'अगर तालिबान ने भारत की तरफ कदम बढ़ाया तो एयरस्ट्राइक तय' : योगी आदित्यनाथ

योगी ने कहा, ‘‘मुहम्मद गोरी और आक्रांता गाजी के अनुयायी वोट बैंक के भय से हिन्दू रक्षक महाराजा सुहेलदेव के नाम से डरते हैं. इनको भय है कि सुहेलदेव का स्मारक बनने के बाद लोग गाजी को भूल जाएंगे और जनता राजनीतिक ब्लैकमेलरों को कूड़े में फेंक देगी, इसी भय से वे राष्ट्र रक्षक सुहेलदेव के स्मारक का अप्रत्यक्ष रूप से विरोध कर रहे थे.’’

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि आज तालिबान से पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान परेशान हैं, लेकिन तालिबानी जानते हैं कि भारत की तरफ बढ़े तो ‘एयर स्ट्राइक' (हवाई हमला) तैयार है. 

रविवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में भाजपा के सामाजिक संपर्क अभियान के तहत आयोजित हो रहे सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलनों की श्रृंखला में राजभर समाज के प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा, ‘‘इस समय एक-एक व्यक्ति को जगाने का काम करना है, आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश शक्तिशाली है और कोई अन्य देश भारत की तरफ आंख उठाकर देखने की हिम्मत नहीं कर सकता है. आज तालिबान से पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान परेशान हैं, लेकिन तालिबानी जानते हैं कि भारत की तरफ बढ़े तो एयर स्ट्राइक तैयार है.''

भाजपा मुख्यालय से जारी बयान के अनुसार योगी ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘‘उनकी सोच परिवार के विकास तक सीमित है. पिता मंत्री और एक बेटा सांसद तो दूसरा बेटा एमएलसी बनना चाहता है, ऐसे राजनीतिक ब्लैकमेलरों की दुकान बंद करनी होगी.''

योगी ने कहा, ‘‘मुहम्मद गोरी और आक्रांता गाजी के अनुयायी वोट बैंक के भय से हिन्दू रक्षक महाराजा सुहेलदेव के नाम से डरते हैं. इनको भय है कि सुहेलदेव का स्मारक बनने के बाद लोग गाजी को भूल जाएंगे और जनता राजनीतिक ब्लैकमेलरों को कूड़े में फेंक देगी, इसी भय से वे राष्ट्र रक्षक सुहेलदेव के स्मारक का अप्रत्यक्ष रूप से विरोध कर रहे थे.''

पूर्व मंत्री एवं सुभासपा मुखिया ओमप्रकाश राजभर का नाम लिये बिना योगी ने कहा, ‘‘मेरी कैबिनेट में राजभर समाज के दो मंत्री थे. कैबिनेट की बैठक में एक मंत्री ने बहराइच में बनने वाले महाराजा सुहेलदेव के स्मारक प्रस्ताव का विरोध किया था जबकि अनिल राजभर चाहते थे भव्य स्मारक बने. आज बहराइच में महाराजा सुहेलदेव का भव्य स्मारक बन रहा है. भाजपा सरकार ने बहराइच मेडिकल कॉलेज का नाम महाराजा सुहेलदेव के नाम पर किया है. विपक्षी दलों से पूछा जाना चाहिए कि इन दलों ने महाराजा सुहेलदेव के लिए क्या किया?''


उल्लेखनीय है कि भाजपा के पूर्व सहयोगी राजभर ने 2019 में भाजपा से अपना गठबंधन तोड़ लिया था. विपक्षी दलों पर प्रहार करते हुए योगी ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस को विकास से मतलब नहीं था क्योंकि उन्हें भक्तों पर गोली चलाने से ही फुर्सत नहीं थी. उन्होंने कहा, ‘‘पहले रामभक्तों पर गोलियां चलाई जाती थीं, अब प्रधानमंत्री जी ने अयोध्या में आकर भव्य श्रीराम मंदिर का शिलान्यास किया और वहां राम मंदिर का निर्माण हो रहा है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज्य की पूर्ववर्ती सपा सरकार का नाम लिए बगैर योगी ने सवाल किया कि क्या अयोध्या में रामभक्तों की निर्मम हत्या करने वाले देश की जनता से माफी मांगने की हिम्मत जुटा पाएंगे? उन्होंने कहा, ‘‘अदालत ने भी आखिर हमें ही सही माना और आज अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो रहा है.'' सम्मेलन को कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, सांसद सकलदीप राजभर, विधायक विजय राजभर, भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा के अध्यक्ष नरेन्द्र कश्यप समेत कई प्रमुख नेताओं ने संबोधित किया.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)