कोरोना काल में डिजिटल संवाद बना नया जरिया, स्टार्टअप इंडिया सम्मेलन से जुड़ें देश के युवा: PM

पीएम ने कहा कि ऐसा ही एक मौका ‘प्रारंभ’ के रूप में 15-16 जनवरी को आ रहा है. मैं देश के युवाओं से इससे जुड़ने का आग्रह करता हूं.

कोरोना काल में डिजिटल संवाद बना नया जरिया, स्टार्टअप इंडिया सम्मेलन से जुड़ें देश के युवा: PM

पीएम ने देश के युवाओं से स्‍टार्ट अप इंडिया सम्‍मेलन से जुड़ने आह्वान किया (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आगामी 15-16 जनवरी को होने वाले स्टार्टअप इंडिया अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन (Startup India international summit) ‘‘प्रारंभ'' से जुड़ने के लिए देशभर के युवाओं का आह्वान किया और कहा कि इस कार्यक्रम में उद्योग, निवेश, बैंकिग और वित्त जगत के श्रेष्ठ लोगों के अलावा स्टार्टअप से जुड़े युवा उद्यमी भी शामिल होंगे. प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को एक लिंक्डेन पोस्ट भी साझा किया जिसमें उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि कैसे कोविड-19 महामारी के संक्रमण काल में डिजिटल संवाद एक नया आयाम बनकर उभरा है.

बारी आने पर ही कोरोना वैक्‍सीन लगवाएं राजनेता, आगे निकलने की कोशिश न करें : PM मोदी

पीएम ने कहा कि इसका सबसे बड़ा लाभ है कि लोग घरों में बैठे हुए भी कार्यक्रमों का हिस्सा बन सकते हैं. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘अधिकांश कार्यक्रम इन दिनों डिजिटल माध्यम से हो रहे हैं जिससे युवाओं को विदेशी और घरेलू कार्यक्रमों में जुड़ने का मौका मिल रहा है. ऐसा ही एक मौका ‘प्रारंभ' के रूप में 15-16 जनवरी को आ रहा है. मैं देश के युवाओं से इससे जुड़ने का आग्रह करता हूं.'' उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में लोगों ने अधिकांश समय घरों में बिताया और इसके चलते उन्हें अपने काम करने के तरीके में भी बदलाव लाना पड़ा. लोगों को घरों से काम करना पड़ रहा है, लिहाजा प्रौद्योगिकी को आदतों में शुमार करना ही बेहतर है. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे अधिकांश कार्यक्रम डिजिटल माध्यम से करने पड़े जो बहुत उपयोगी साबित हुए. इन कार्यक्रमों के जरिए वैज्ञानिकों, चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े पेशेवरों, कोरोना योद्धाओं, शिक्षाविदों, उद्योग जगत के नेताओं, युवा अन्वेषकों और आध्यात्मिक नेताओं से संवाद हुआ.''

PM ने वेस्‍टर्न डेडिकेटेड फ्रंट कॉरिडोर के न्‍यू रेवाड़ी-मदार सेक्‍शन को राष्‍ट्र को किया समर्पित

प्रधानमंत्री ने कहा कि डिजिटल माध्यम का उपयोग करके उन्होंने विश्व के नेताओं के साथ द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकें भी की. उन्होंने कहा कि इसी माध्यम से उन्होंने ‘‘मील का पत्थर'' साबित होने वाली विकास की कई योजनाओं का उद्घाटन ओर शिलान्यास भी किया. उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक कि सरकारी योजनाओं के लाखों लाभार्थियों से भी मैंने संवाद किया.'' सम्मेलन का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि यह आयोजन भारत में स्टार्टअप इंडिया की शुरुआत के पांच साल होने का गवाह भी बनेगा. उन्होंने कहा, ‘‘इस शुरुआत से भारत में विश्व का सबसे आकर्षक स्टार्टअप ‘इको सिस्टम' भी तैयार हुआ है.'' उन्होंने कहा, ‘‘भारत के युवाओं के जज्बे को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. नवाचार के प्रति उनकी लगन ने उत्कृष्ट परिणाम दिए हैं. यह अच्छा संकेत है कि हमारे स्टार्टअप से जुड़े युवा न सिर्फ बड़े बल्कि छोटे-छोटे शहरों से सामने आ रहे हैं.''


हेल्‍थलाइन-फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण का पूरा खर्च केंद्र उठाएगा : PM मोदी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)