बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को UP को सौंपने से पंजाब का इंकार, SC में दी यह दलील

जेल सुपरिंटेंडेंट की ओर से दाखिल एफिडेविट के मुताबिक, मुख्तार अंसारी कथित तौर पर हाई ब्लडप्रेशर, डायबिटीज़, पीठ दर्द और स्किन एलर्जी से पीड़ित है.

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को UP को सौंपने से पंजाब का इंकार, SC में दी यह दलील

पंजाब सरकार ने मुख्तार अंसारी को नहीं सौपने का कारण उसके स्वास्थ्य को बताया है (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के बाहुबली राजनेता, माफिया डॉन और मऊ से विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को लेकर पंजाब और उत्तर प्रदेश की सरकारें आमने-सामने आ गई हैं. पंजाब की अमरिंदर सिंह सरकार (Punjab Government) ने मौजूदा समय में रूपनगर जेल में बंद मुख्तार अंसारी को फिलहाल उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपने से इंकार कर दिया है. पंजाब की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में हलफनामा दाखिल कर इसका कारण अंसारी के स्वास्थ्य को बताया है. अब सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई 8 फरवरी को करेगी.

जेल सुपरिंटेंडेंट की ओर से दाखिल एफिडेविट के मुताबिक, मुख्तार अंसारी कथित तौर पर हाई ब्लडप्रेशर, डायबिटीज़, पीठ दर्द और स्किन एलर्जी से पीड़ित है. पंजाब सरकार के अनुसार, वह डॉक्टरों के परामर्श के अनुरूप काम कर रही है, और पंजाब ने उत्तर प्रदेश सरकार की अर्ज़ी को खारिज किए जाने की मांग की है.

पंजाब सरकार का कहना है कि ऐसी कोई सोची-समझी साज़िश नहीं है, ताकि मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश से दूर रखा जाए. एफिडेविट के अनुसार, उत्तर प्रदेश सरकार अपने मौलिक अधिकारों के हनन का दावा नहीं कर सकती है, और उनकी अर्ज़ी विचारणीय नहीं है.


इससे पहले, सर्वोच्च न्यायालय ने मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश सरकार को सौंपे जाने की अर्जी पर जवाब दाखिल करने के लिए पंजाब सरकार को दो हफ्ते का वक्त दिया था. उत्तर प्रदेश का तर्क था कि मुख्तार अंसारी के खिलाफ उत्तर प्रदेश में गंभीर आरोप लंबित हैं, जबकि वह 'मामूली मामले' में दो साल तक पंजाब में रहे हैं.

वीडियो: बाहुबली मुख्तार अंसारी के होटल पर चला बुलडोजर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com