अलीगढ़ में डीजे वाली बारात को लेकर दो समुदायों में झगड़ा, घर के आगे लगे 'मकान बिकाऊ है' के इश्तेहार

यूपी के अलीगढ़ में मस्जिद के सामने से गाजे-बाजे के साथ बारात निकालने को लेकर दो समुदायों में झगड़ा हो गया. एक समुदाय के लोगों ने अपने घर पर मकान बिकाऊ है के इश्तेहार लगाए हैं. तनाव के बीच पलायन की तैयारी हो रही है.

लखनऊ:

यूपी के अलीगढ़ (Aligarh) के एक गांव में मस्जिद के सामने से डीजे बजाते बारात गुज़रने को लेकर झगड़े से तनाव है. झगड़े के बाद गांव के कुछ लोगों ने अपने घरों पर मकान बिकाऊ है के इश्तेहार लगा दिए हैं. झगड़े को राजनीतिक रंग देने की पूरी कोशिश हो रही है. इस झगड़े के बाद गांव के दलितों ने अपने घरों पर 'मकान बिकाऊ है' के इश्तेहार लगा दिए. इस झगड़े को राजनीतिक संगठन और दल अपने राजनीतिक लाभ के लिए और बढ़ा रहे हैं. इस मामले में पांच लोगों को  गिरफ्तार किया गया है.

डीजे वाली बारात को लेकर हुआ झगड़ा

नूरपुर गांव में एक दलित के घर बारात आई. बारात डीजे बजाते हुई एक मस्जिद के सामने संकरी सी गली से गुजर रही थी. कुछ नमाजियों ने मस्जिद के सामने तेज आवाज में डीजे बजाने से मना किया. कहते हैं कि बड़े-बुढ़े उनकी बात मान गए लेकिन कुछ युवक आए उन्होंने कहा कि हम म्यूजिक बंद नहीं करेंगे. ये कौन होते हैं बंद करवाने वाले. इस बात पर दोनों पक्षों के बीच झगड़ा हो गया.

गांव के रूबीना ने बताया क्या था मामला

गांव की रूबीना ने बताया कि उस दिन बारात आई थी. हमारा नमाज का टाइम हो गया था. नमाज के लिए जमात खड़ी हो गई तो कुछ बड़े -बुढ़ों ने कहा कि ये जरा बंद कर लो या फिर थोड़ा आगे बढ़ जाओ.  कोई जवान बच्चा नहीं था, बड़े ही थे, लेकिन उन्होंने कहा कि यहीं पर बजेगा, यहीं होगा.

गांव में 80 फीसदी आबादी मुस्लिम, 20 फीसदी अनुसूचित जाति के

नूरपुर गांव अलीगढ़ से करीब 70 किलोमीटर दूर है.यहां करीब 80 फीसदी मुस्लिम आबादी है, जबकि 20 फीसदी अनुसूचित जाति के हैं. 21 मई को भी एक दलित की बारात मस्जिद के आगे से गुजरी थी. नमाजियों के कहने पर मस्जिद के सामने डीजे बंद कर दिया गया और कोई विवाद नहीं हुआ. इस बार झगड़ा हो गया. इसके बाद गांव के दलितों ने अपने घरों की दीवारों पर मकान बिकाऊ होने के इश्तेहार लगा दिए हैं.

गांववासी शिव सिंह ने कहा- हम गांव छोड़कर चले जाएंगे

गांववासी शिव सिंह ने बताया कि बारात-वारात नहीं चढ़ने देते, मारपीट करें, परेशान करें और हमने फिर प्लान बनाया कि हम ये गांव ही छोड़ कर चले जाएं. इस मामले पर राजनीति करने और राजनीतिक दलों और संगठनों के लोग वहां पहुंचने लगे हैं. ऐसे ही एक गुट को प्रशासन ने रास्ते में ही रोक दिया, जहां उन्होंने नारेबाजी की और हनुमान चालीसा का पाठ किया.

हिन्दू क्रांतिकारी सेवादल के अध्यक्ष रनवीर सिंह ने कहा- अगर कोई बदतमीजी करेगा, या बहन बेटी को छेड़ेगा तो जैसे मेवात में काम करा है, ऐसे ही करेंगे. छोड़ेंगे नहीं.

मामले को लेकर 11 लोगों पर हुई है FIR

बारात में हुए झगड़े में 11 लोगों पर FIR हुई थी. जिसमें 5 गिरफ्तार कर लिए गए हैं. .AIMIM के एक युवा नेता पर भी भड़काऊ बयानबाजी में FIR हुई है. गांव में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. डीएम और एसएसपी मौके पर जाकर लोगों सुरक्षा का भरोसा दिलाया.


डीएम ने कहा- लोग प्रशासन की कार्रवाई से खुश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अलीगढ़ के डीएम चंद्रभूषण सिंह ने कहा कि मामले में जो पहले से एफआईआर हुई थी उसमें 5 लोगों की गिरफ्तारी हो गई है. उनको जेल में भेज दिया गया है. आज मैंने भी गांव का भ्रमण किया. सब लोगों से बात की. लोग प्रशासन की कार्रवाई से खुश हैं. किसी प्रकार की समस्या नहीं. मैंने SDM को निर्देश दिया है कि यहां बात कर के शांति केटी बना दी जाए.