कोर समूह की समीक्षा बैठक में अधिकारियों ने कहा, जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा हालात में सुधार

अधिकारियों ने कहा कि पाकिस्तान के साथ संघर्षविराम के चलते सीमा पर सुरक्षा हालात में सुधार हुआ, नियंत्रण रेखा के पास सतर्कता बरतने की जरूरत

कोर समूह की समीक्षा बैठक में अधिकारियों ने कहा, जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा हालात में सुधार

प्रतीकात्मक फोटो.

श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर में सभी सुरक्षा मानकों में इस साल सुधार हुआ है. हालांकि, पिछले दो महीने के दौरान सीमा पार से आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ संबंधी गतिविधियों के संकेत के मद्देनजर नियंत्रण रेखा (LoC) के पास सतर्कता बरतने की जरूरत है. केंद्र शासित प्रदेश के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने मंगलवार को श्रीनगर में यह जानकारी दी.


जम्मू एवं कश्मीर में सुरक्षा को लेकर बने कोर समूह की समीक्षा बैठक बदामी बाग छावनी में हुई, जहां शीर्ष अधिकारियों ने जानकारी साझा की. इस समूह में प्रशासन, खुफिया एजेंसियों और सुरक्षा बलों के शीर्ष अधिकारी शामिल हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बैठक की सह-अध्यक्षता सेना की चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डी पी पांडे और जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने की. बैठक के दौरान अधिकारियों ने कहा कि पाकिस्तान के साथ संघर्षविराम के चलते सीमा पर सुरक्षा हालात में सुधार हुआ है. हालांकि, सीमा पार से आतंकवादी गतिविधियों के संकेतों को ध्यान में रखते हुए एलओसी के आसपास सतर्कता बरतने की आवश्यकता है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)