सीएम योगी बोले- कोरोना कर्फ्यू में रियायत का मतलब 'लापरवाही' की छूट नहीं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के अधिकतर जिलों में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) में छूट के दौरान लोगों द्वारा लापरवाही बरतने पर नाराजगी जाहिर करते हुए बुधवार को कहा इस रियायत का मतलब ''लापरवाही'' की छूट होना नहीं है.

सीएम योगी बोले- कोरोना कर्फ्यू में रियायत का मतलब 'लापरवाही' की छूट नहीं

कोरोना कर्फ्यू में लापरवाही करने वालों को सीएम योगी ने दी हिदायत. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • यूपी में कोरोना के कम होते मामलों के बीच कर्फ्यू में ढील
  • कोरोना कर्फ्यू में ढील मिलते ही लोग करने लगे लापरवाही
  • लापरवाही करने वालों को सीएम योगी ने दी हिदायत
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने प्रदेश के अधिकतर जिलों में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) में छूट के दौरान लोगों द्वारा लापरवाही बरतने पर नाराजगी जाहिर करते हुए बुधवार को कहा इस रियायत का मतलब ''लापरवाही'' की छूट होना नहीं है. राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने टीम-9 की बैठक में कहा "कोरोना कर्फ्यू से छूट का आशय लापरवाही की छूट होना नहीं है. कई जिलों में लोगों के मास्क न लगाने, बाजारों में अनावश्यक भीड़, सामाजिक दूरी का पालन न करने जैसी जानकारी मिली है. यह स्थिति किसी के लिए भी अच्छी नहीं है."

यूपी में योगी सरकार के काम की समीक्षा कर दिल्ली लौटे शीर्ष नेता, ये दिया 'फीडबैक'

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई जीतने के लिए हर एक नागरिक का सहयोग आवश्यक है. उन्होंने कहा ‘‘पुलिस प्रशासन को सक्रियता बढ़ाने की जरूरत है. लोगों को जागरूक भी करें, साथ ही गश्त, निरीक्षण और जरूरत पड़ने पर दंडात्मक कार्रवाई भी की जानी चाहिए. सभी जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक शासन द्वारा जारी आदेशों का प्रतिबद्धतापूर्वक अक्षरशः पालन सुनिश्चित कराएं.''

योगी ने हिदायत दी कि कोरोना कर्फ्यू से जुड़े नियमों का कड़ाई से पालन कराया जाए. उन्होंने कहा कि रात्रिकालीन बन्दी को प्रभावी बनाने के लिए शाम छह बजे से ही पुलिस और स्थानीय प्रशासन सक्रिय हो जाएं और कहीं भी भीड़ की स्थिति न बने.

उन्होंने कहा ‘‘ प्रदेश ने आज पांच करोड़ कोविड जांच का नया कीर्तिमान बनाया है. इतनी जांच किसी भी अन्य राज्य द्वारा नहीं की गईं. कोरोना संक्रमण की रोकथाम में ट्रेसिंग-टेस्टिंग के महत्व को दृष्टिगत रखते हुए उत्तर प्रदेश ने प्रारंभ से ही आक्रामक नीति अपनाई है. यही कारण है कि आज प्रदेश में स्थिति नियंत्रण में है.''


ऑन ड्यूटी मोबाइल का इस्तेमाल पड़ेगा भारी, बिहार पुलिस के लिए जारी हुआ आदेश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मुख्यमंत्री ने कहा कि एक जून से राज्य के सभी 75 जिलों में शुरू हुए 18 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण अभियान में लोगों की भागीदारी उत्साहजनक है. उन्होंने कहा कि इस महाभियान के पहले दिन एक जून को साढ़े पांच हजार केंद्रों पर 3,42,000 से अधिक लोगों ने टीका लगवाया.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)