कोरोना वायरस के यूके स्ट्रेन के सामने आए 5 नए मामले, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 25

गुरुवार को देश में कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन से संक्रमित पांच नए मरीज मिले हैं. कुल 5 नए संक्रमित में से 4 नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी पुणे की लैब से हैं, जबकि एक IGIB दिल्ली की लैब से है.

कोरोना वायरस के यूके स्ट्रेन के सामने आए 5 नए मामले, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 25

कोरोनावायरस स्ट्रेन के नए मामले बढ़कर 25 हो गए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • यूके स्ट्रेन वाले पांच नए मरीज मिले
  • चार केस NIV पुणे और एक दिल्ली में मिला
  • कुल मरीजों की संख्या 25 हुई
नई दिल्ली:

Mutant Coronavirus Strain : देश में कोरोना के यूके स्ट्रेन से संक्रमित मरीजों की संख्या 25 हो गई है.  बुधवार तक यह संख्या 20 थी. गुरुवार को इस नए स्ट्रेन से संक्रमित पांच नए मरीज मिले हैं. कुल 5 नए संक्रमित में से 4 नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी पुणे की लैब से हैं, जबकि 1 IGIB दिल्ली की लैब से. 

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि 'दिल्ली में कोरोना के यूके स्ट्रेन से संक्रमित 4 मरीज़ पाए गए है, ज्यादा संभावना है कि यह लोग दिल्ली से ही हैं.' उन्होंने बताया कि 'LNJP अस्पताल में 38 पॉजिटिव मरीज हैं, जो बाहर से आए हैं. इनमें से 4 मरीज नए स्ट्रेन वाले पाए गए हैं. अब फ्लाइट बंद कर दी गई है और बाहर से नए लोग नहीं आ रहे हैं, जो पुराने थे उनके घर घर जाकर चेक किया जा रहा है और घबराने की जरूरत नहीं है. वैसे यह तो एक्सपर्ट ही बता सकते हैं कि न्यू स्ट्रेन दिल्ली में कब आया.'

एक्सपर्ट्स का कहना है कि यूके में मिला वायरस का यह नया स्ट्रेन पुराने वाले वायरस से 70 फीसदी ज्यादा संक्रामक है. ऐसे में भारत पहले ही सतर्कता दिखा रहा है. मंगलवार से भारत में इस नए स्ट्रेन के मरीज मिलने शुरू हुए हैं. दरअसल, ब्रिटेन से फ्लाइट्स की आवाजाही पर रोक लगाने के बाद भारत ने वहां से हाल ही में आए लोगों की टेस्टिंग करानी शुरू की है. 33,000 यात्रियों की लिस्ट में से 144 लोग पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से अब तक 25 लोग इस वायरस से संक्रमित मिले हैं. 

केंद्र कुल पॉजिटिव मरीजों में मिले वायरस की जीनोम सीक्वेंसिंग करा रहा है, इसके लिए 10 लैब बनाए गए हैं, ताकि नए स्ट्रेन की मौजूदगी का पता चल सके. फ्लाइट बैन के बाद पिछले 14 दिनों में वहां से आए हरेक यात्री की ट्रेसिंग और टेस्टिंग की जा रही है, ऐसे में पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़ सकती है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीति आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने कहा था कि 'शुरुआत में वायरस पर रोक लगा सकते हैं. हमारा फोकस ट्रांसमिशन की चेन को दबाने पर है. एक बार संक्रमण बहुत फैल गया तो इसे रोकना बहुत मुश्किल हो जाएगा.'

Video: भारत में पैर पसारता कोरोना का 'यूके अवतार', ब्रिटेन से आवाजाही रुकी


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com