ठाणे में महिला अधिकारी की उंगलियां काट डाली, अतिक्रमण हटाने के दौरान अवैध फेरीवाले ने किया हमला

अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान सब्जी विक्रेता के हमले में महिला अधिकारी की दो उंगलियां कट गईं. उनके बॉडीगार्ड की एक उंगली कटी है.

मुंबई:

महाराष्ट्र के ठाणे शहर (Thane Municipal Corporation) में बेहद चौंका देने वाली घटना सामने आई है, जहां अतिक्रमण हटाने (anti encroachment campaign) के लिए दस्ते के साथ रवाना हुई महिला अधिकारी पर अवैध फेरीवालों ने हमला बोल दिया.ठाणे के कासर वाड़ी में यह भयानक घटना सामने आई है, जिसमें ठाणे म्यूनिसिपल कारपोरेशन की अधिकारी को भी अतिक्रमणकारियों ने नहीं बख्शा. खबरों के मुताबिक, महिला अधिकारी कल्पिता पिंपले और अवैध फेरीवालों के बीच यहां जमकर बहस हो गई. इसी दौरान एक सब्जी वाले ने पिंपले और अन्य महानगरपालिका कर्मियों पर हमला कर दिया. सब्जी विक्रेता के हमले में महिला अधिकारी की दो उंगलियां कट (Women Police officer fingers Chopped off) गईं. महिला अधिकारी की 2 उंगलियां कटी हैं और उनके बॉडीगार्ड की एक उंगली कटी है.

मुंबई में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की टीम पर जानलेवा हमला, 5 अधिकारी घायल

महिला अधिकारी को खून बहता देख अवैध फेरीवाले वहां से फरार हो गए. महिला अधिकारी को आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया. पिंपले ठाणे म्यूनिसिपल कारपोरेशन में अतिरिक्त महानगर पालिका अधिकारी हैं. आरोपी फेरीवाले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अस्पताल के अधिकारियों के अनुसार, महिला की तबियत स्थिर है. पिंपले को ठाणे के जुपिटर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डॉक्टरों का कहना है कि अस्पताल में उंगलियां जोड़ने के लिए ऑपरेशन किया जाएगा.


आरोपी सब्जी वाले का नाम अमरजीत यादव है. पुलिस उसके पुराने आपराधिक इतिहास का पता कर रही है.पीड़ित महिला ठाणे म्युनिसिपल कारपोरेशन में अधिकारी है. इलाके के डीसीपी विनय राठौड़ ने घटना के बारे में बताया कि महिला अधिकारी कल्पिता पिंपले अतिक्रमण विरोधी अभियान के तहत एक दस्ते के साथ कासर वडवली इलाके में अवैध कब्जे हटाने गई थीं. इसी दौरान आरोपी सब्जी विक्रेता अमरजीत ने उन पर हमला किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 333 औऱ 353 के तहत कार्रवाई की गई है. उससे घटना को लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश भी कर रही है कि कहीं इस आरोपी का कोई पुराना आपराधिक इतिहास तो नहीं है. मगर सरेआम इस घटना से इलाके में हड़कंप है. महानगर पालिका के कर्मियों का कहना है कि अतिक्रमण हटान के दौरान उन्हें ऐसे हमले का सामना करना पड़ेगा तो असुरक्षा का माहौल पैदा होगा. उन्होंने ऐसे अतिक्रमण विरोधी अभियान के लिए पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की मांग की गई है.