अंत तक झांसी की रानी की तरह लड़ी महिला हॉकी टीम, हरियाणा की बेटियों मिलेंगे 50-50 लाख रुपये

पीएम मोदी ने भी भारतीय महिला हॉकी टीम का हौंसला बढ़ाया. उन्होंने कहा कि हम अपनी महिला हॉकी टीम के शानदार प्रदर्शन को हमेशा याद रखेंगे. उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया. भारत को इस शानदार टीम पर गर्व है.

अंत तक झांसी की रानी की तरह लड़ी महिला हॉकी टीम, हरियाणा की बेटियों मिलेंगे 50-50 लाख रुपये

भारतीय महिला हॉकी टीम कांस्य पदक से चूकी

नई दिल्ली:

टोक्यो ओलिंपिक महाकुंभ में आ खेले गए कांस्य पदक के मुकाबले में भारतीय महिला टीम पदक से चूक गयी, लेकिन भारत की इन बेटियों ने सबका दिल जीत लिया. हरियाणा सरकार ने भारतीय महिला हॉकी टीम में शामिल हरियाणा की नौ बेटियों को 50 - 50 लाख रुपए के नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि भारतीय महिला हॉकी टीम  झांसी की रानी की तरह अंत तक साहस से लड़ीं. 


पीएम मोदी ने भी भारतीय महिला हॉकी टीम का हौंसला बढ़ाया. उन्होंने कहा कि हम अपनी महिला हॉकी टीम के शानदार प्रदर्शन को हमेशा याद रखेंगे. उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया. भारत को इस शानदार टीम पर गर्व है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि  ब्रिटेन ने भारतीय बालाओं को 4-3 से हराकर कांस्य पदक पर कब्जा कर लिया. मुकाबला हारते ही भारतीय खिलाड़ी फूट-फूटकर रोने लगीं. भारतीय महिलाओं ने एक समय बहुत ही शानदार खेल दिखाया और 0-2 से पिछड़ने के बाद उसने 3-2 से बढ़त हासिल कर ली थी, लेकिन आखिरी क्वार्टर में ब्रिटेन को एक के बाद एक मिले लगातार तीन पेनल्टी कॉर्नरों में गोल बदलते हुए मैच बराबर किया और फिर एक और गोल करके भारत को बैकफुट पर ला दिया. यहां से भारत को बराबरी करने के मौके मिले, लेकिन भारत मिले पेनल्टी कॉर्नरों को गोल में नहीं बदल सका. वहीं निर्णायक पलों में भारत का डिफेंस भी छितरा दिखायी पड़ा, तो कई मौकों पर खिलाड़ियों ने मिडफील्ड में गेंद छिनवा दी. यह बात बहुत नुकसानदेह साबित हुई  और  ब्रिटेन ने यह मुकाबला 4-3 से अपने नाम करते हुए भारत को ऐतिहासिक कांस्य पदक से वंचित कर दिया.