Covaxin की कीमत Covishield और Sputnik V से ज्‍यादा क्‍यों? यह है विशेषज्ञों का जवाब

भारत में बनी एकमात्र वैक्‍सीन, भारत बॉयोटेक की Covaxin की कीमत Covishield से लगभग दोगुनी है. यह कीमत विदेश में Pfizer के लगभग बराबर है-करीब $19. यह वैश्विक तौर पर तीसरे सबसे महंगी वैक्‍सीन है.

Covaxin की कीमत Covishield और Sputnik V से ज्‍यादा क्‍यों? यह है विशेषज्ञों का जवाब

Covaxin की कीमत Covishield और Sputnik V वैक्‍सीन से ज्‍यादा है

खास बातें

  • Covaxin की टेक्‍नोलॉजी Covishield व Sputnik से है अलग
  • Covishield की एक डोज की कीमत ₹ 780 के आसपास
  • दूसरी ओर Covaxin की कीमत ₹ 1,410 प्रति शॉट है
नई दिल्ली:

Covishield की एक डोज की कीमत ₹ 780 से ज्‍यादा नहीं हो सकती, रूस की Sputnik V की अधिकतम कीमत ₹ 1,145 प्रति डोज होगी और Covaxin की कीमत ₹ 1,410 प्रति शॉट से ज्‍यादा नहीं हो सकती है. इस राशि में 150 रुपये GST (Goods and Services Tax) भी शामिल है. इन तीनों में से भारत में बनी एकमात्र वैक्‍सीन, भारत बॉयोटेक की Covaxin की कीमत Covishield से लगभग दोगुनी है. यह कीमत विदेश में Pfizer के लगभग बराबर है-करीब $19. यह वैश्विक तौर पर तीसरे सबसे महंगी वैक्‍सीन है.

Covaxin की कीमत इतनी ज्‍यादा क्‍यों हैं?

विशेषज्ञों की राय है कि Covaxin की टेक्‍नोलॉजी में अधिक लागत शामिल है. सेंटर फॉर सेल्‍युलर एंड मॉलिक्‍युलर बॉयोलॉजी के सलाहकार राकेश मिश्रा कहते हैं, 'Covaxin की टेक्‍नोलॉजी Covishield और Sputnik से बहुत अलग है. Covaxin के लिए एक पूरे निष्क्रिय (inactivated) वायरस का उपयोग किया जाता है इसके लिए सैकड़ों लीटर महंगे सीरम (serum) का आयात करना होता है और वायरस को बहुत सावधानियों के साथ इस सीरम में BSL लैब्‍स में विकसित किया जाता है और फिर नि‍ष्क्रिय किया जाता है.'

डॉ. मिश्रा कहते हैं, 'मैं जानता हूं कि कोवैक्‍सीन की कीमत कोविशील्‍ड के लगभग दोगुनी है लेकिन कोविशील्‍ड और स्‍पूतनिक V की कीमत अलग-अलग क्‍यों हैं, इसके व्‍यावसायिक कारण हो सकते हैं. टेक्‍नोलॉजी के लिहाज से mRNA वैक्‍सीन सबसे आसान और सस्‍ती है और इसके लिए ज्‍यादा सुविधा (elaborate facility) की जरूरत नहीं है.' Pfizer and Moderna दरअसल mRNA की वैक्‍सीन हैं, ये जीवित वायरस (live virus) का उपयोग नहीं करते तो कोविड-19 का कारण है. वे इसके बजाय एक प्रोटीन "spike protein" का इस्‍तेमाल करते हैं जो कोरोना वायरस की सतह पर पाया जाता है, यह शरीर में इम्‍युनिटी बढ़ाता है. वैसे विशेषज्ञों का कहना है कि दुनियाभर में अब उपयोग में आ रही कोरोना वैक्‍सीन की कीमत पिछले एक साल में विकसित किए गए वैक्‍सीन की तुलना में काफी कम है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उदाहरण के लिए, एक वैश्विक कार्यक्रम के अंतर्गत Pentavalent vaccine सीरम इंस्‍टीट्यूट, बायोलॉजिकल और इंडियन इम्‍युनोलॉजिकल्‍स से ₹ 17.37 प्रति डोज की दर से खरीदा जाएगा सीरम इंस्‍टीट्यूट की ओर से UNICEF को सप्‍लाई की जाने वाली खसरे (measles) की वैक्‍सीन की कीमत 39.6 US सेंट या 30 रुपये प्रति डोज है. कोवैक्‍सीन से समानता वाले रैबीजे वैक्‍सीन ₹ 200 प्रति डोज में बेचे जाते हैं. इस लिहाज से Inactivated कोविड वैक्‍सीन के लिए ₹ 1,200 (GST हटाकर) की कीमत काफी अधिक है. विशेषज्ञों का मानना है कि जैसे जैसे वैक्‍सीन की संख्‍या और निर्माताओं की संख्‍या बढ़ेगी, कीमत में कमी आती जाएगी.