BJP ने ‘बिहार डीएनए’ टिप्पणी के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी की आलोचना की

रेड्डी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कथित तौर पर कहा था कि तेलंगाना के प्रथम मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव (केसीआर) में 'बिहारी जीन' है और उन्होंने संकेत दिया था कि वह केसीआर की तुलना में राज्य के लिए बेहतर विकल्प हैं.

BJP ने ‘बिहार डीएनए’ टिप्पणी के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी की आलोचना की

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी(Revanth Reddy) की ‘बिहार डीएनए' टिप्पणी की बृहस्पतिवार को आलोचना की और यह मांग की कि कांग्रेस सहित विपक्षी ‘इंडिया' गठबंधन के सदस्य इसकी निंदा करें. नवनियुक्त मुख्यमंत्री से माफी मांगने को कहें. रेड्डी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कथित तौर पर कहा था कि तेलंगाना के प्रथम मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव (केसीआर) में 'बिहारी जीन' है और उन्होंने संकेत दिया था कि वह केसीआर की तुलना में राज्य के लिए बेहतर विकल्प हैं.

उन्होंने कथित तौर पर कहा था, ‘‘मेरा डीएनए तेलंगाना का है. केसीआर का डीएनए बिहार का है. वह बिहार के रहने वाले हैं. केसीआर की जाति कुर्मी हैं, वे बिहार से विजयनगरम और वहां से तेलंगाना आए. तेलंगाना का डीएनए बिहार के डीएनए से बेहतर है.'' भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रेड्डी की टिप्पणी को ‘बेहद शर्मनाक, विभाजनकारी और अहंकारी' करार दिया और मांग की कि कांग्रेस और ‘इंडिया' (इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इनक्लूसिव अलायंस) गठबंधन के अन्य सदस्य इसकी निंदा करें.

"क्या वह देश को तोड़ना चाहते हैं?"
उन्होंने बिहार के लोगों के खिलाफ ऐसी टिप्पणी करने के लिए रेड्डी से भी माफी मांगने को कहा. प्रसाद ने संसद परिसर में पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘मैं उनकी टिप्पणी की निंदा करता हूं.'' उन्होंने कहा, ‘‘क्या वह देश को तोड़ना चाहते हैं? यहां बड़ा सवाल यह है कि इंडिया गठबंधन के सदस्य चुप क्यों हैं. नीतीश कुमार ने अब तक (रेड्डी की टिप्पणी पर) कुछ क्यों नहीं कहा? बिहार में कांग्रेस के सदस्य क्या कर रहे हैं?''

राहुल गांधी की चुप्पी पर बीजेपी ने खड़े किए सवाल
रविशंकर प्रसाद ने रेड्डी की टिप्पणी पर कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी की चुप्पी पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा, ‘‘आपके मुख्यमंत्री एक क्षेत्र के डीएनए को कमजोर बताते हैं और अपनी ही पार्टी के नेताओं (जो बिहार में हैं) के खिलाफ बहुत शर्मनाक जातिवादी टिप्पणी करते हैं, यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. हम इसकी निंदा करते हैं. अगर कांग्रेस पार्टी को देश में एकता के महत्व की थोड़ी सी भी समझ है तो उसे इसकी निंदा करनी चाहिए.''

बक्सर से भाजपा सांसद एवं केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि रेड्डी की ‘तुच्छ' टिप्पणी से बिहार के लोगों की भावनाएं आहत हुई है. उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इसका जवाब देने की मांग की. उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस नेता देश में गंदा माहौल बना रहे हैं... जिस तरह की ओछी टिप्पणी कांग्रेस नेता ने की है... (तेलंगाना के) मुख्यमंत्री ने जो टिप्पणी की है, उसपर लोग उन्हें करारा जवाब देंगे.''

भाजपा सांसद और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने भी रेड्डी की टिप्पणी को लेकर कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों पर निशाना साधा और मांग की कि वे तेलंगाना के मुख्यमंत्री से माफी मांगने को कहें. उन्होंने कहा, ‘‘इंडी गठबंधन के सदस्य हिंदू धर्म और सनातन धर्म का अपमान करते रहे हैं. अब वे ‘बिहार डीएनए' पर आ गए हैं. क्या यह कहना उचित है कि तेलंगाना डीएनए बिहार के डीएनए से बेहतर है और वे दूसरे राज्य के लोगों के खिलाफ इस तरह की अपमानजनक टिप्पणी करें?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें:- 
तेलंगाना में भी बुलडोजर! CM पद की शपथ लेते ही रेवंत रेड्डी ने पूरा किया बड़ा चुनावी वादा
महुआ मोइत्रा मामले पर एथिक्स कमेटी की रिपोर्ट कल हो सकती है पेश, बीजेपी ने सांसदों को जारी किया व्हिप