इंडिया गेट पर किसान बिल के प्रदर्शन पर बोले CM अमरिंदर सिंह : ट्रैक्टर जलाना किसानों का गुस्सा दिखा रहा है

Farmers Protest: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने तीन नए किसान कानूनों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के तहत सोमवार को धरना दिया. इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए पूछा कि 'MSP को विधेयकों में शामिल क्यों नहीं किया गया है?'

इंडिया गेट पर किसान बिल के प्रदर्शन पर बोले CM अमरिंदर सिंह : ट्रैक्टर जलाना किसानों का गुस्सा दिखा रहा है

Farm Bills Protest: किसान कानूनों के विरोध में अमरिंदर सिंह ने दिया धरना.

खास बातें

  • किसान कानूनों के खिलाफ अमरिंदर का धरना
  • इंडिया गेट पर ट्रैक्टर जलाने की घटना का किया बचाव
  • बोले- किसानों का गुस्सा दिख रहा है
चंडीगढ़:

Farmers Protest: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Punjab CM Capt. Amarinder Singh) ने तीन नए किसान कानूनों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन के तहत सोमवार को धरना दिया. इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए पूछा कि 'MSP को विधेयकों में शामिल क्यों नहीं किया गया है?' NDTV से बातचीत के दौरान कैप्टन ने कहा कि 'दिल्ली में आज सुबह ट्रैक्टर जलाया जाना लोगों को गुस्सा दिखाता है. यह दिखा रहा है कि लोग कैसा महसूस कर रहे हैं...उनका गुस्सा दिख रहा है. किसानों को नहीं पता है कि अब उनकी उपज कौन खरीदने जा रहा है.'

अमरिंदर सिंह ने सोमवार को शहीद भगत सिंह के पैतृक गांव में अपने धरना-प्रदर्शन के दौरान इस घटना पर प्रदर्शनकारियों का बचाव करते हुए कहा कि 'अगर मेरा ट्रैक्टर है और मैं इसे जलाना चाहता दूं....तो दूसरों को क्या दिक्कत हो रही है?'

बता दें कि संसद में पास हुए किसान बिलों के खिलाफ पंजाब के किसान जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं. अमरिंदर सिहं ने भी सोमवार को इसके खिलाफ धरना दिया और केंद्र के खिलाफ इस प्रदर्शन में शामिल होने वाले पहले मुख्यमंत्री बन गए हैं.

यह भी पढ़ें: अकाली दल के NDA छोड़ने पर बोले कैप्टन अमरिंदर सिंह, 'यह सिर्फ उनकी राजनीतिक मजबूरी थी'

पंजाब के सीएम ने पत्रकारों से कहा, 'ISI (पाकिस्तान की इंटेलीजेंस एजेंसी) यहां हमेशा भर्तियों के लिए साजिश रचती रहती है. मेरी सरकार तीन साल से सत्ता में है, इस दौरान लगभग 150 आतंकवादी गिरफ्तार किए गए हैं और 700 हथियार जब्त किए गए हैं. पंजाब कुछ वक्त से शांत पड़ा था लेकिन अब वो (केंद्र) ने यह कर दिया (कृषि विधेयक पास कर दिया). अगर आप लोगों से उनका खाना छीन लेंगे, तो क्या वो गुस्सा नहीं होंगे? वो ISI के टारगेट बन जाएंगे.'

उन्होंने कहा कि 'केंद्र सरकार ने जो किया है, वो राष्ट्र-विरोधी है.' रविवार को उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार देखेगी कि क्या राज्य में इन विवादित कानूनों से किसानों को बचाने के लिए राज्य के कानूनों में कुछ बदलाव किए जा सकते हैं या नहीं. उन्होंने एक बयान जारी कर कहा था कि 'हम पहले ही कृषि और कानूनी विशेषज्ञों से और केंद्र सरकार के इस कानून से प्रभावित हुए लोगों से इसपर सलाह ले रहे हैं, ताकि आगे के कदमों पर फैसला लिया जा सके.'


Video:कृषि कानून के खिलाफ धरने पर बैठे कैप्टन अमरिंदर, कई जगहों पर हो रहे हैं प्रदर्शन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com