू परिषद और आमजन की ही भूमिका रही है, ठाकरे परिवार का इससे कोई लेना देना नहीं. उल्लेखनीय है कि पिछले 17 अप्रैल को राज ठाकरे ने पुणे में कहा था कि वह भगवान राम के दर्शन करने के लिए पांच जून को अयोध्या जाएंगे.

इसे भी पढ़ें : राज ठाकरे पर संजय राउत का तंज़, 'भगवान राम ‘फर्जी' भावनाओं के साथ जाने वाले लोगों को आशीर्वाद नहीं देते'

लाउडस्पीकर मामले को लेकर राज ठाकरे के खिलाफ केस दर्ज, औरंगाबाद पुलिस ने दर्ज किया FIR

16 शर्तों के साथ राज ठाकरे की आज मेगा रैली, 2000 जवान तैनात, CCTV से भी निगरानी, जानें- क्यों चुना औरंगाबाद? 
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसे भी देखें : राज ठाकरे के खिलाफ औरंगाबाद पुलिस ने दर्ज किया केस, आपत्तिजनक भाषण के आरोप में कार्रवाई



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)