भगवंत मान का आरोप, सुखबीर बादल चाहते तो किसान विरोधी बिल नहीं आता; सीएम चन्नी पर भी बोला हमला

भगवंत सिंह मान (Bhagwant Singh Mann) ने गुरुवार को आरोप लगाया कि अकाली दल शुरू से ही तीन कृषि बिलों का समर्थन कर रहा था और बाद में जब देखा कि इसका नुकसान होगा तो हरसिमरत कौर बादल के इस्तीफे का नाटक किया.

भगवंत मान का आरोप, सुखबीर बादल चाहते तो किसान विरोधी बिल नहीं आता; सीएम चन्नी पर भी बोला हमला

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्‍ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब के दौरे पर हैं.

जालंधर:

पंजाब विधानसभा चुनाव की घोषणा अभी भले ही ना हुई हो, आम आदमी पार्टी (AAP) ने कुछ सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है. पार्टी ने पंजाब में चुनाव प्रचार अभी से शुरू भी कर दिया है. दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्‍ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब के लाम्‍बी में जनसभा करने जा रहे हैं. पंजाब का लाम्‍बी बेहद अहम चुनाव क्षेत्र है और इसे शिरोमणि अकाली दल का गढ़ माना जाता है. पंजाब आप के अध्यक्ष भगवंत सिंह मान (Bhagwant Singh Mann) गुरुवार को आरोप लगाया कि अकाली दल शुरू से ही तीन कृषि बिलों का समर्थन कर रहा था और बाद में जब देखा कि इसका नुकसान होगा तो हरसिमरत कौर बादल के इस्तीफा का नाटक किया.

मान ने लम्बी (Lambi) में पार्टी प्रत्याशी गुरमीत खुड़िया के पक्ष में जनसभा में कहा कि उस समय केंद्र सरकार में मंत्री हरसिमरत बादल अगर शुरू में ही बिलों का विरोध कर देतीं तो सरकार किसान विरोधी यह बिल संसद में लाती ही नहीं.  मान ने इस मौके पर कहा, ''सुखबीर बादल (Sukhbir Badal) को तो पता ही नहीं होता कि वो क्या बोलते हैं. सुखबीर बादल पहले शुरू में ये बिल की तारीफ करते रहे. बड़े बादल साहब से भी वीडियो जारी करवा दिया. बाद में संसद में कहने लगे बहुत खराब बिल हैं. मैंने तो यह बिल पढ़े ही नहीं थे.'
 

भगवंत मान का दावा : बीजेपी नेताओं ने पार्टी में शामिल होने के लिए पैसा और मंत्री पद का दिया ऑफर

आप नेता ने कहा कि जब वे सातवीं आठवीं में पढ़ते थे तब टीवी पर देखा था कि एक सियासतदान कंधे पर झूला रखे घूमता था. बाद में पता चला वह दरवेश सियासत दान था. वो थे जत्थेदार जगदेव सिंह खुड़िया. अब यहां से उनके बेटे गुरमीत खुड़िया को हमारी पार्टी ने उम्मीदवार बनाया गया है.

मान ने अपने सम्बोधन में कहा, ''जब लोग खुद आगे हो कर लड़ने लग जाएं तो नहीं  देखते की सामने कौन है. मेरे सामने भी जो लोग लड़े वो एक राज्यसभा के तो एक  लोकसभा के सदस्य थे. लेकिन मैं 2 लाख वोटों से जीता जनता के आशीर्वाद से. ऐसे थे जगदेव खुड़िया जिनका जनाधार था. उन्होंने कहा कि ''2019 में केवल ढिल्लों आया जिसने कहा, कि मैं बारिश कर दूंगा. मैंने कहा, कर दो. आपके पास तो बादल हैं. उन्होंने कहा, मेरे पास विदेशी घड़ियां हैं. मैंने कहा, टाइम आपका खराब है. जब पार्टियों को लगा कि मैं आ गया तो उनको डर पैदा हो गया क्योंकि पहले तो दोनों ही मिलकर खेलते थे. वो एक दूसरे से कहते थे - तू मुझे कुछ नहीं कहेगा, मैं तुझे नहीं कहूंगा.''

ओलिंपिक में भारत की जीत पर भगवंत मान ने पीएम मोदी से की कृषि कानून को लेकर अपील, जानें क्या बोले..

मान ने कहा - ''आप लोगों की बद्दुआ ले रहे हो. आज उनकी रैलियां खाली हैं क्योंकि कोई आप पर विश्वास नहीं करता, इनको ये नहीं पता था कि आम आदमी भी घर से उठ कर खड़ा हो जाएगा.''

मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी को लेकर मान ने कहा - ''चन्नी साहब कुछ भी कह देते हैं, जगह-जगह बोर्ड लगे हैं कि 36 हज़ार कर्मचारी पक्के कर दिए. अभी हमें कुछ लोग मिले जिन्होंने कहा कि 36 लोग ही गिना दीजिये. ये 80 दिन का रिपोर्ट कार्ड दिखाते हैं. कैप्टन साहब के पौने 5 साल का हिसाब कौन देगा.''

मान ने सीएम चन्नी और अकाली नेता सुखबीर बादल पर हमला करते हुए कहा, ''चन्नी और सुखबीर की एक बात मिलती है, इनके पास बातें ही हैं करने को कुछ नहीं.'' मान ने लोगों को आगाह करते हुए कहा, ''इनकी बातो में मत आना. एक बार इनके पंजे और तराजू से बाहर आ गए तो आपको अगली बार सोचने की भी ज़रूरत नहीं  पड़ेगी.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केजरीवाल ने जालंधर में निकाली तिरंगा यात्रा, लोगों से किया ये वादा