पश्चिम बंगाल में अलग-अलग स्थानों में दो भाजपा नेताओं पर हमला

भाजपा की पश्चिम बंगाल राज्य समिति के एक सदस्य समेत पार्टी के दो नेताओं पर अलग-अलग स्थानों पर तृणमूल कांग्रेस के संदिग्ध लोगों ने कथित रूप से हमला किया.

पश्चिम बंगाल में अलग-अलग स्थानों में दो भाजपा नेताओं पर हमला

प्रतीकात्मक तस्वीर

कोलकाता:

भाजपा की पश्चिम बंगाल राज्य समिति के एक सदस्य समेत पार्टी के दो नेताओं पर अलग-अलग स्थानों पर तृणमूल कांग्रेस के संदिग्ध लोगों ने कथित रूप से हमला किया. पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी.उन्होंने बताया कि पश्चिम वर्द्धमान जिले के आसनसोल में कृष्णेंदु मुखर्जी के घर के समीप ही उनकी कार पर बंदूकधारियों ने गोलियां चलाईं, लेकिन हमलावर वाहन का दरवाजा खोलने में नाकाम रहे, जिसके कारण उनकी जान बच गई. माल्दा जिले के रतुआ में भाजपा के स्थानीय नेता साबेक अली पर गोली चलाई गयी और वह घायल हो गये. हमले के वक्त अली की कार एक ट्रक के पीछे रूकी थी.

दोनों ही नेताओं ने तृणमूल कांग्रेस को रविवार रात को हुए इन हमलों के लिए जिम्मेदार ठहराया. उधर, राज्य के सत्तारूढ़ दल तृणमूल कांग्रेस ने इन आरोपों को खारिज कर दिया. अधिकारियों ने कहा कि इन मामलों की जांच की जा रही है. मुखर्जी ने कहा, ‘‘जब मैं रविवार रात को कोलकाता से आसनसोल के हीरापुर स्थित अपने घर लौट रहा था, तभी तीन अज्ञात लोगों ने मेरे घर के निकट मेरी कार रोकी और दरवाजे खोलने की कोशिश की. दरवाजा खोलने में नाकाम रहने पर उन्होंने वाहन पर अंधाधुंध गोलियां चला दीं. मुझे आशंका है कि ये लोग तृणमूल कांग्रेस के ‘गुंडे' थे.'' उन्होंने कहा, ‘‘चालक मदद के लिए चिल्लाया और मैंने स्थानीय लोगों का ध्यान खींचने के लिए बार-बार हॉर्न बजाया, जिसके बाद हमलावर घटनास्थल से फरार हो गए.'' मुखर्जी ने आरोप लगाया कि इस हमले के पीछे तृणमूल का हाथ है.


उन्होंने कहा कि उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को घटना की जानकारी दे दी है. तृणमूल कांग्रेस के आसनसोल दक्षिण के विधायक तापस बनर्जी ने आरोपों को खारिज किया. उन्होंने आरोप लगाया कि मुखर्जी जबरन वसूली, तस्करी और हत्या के मामलों में आरोपी हैं और इस घटना का कारण उनकी कोई पुरानी दुश्मनी हो सकती है. हीरापुर पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि मुखर्जी से एक शिकायत मिली है और इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी जा रही है. एक अन्य घटना में बरेल इलाके में साबेक अली पर बंदूकधारियों ने गोली चलायी जो उनके हाथ में लगी. वह पार्टी का कोई काम करने के बाद घर लौट रहे थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस ने बताया कि अली को माल्दा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतला में भर्ती कराया गया है. यह हमला तब हुआ जब अली के चालक ने बीच सड़क पर खडे़ ट्रक के पीछे कार रोकी और उसी बीच ट्रक की एक तरफ से तीन लेाग निकले और गोलियां चलाने लगे. पुलिस सूत्रों के अनुसार चालक ने कार को वहां से निकाला और अली को अस्पताल ले गया. पुलिस में दर्ज करायी गयी शिकायत में स्थानीय तृणमूल पंचायत प्रधान के पति और और बेटी पर हमले में हाथ होने का आरोप लगाया गया है. प्रदेश भाजपा महासचिव सायंतन बसु ने अस्पताल में अली से मिलने के बाद इसे सुनियोजित हमला बताया. माल्दा के तृणमूल जिलाध्यक्ष ने इसे भाजपा की अंतर्कलह का परिणाम बताया. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)