इत्र कारोबारी के बहाने पीएम मोदी और अखिलेश यादव के बीच चले सियासी तीर

पीएम मोदी ने कहा, यूपी में पिछली सरकारों ने सोचा था कि उन्हें पांच साल तक राज्य को लूटने की लाटरी मिल गई है. यूपी में जनसभा करने वाले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सीधे तौर पर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर हमला बोला.

नई दिल्ली:

यूपी विधानसभा चुनाव के पहले कानपुर में इत्र कारोबारी के घर छापेमारी में 200 करोड़ रुपये की बरामदगी बड़ा सियासी मुद्दा बनती जा रही है. इस बहाने बीजेपी और सपा के बीच जुबानी जंग दिनोंदिन तीखी होती जा रही है. मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और अखिलेश यादव 30 किलोमीटर की दूरी पर थे और इत्र कारोबारी को लेकर दोनों ने एक-दूसरे पर निशाना साधा. कानपुर में मेट्रो परियोजना (metro rail project) के पहले चरण का उद्घाटन करने पहुंचे पीएम मोदी ने इत्र कारोबारी पीयूष जैन (perfume businessman Piyush Jain) को समाजवादी पार्टी से जोड़ा. साथ ही सभी योजनाओं का क्रेडिट लेने को लेकर अखिलेश यादव पर तंज भी कसा.

पीएम मोदी ने कहा, "नोटों से भरे बक्से बाहर आए हैं. मैं सोच रहा था कि वो (सपा) कहेंगे कि ये तो हमने किया था. लेकिन कानपुर के लोग बिजनेस को भलीभांति समझते हैं. वर्ष 2017 के पहले भ्रष्टाचार का इत्र यूपी में हर जगह फैला था. लेकिन अब उनका मुंह बंद हो चुका है. अब वो इस बेहिसाब दौलत का क्रेडिट लेने आगे नहीं आ रहे हैं. ये ही उनकी उपलब्धि और हकीकत है. यूपी के लोग ये सब माजरा देख और समझ रहे हैं. यूपी की जनता उनके साथ है, जो देश को आगे ले जाना चाहते हैं. "

पीएम मोदी ने कहा, यूपी में पिछली सरकारों ने सोचा था कि उन्हें पांच साल तक राज्य को लूटने की लाटरी मिल गई है, लेकिन बीजेपी सरकार ईमानदारी और जवाबदेही से काम कर रही है. हालांकि यूपी में जनसभा करने वाले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सीधे तौर पर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर हमला बोला. शाह ने कहा, हाल ही में समाजवादी पार्टी का एक परफ्यूम बिजनेसमैन  (Piyush Jain) पकड़ा गया है. अखिलेश जी पूछ रहे हैं कि ये छापेमारी क्यों की. 250 करोड़ रुपये जब्त किए गए हैं, अखिलेश जी, ये पैसा कहां से आया.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)  ने कानपुर के इत्र व्यापारी का उनकी पार्टी से किसी तरह के संबंध से इनकार किया. उन्होंने मजाक में कहा कि बीजेपी ने गलती से अपने ही कारोबारी पर छापा मारा. समाजवादी रथ यात्रा शुरू होने से पहले अखिलेश यादव ने कहा कि व्यापारी के सीडीआर (कॉल डिटेल रिकॉर्ड) से कई भाजपा नेताओं के नाम सामने आएंगे जो उनके संपर्क में थे. गलती से बीजेपी ने अपने ही कारोबारी पर छापा मारा. उन्होंने दावा किया कि समाजवादी इत्र (इत्र) सपा एमएलसी पुष्पराज जैन द्वारा लांच गया था न कि पीयूष जैन ने लांच किया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा, बीजेपीने डिजिटल भूल से अपने ही व्यवसायी (पीयूष जैन) के यहां छापा मार दिया.गौरतलब है कि इनकम टैक्स और जीएसटी और सीमा शुल्क बोर्ड की छापेमारी में कानपुर में इत्र व्यापारी के घर से लगभग 257 करोड़ नकद, 25 किलो सोना और 250 किलो चांदी बरामद की गई है. पीयूष जैन को सोमवार को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया.