यूपी : ट्विटर पर शिकायत की तो मंत्री जी ने ठीक करवाया 1 लाख का बिजली बिल, जानें पूरा मामला

सपा नेता आईपी सिंह ने आजमगढ़ में कई घंटों से बिजली न आने की शिकायत ट्वीटर पर की. इस पर उन्हें मंत्री के निर्देश पर विभाग ने जवाब देकर बताया कि बिजली क्यों गई थी और इसे बहाल कर दिया गया. 

यूपी : ट्विटर पर शिकायत की तो मंत्री जी ने ठीक करवाया 1 लाख का बिजली बिल, जानें पूरा मामला

UP: ट्विटर पर शिकायत के बाद बिजली संबंधी समस्याएं ऊर्जा मंत्री ने करवाई दूर

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में गर्मी बढ़ने के साथ ही बिजली  मांग बढ़ रही है और इसी के साथ लोगों की समस्याओं में भी इजाफा हो रहा है. कई जगह पर लोड बढ़ने के कारण ट्रांसफॉर्मर फुंकने की शिकायतें आई हैं. इसी बीच ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अधिकारियों के साथ बैठक कर लोगों की बिजली जाने अथवा बिजली के बिलों से जुड़ी हर समस्या का तुरंत हल निकालने का निर्देश दिया है और इन निर्देशों का असर भी देखने में आ रहा है.

उपभोक्ता की शिकायत के बाद ठीक हुआ बिल

लखनऊ में एक उपभोक्ता की ट्विटर पर शिकायत के बाद बिजली बिल को ठीक करने का मामला सामने आया है. दरअसल, राज्य के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने लखनऊ के शिवपुरी उपकेंद्र का 9 जून को औचक निरीक्षण किया था. उन्होंने उपकेंद्र के बाहर अपने फोटो के साथ ट्वीट किया था. इसमें उन्होंने लिखा थी कि लखनऊ में लेसा के चिनहट स्थित शिवपुरी उपकेंद्र का औचक निरीक्षण. माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशानुसार आपूर्ति में व्यवधान की शिकायतें तत्काल दूर हों, सही बिल-समय पर बिल उपभोक्ताओं को मिले. यूपीपीसीएल चेयरमैन यह सुनिश्चित करें. श्रीकांत शर्मा के इस ट्वीट के बाद लोगों ने बिजली विभाग की शिकायतों का ढेर लगा दिया. इनमें कई शिकायतें बिजली गुल होने या बिजली के बढ़े-चढ़े बिल आने की थी. ऐसे ही एक उपभोक्ता ने अपने बिजली के बिल का फोटो डाला और लिखा कि बिल्कुल सर देख तो रहे हैं साक्षात, लॉकडाउन में भी 1,05,453₹ का बिल तो इससे अच्छा किसी के लिए क्या होगा. श्रीमान जी , सुधार की बहुत जरूरत है. कहने के बाद भी विभाग के कर्मचारी ने गलत बिल काट दिया 14 दिन मात्र में और उसके बाद परिणाम देखने को मिल रहा है, कुछ बोलो तो उल्टा प्रताड़ित.

इसके बाद श्रीकांत शर्मा ने मामले में दखल दिया. संबंधित उपभोक्ता का बिल ठीक कर लिया गया. जिस पर उसने ट्विटर पर मंत्री का आभार माना. उन्होंने लिखा श्रीमान महोदय श्रीकांत जी का आपका बहुत-बहुत आभार. आपकी टीम के द्वारा बहुत ही अच्छा कार्य किया गया बिल को 2435₹ कर दिया गया है. आपका सभी का बहुत बहुत धन्यवाद.

एक अन्य उपभोक्ता ने बिजली गुल होने की शिकायत की

एक अन्य उपभोक्ता ने बिजली गुल होने की शिकायत की. उन्होंने लिखा आज आलम ये है 72 घंटे होने को आए हैं उसमे मात्र  6-7 घंटे लाइट मिली होगी अगर यही फॉल्ट एक बार लखनऊ में करके देखो मतलब तुम लोगों को कोई फर्क ही नहीं है, क्यों नहीं ध्यान दिया जा रहा है इतनी गर्मियों में ये ड्रामा हो रहा है. इस ट्वीट का संज्ञान लेते हुए ऊर्जा मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया. बाद में एसडीओ ने उपभोक्ता को फोन कर बताया कि शिकायत दूर कर दी गई. उपभोक्ता ने इस पर आभार माना. एक अन्य उपभोक्ता ने लखनऊ के सैनिक नगर में बिजली कटौती की शिकायत की जिस पर बिजली विभाग के अधिकारी ने उन्हें ट्विटर पर ही शिकायत निवारण की प्रगति से अवगत कराया. लखनऊ के ही गुलिस्तां नगर के एक रहवासी ने अपने इलाके में बिजली न होने की शिकायत की. इसका भी अधिकारियों द्वारा निस्तारण करने का निर्देश मंत्री ने दिया और यह शिकायत दूर कर दी गई.

यूपी : पुजारी का आरोप-मंदिर के खेतों का गेहूं बेचने गया तो 'भगवान' का आधार कार्ड मांगा, अफसरों ने दी यह सफाई..

सपा नेता ने भी की थी शिकायत

सपा नेता आईपी सिंह ने आजमगढ़ में कई घंटों से बिजली न आने की शिकायत ट्वीटर पर की. इस पर उन्हें मंत्री के निर्देश पर विभाग ने जवाब देकर बताया कि बिजली क्यों गई थी और इसे बहाल कर दिया गया. 

बेनीगंज के एक अन्य उपभोक्ता ने अपने क्षेत्र में बिजली गुल होने की शिकायत की. उन्हें ट्विटर पर बताया गया कि 250 केवी का ट्रांसफॉर्मर बदला गया है. उपभोक्ता ने केवल छह घंटे के भीतर अपनी समस्या के समाधान के लिए विद्युत विभाग का आभार जताया.

यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले सहयोगी दलों को 'साधने' में जुटी बीजेपी, चल रहा मुलाकातों का दौर

ऊर्जा मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार ऊर्जा मंत्री ने सोशल मीडिया तथा हेल्पलाइन 1912 पर उपभोक्ताओं की शिकायतों को तुरंत संज्ञान लेकर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया है, हालांकि कुछ ऐसे मामले में भी सामने आए जिनमें शरारतपूर्ण ढंग से शिकायतें की गईं. ऐसे मामलों में संबंधित शिकायतकर्ता से उनका बिल, फोन नंबर जैसी जानकारी मांगने पर नहीं मिली. ऐसा ध्यान भटकाने के लिए भी किया गया. एक जैसे छह ट्वीट किए गए, लेकिन कोई जानकारी नहीं दी.


यह एक सुनियोजित योजना के तहत किया गया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ऊर्जा मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार- ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा उपकेंद्रों का औचक निरीक्षण कर बिजली व्यवस्था की निगरानी तथा उपभोक्ताओं के लिए सुविधाओं का जायजा लेते हैं. इसमें बिजली का बिल जमा कराने आए उपभोक्ताओं से चर्चा भी करते हैं और उनकी समस्याओं को सुनते हैं. राज्य में बिजली वितरण को भी मजबूत किया गया है. जैसे ही गर्मी बढ़ी और उसके सापेक्ष मांग भी बढ़ी है. वर्ष 2017 से पहले 16000 MW की मांग में ही पूरी व्यवस्था चरमरा जाती थी, बिजली विभाग ने अब 23,216 MW की अधिकतम मांग को पूरा किया है. ऊर्जा मंत्री ने यूपीपीसीएल चेयरमैन को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सूर्यास्त से सूर्योदय तक निर्बाध विद्युत आपूर्ति होती रहे. रोस्टर के अनुरूप
सभी क्षेत्रों में आपूर्ति सुनिश्चित हो तथा समस्याओं का निदान अविलंब हो. उन्होंने कहा की सिंचाई के लिए भी किसानों को आपूर्ति संबंधी समस्याएं नहीं होनी चाहिए. जहां ट्रांसफार्मर खराब होने की शिकायतें आ रही हैं, वहां प्राथमिकता पर उसे बदलकर आपूर्ति बहाल की जाए.