सागर हत्याकांड में पहलवान सुशील कुमार का एक और साथी गिरफ्तार, बयां की मर्डर की पूरी कहानी

गिरफ्तार आरोपी ने खुलासा किया है कि उसने सुशील पहलवान और उसके 18-20 साथियों के साथ लाठियों, हॉकी स्टिक और डंडों से लैस होकर छतरसाल स्टेडियम में 4-5 मई 2021 की रात अपने विरोधियों को बुरी तरह पीटा था.

सागर हत्याकांड में पहलवान सुशील कुमार का एक और साथी गिरफ्तार, बयां की मर्डर की पूरी कहानी

सागर हत्याकांड में पहलवान सुशील कुमार का एक और साथी गिरफ्तार

नई दिल्ली:

दिल्ली (DELHI)  में बीते साल छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनकड़ हत्याकांड में फरार चल रहे एक और आरोपी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार कर लिया है. इस हत्याकांड में अब तक 18 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. बीते साल मई के महीने में सागर पहलवान की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी. हत्या का आरोप ओलंपिक पदक विजेता सुशील पहलवान और उसके साथियों पर है. 

स्पेशल सेल के डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक स्पेशल सेल की एक टीम को ओलंपिक पदक विजेता सुशील पहलवान के सहयोगी परवीन डबास के अपने गांव मदनपुर डबास के पास होने की जानकारी करीब एक महीने से मिल रही थी. 3-4 जनवरी की रात दिल्ली में गांव सुल्तानपुर डबास के पास प्रेम पियाओ रोड के पास एक टीम बनाकर जाल बिछाया गया। परवीन डबास को रात में  सड़क पर आते देखा गया। उसे घेरकर ने पकड़ लिया.  

गिरफ्तार आरोपी परवीन डबास ने खुलासा किया है कि उसने सुशील पहलवान और उसके 18-20 साथियों के साथ लाठियों, हॉकी स्टिक और डंडों से लैस होकर छतरसाल स्टेडियम में 4-5 मई 2021 की रात अपने विरोधियों को बुरी तरह पीटा था. हमले के दौरान सागर धनखड़, सोनू महल, अमित और उनके दूसरे साथी घायल हो गए थे. ये सब सागर धनकड़ को सबक सिखाने के लिए किया गया था. क्योंकि उभरते हुए पहलवान सागर धनकड़ से सुशील पहलवान का वर्चस्व को लेकर विवाद चल रहा था. सागर धनकड़ ने अगले दिन अस्पताल में दम तोड़ दिया. सुशील पहलवान अंतरराष्ट्रीय स्तर के एक बड़े पहलवान हैं. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुश्ती में 10 से अधिक पदक जीते हैं, जिनमें विश्व चैम्पियनशिप, ओलंपिक, राष्ट्रमंडल, एशियाई खेल में मिले पदक सहित अन्य हैं. 

यूपी : चुनाव प्रचार करके लौट रहे सपा नेता की गला रेतकर हत्या, पुलिस ने सुराग देने वाले को इनाम की घोषणा की

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मृतक सागर धनखड़ भी एक अच्छे पहलवान थे और सुशील पहलवान द्वारा उन्हें कुश्ती में प्रतिद्वंद्वी के रूप में देखा जाता था. सागर धनखड़ कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी का भतीजा था. सागर धनखड़ की हत्या से काला जठेड़ी बहुत नाराज था. वहीं सुशील कुमार ने अपना वर्चस्व दिखाने के लिए गैंगस्टर नीरज बवाना गिरोह का समर्थन लिया था. इस हत्या के तुरंत बाद  इन दोनों गिरोहों के बीच गैंगवार शुरू होने की प्रबल आशंका थी, लेकिन दिल्ली पुलिस ने इस मामले में शामिल हमलावरों की एक के बाद एक गिरफ्तारी  करके इसे टाल दिया. इस मामले में अब तक कुल 18 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.  सुशील पहलवान सहित पहले से ही गिरफ्तार लोगों के खिलाफ कोर्ट में पहले ही चार्जशीट दाखिल हो चुकी है.